National पुलिस ने अपराधियों की तरह मुझे पांच घंटे तक सड़क पर घुमाया और जब मैंने जमानत लेने से इन्कार कर दिया, तो मुझे छोड़ दिया- सुशील गुप्ता
हरियाणा। आम आदमी पार्टी ने दिल्ली बाॅर्डर पर स्थित हरियाणा के खोरी गांव को तोड़ने का आदेश दिए जाने का कड़ा विरोध किया है। ‘आप’ के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य सुशील गुप्ता ने कहा कि वह खोरी गांव को तोड़ने के आदेश के खिलाफ पीएम को ज्ञापन देने जा रहे थे, लेकिन दिल्ली और फरीदाबाद पुलिस ने गैरकानूनी तरीके से मुझे और मेरे साथियों को हिरासत में लिया। पुलिस ने अपराधियों की तरह मुझे पांच घंटे तक सड़क पर घुमाया और जब मैंने जमानत लेने इन्कार कर दिया, तो मुझे छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि इस मामले में केंद्र सरकार ने मजबूत पैरवी नहीं की और हरियाणा सरकार ने अनदेखी की, जिसके चलते सुप्रीम कोर्ट ने खोरी गांव को तोड़ने का आदेश दिया है। हरियाणा सरकार ने लोगों का बिना पुनर्वास किए ही गांव को तोड़ने का आदेश दे दिया है। हमारी मांग है कि हरियाणा सरकार सबसे पहले खोरी गांव में रहने वाले लोगों का पुनर्वास करे और हिरासत में लिए गए हमारे सहयोगियों को तत्काल छोड़ा जाए।