BREAKING
भाजपा की केंद्र सरकार ने दिल्ली में 53 मंदिरों को तोड़ने की मांगी अनुमति, दिल्ली विधानसभा में निंदा प्रस्ताव पास राजेंद्र नगर विधानसभा उपचुनाव में 'आप' के दुर्गेश पाठक की भारी वोटों से जीत, पार्टी मुख्यालय पर जश्न का माहौल पीडब्ल्यूडी मंत्री मनीष सिसोदिया ने आईटीओ से तिलक ब्रिज तक की सड़क का किया औचक निरीक्षण, सड़क के रखरखाव में खामी पाने पर संबंधित अधिकारी को लगाई फटकार केजरीवाल जितना वादा करते है उससे दोगुना काम करके दिखाते है, वही दूसरी पार्टी के वादे साबित होते है जुमला- मनीष सिसोदिया आप शपथग्रहण में आप पदाधिकारियों ने ली शपथ,कहा,"मैं शपथ लेता हूं हिमाचल को सर्वश्रेष्ठ बनाने के लिए अपने खून का एक एक कतरा लगा दूंगा" :आप ‘आप’ के दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने इंद्रपुरी के दसघरा गांव स्थित साईं चौक पर की जनसभा मैं आपके बच्चों को अच्छी शिक्षा दूंगा,रोजगार दूंगा:अरविंद केजरीवाल ट्री ट्रांसप्लांटेशन पॉलिसी लागू करने वाला दिल्ली, देश का पहला और अकेला राज्य समाज कल्याण विभाग के खाली पदों को भरेगी केजरीवाल सरकार दुर्गेश पाठक को मिला राजेंद्र नगर वासियों का अपार समर्थन, 'जिसकी सरकार उसका विधायक' के लगाए नारे

बिहार के खेती बाजार पर PAU की सनसनीखेज रिपोर्ट के बारे में स्पष्टीकरण दें कैप्टन व बादल: भगवंत मान

Updated on Sunday, August 02, 2020 23:08 PM IST
बिहार के खेती बाजार पर PAU की सनसनीखेज रिपोर्ट के बारे में स्पष्टीकरण दें कैप्टन व बादल: भगवंत मान

चंडीगढ़: आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद भगवंत मान ने केंद्र के कृषि अध्यादेशों के मद्देनजर पंजाब मंडी बोर्ड की ओर से पीएयू(पंजाब कृषि यूनिवर्सिटी लुधियाना) के द्वारा बिहार के खेती बाजार सुधार(मार्किटिंग रिफार्मज) के करवाए अध्ययन की सनसनीखेज रिपोर्ट पर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह समेत भाजपा के हिस्सेदार सांसद सुखबीर सिंह बादल और केंद्रीय फूड प्रोसेसिंग मंत्री बीबी हरसिमरत कौर बादल से स्पष्टीकरण मांगा है।

(SUBHEAD) शुक्रवार को पार्टी हैडक्वाटर से जारी बयान के द्वारा भगवंत मान ने कहा कि अध्ययन(स्टडी) में सामने आए तथ्य पंजाब की कृषि की बर्बादी वाली तस्वीर साफ दिखाई दे रही हैं। भगवंत मान ने कहा कि केंद्र के कृषि विरोधी अध्यादेशों के लागू होने के उपरांत पंजाब की मंडियों में अनाज किस कद्र बर्बाद होगा व किसान किस तरह ताकतवर कॉर्पोरेट घरानों और निजी व्यापारियों हाथों लूटा जाएगा? ‘बिहार मॉडल’ उसकी मिसाल है। जिसने 2006 एग्रीकल्चर प्रोड्यूसर मार्केट समिति एक्ट(एपीएमसीए) भंग करके बिहार की कृषि मंडियों को निजी सैक्टर के सुपुर्द करने की गलती की थी। हालांकि तत्कालीन सरकार ने तब कृषि सैक्टर में निजी निवेश बडा कर कृषि की काया-कल्प किए जाने के बारे में ठीक उसी तरह सब्जबाग दिखाऐ थे, जैसे कृषि संशोधन के नाम पर मोदी सरकार अपने विनाशकारी अध्यादेशों को लागू करने के लिए दिखा रहे हैं।

भगवंत मान ने कहा कि पीएयू की रिपोर्ट में एनसीएईआर-2019 के हवाले से बताया गया है कि एपीएमसीए भंग होने के उपरांत बिहार की मंडियों में प्राईवेट कंपनियों ने नया निवेश करने की बजाए अपने फायदे के लिए और छूट मांगनी शुरू कर दी। अनाज खरीदने के लिए बदल के तौर पर आगे लेकर आए प्राथमीक सहकारी समतियां भी बुरी तरह फ्लाप साबित हुई, नतीजे के तौर पर बिहार में अनाज खरीद मंडियों की संख्या घटती-घटती 2019-20 में केवल 1619 रह गई जो 4साल पहले 10000 के करीब था।

(SUBHEAD3) भगवंत मान ने कहा कि इस सनसनीखेज रिपोर्ट ने आम आदमी पार्टी समेत अध्यादेशों का विरोध कर रही बाकी राजनैतिक गुटों, किसान-मजदूर जत्थेबंदियां और कृषि आर्थिक माहिरों के उन सभी शंके-संदेहों पर निश्चित रूप से मोहर लगा दी है कि यदि पंजाब सरकार की कमजोरी और बादल परिवार की गद्दारी के कारण पंजाब में मोदी सरकार के घातक कृषि अध्यादेश लागू हो जाते हैं तो पंजाब के किसानों और कृषि पर निर्भर बाकी सभी वर्ग आढतियां, मुनीम, लेबर -पल्लेदारों, छोटे दुकानदारों, खेती मजदूरों और ट्रांसपोर्टरों का बिहार के लोगों की अपेक्षा भी ज़्यादा बुरा हाल होगा, क्योंकि ऐसे घातक प्रबंध में फसलों का कम से कम समर्थन ऐलाने मूल्य(एम.एच.पी) बेमाना हो कर रह जाएगा और कॉर्पोरेट घराने और बड़े व्यापारी गन्ने-मक्का की तरह गेहूं और धान की फसलों के मनमाने कम दाम और लटका-लटका कर भुगतान किया करेंगे।

भगवंत मान ने कहा कि कैप्टन सरकार की तरफ से एपीएमसीए कानून भंग करना बड़ी गलती साबित होगा, हालांकि जिस समय पंजाब विधान सभा में एपीएमसीए भंग किया जा रहा था ‘आप’ विधायकों ने इस का जोरदार विरोध किया था।

तानाशाह मोदी के काले कानूनों के विरुद्ध कारगर हथियार साबित होंगे ग्राम सभाओं के प्रस्ताव - ‘आप’

: तानाशाह मोदी के काले कानूनों के विरुद्ध कारगर हथियार साबित होंगे ग्राम सभाओं के प्रस्ताव - ‘आप’

पंजाब में कृषि को जोंक की तरह चूस रहा है भ्रष्ट सरकारी तंत्र, जिप्सम घोटाले की हो न्यायिक जांच - AAP

: पंजाब में कृषि को जोंक की तरह चूस रहा है भ्रष्ट सरकारी तंत्र, जिप्सम घोटाले की हो न्यायिक जांच - AAP

आम घरों के बच्चों को साजिश के तहत शिक्षा से वंचित रख रही है कैप्टन अमरिन्दर सरकार - भगवंत मान

: आम घरों के बच्चों को साजिश के तहत शिक्षा से वंचित रख रही है कैप्टन अमरिन्दर सरकार - भगवंत मान

डीएसजीएमसी चुनाव की प्रक्रिया शुरू, मंत्री राजेंद्र गौतम ने सभी दलों के साथ की बैठक

: डीएसजीएमसी चुनाव की प्रक्रिया शुरू, मंत्री राजेंद्र गौतम ने सभी दलों के साथ की बैठक

बिना मापदंड के लाखों उपभोक्ताओं के राशन कार्ड काटना गलत, AAP ने सौंपा मांग पत्र - मनजीत सिंह बिलासपुर

: बिना मापदंड के लाखों उपभोक्ताओं के राशन कार्ड काटना गलत, AAP ने सौंपा मांग पत्र - मनजीत सिंह बिलासपुर

अगर सीधी भर्ती ही करनी है, तो क्यों बांधे पीपीएससी व एसएसएस बोर्ड जैसे ‘सफेद हाथी’ - प्रिंसीपल बुद्ध राम

: अगर सीधी भर्ती ही करनी है, तो क्यों बांधे पीपीएससी व एसएसएस बोर्ड जैसे ‘सफेद हाथी’ - प्रिंसीपल बुद्ध राम

मोगा सेक्स स्कैंडल-3 की सीबीआई से जांच करवाएं सीएम कैप्टन अमरिन्दर - हरपाल सिंह चीमा

: मोगा सेक्स स्कैंडल-3 की सीबीआई से जांच करवाएं सीएम कैप्टन अमरिन्दर - हरपाल सिंह चीमा

छोटे किसानों को मनरेगा का लाभ सुनिश्चित करे कैप्टन सरकार - आप

: छोटे किसानों को मनरेगा का लाभ सुनिश्चित करे कैप्टन सरकार - आप

बादलों की तरह अब कैप्टन अमरिन्दर सिंह हैं पंजाब की बर्बादी की असली जड़ - हरपाल सिंह चीमा

: बादलों की तरह अब कैप्टन अमरिन्दर सिंह हैं पंजाब की बर्बादी की असली जड़ - हरपाल सिंह चीमा

निकम्मे CM को हटा नहीं सकते, खुद इस्तीफे देने की हिम्मत दिखाएं कांग्रेसी मंत्री-विधायक: आप

: निकम्मे CM को हटा नहीं सकते, खुद इस्तीफे देने की हिम्मत दिखाएं कांग्रेसी मंत्री-विधायक: आप

X