Tuesday, September 21, 2021
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
केजरीवाल सरकार छात्रों में विकसित करेगी उद्यमी बनने के गुण, सरकारी स्कूलों में मंगलवार को लॉन्च किया जाएगा बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्रामदिल्ली और गोवा के ऊर्जा मंत्री में बिजली पर बेहतरीन बहस, भाजपा ने स्वीकार किया कि AAP की पॉलिसी सही है‘आप’ ने पर्यावरणविद स्व. सुंदरलाल बहुगुणा पर हुई ओंछी टिप्पणी के विरोध में भाजपा कार्यालय का किया घेराव प्रदर्शन दिल्ली के सिर पर मंडरा रहे जल संकट के लिए हरियाणा की खट्टर सरकार पूरी तरह से जिम्मेदार- राघव चड्ढाभाजपा शासित हरियाणा सरकार ने 24 घंटे में यदि दिल्ली के हक का पूरा पानी नहीं दिया तो भाजपा के दिल्ली अध्यक्ष आदेश गुप्ता के पानी कनेक्शन को काट दिया जाएगा- सौरभ भारद्वाज दिल्ली महिला आयोग बेहतरीन काम कर रहा है, वर्तमान आयोग के एक और कार्यकाल को मंजूरी दी गई है- अरविंद केजरीवालजिम्मेदार और संवेदनशील सरकार होने के नाते हमारा फर्ज है, हम कोरोना से जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों की मदद करें - अरविंद केजरीवालडीएसईयू के 13 कैम्पसों में 15 डिप्लोमा,18 स्नातक और 2 पोस्ट-ग्रेजुएशन कोर्स के लिए किया जा सकेगा आवेदन
National

Anti corruption

August 14, 2021 11:54 PM

*दिल्ली सरकार* 

 

*प्रेस विज्ञप्ति*

-------------------

 

*दिल्ली में भ्रष्टाचार रोकने के लिए चलेगा अभियान, मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने सार्वजनिक विभागों-कार्यालयों में अभियान चलाने का निर्देश दिया* 

 

*- दिल्ली के मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने सतर्कता विभाग और एंटी करप्शन ब्यूरो के शीर्ष अधिकारियों के साथ आज बुधवार को दिल्ली सचिवालय में एक हाईलेवल समीक्षा बैठक की*

 

*- भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान में उन्हीं अधिकारियों को लगाया जाए जिनका ट्रैक रिकॉर्ड बेहतरीन रहा हो और कभी किसी प्रकार के आरोप न लगे हों- विजय कुमार देव*

 

*- सभी विभागीय अधिकारी अपने-अपने कार्यालयों में तुरंत सीसीटीवी कैमरे लगवाएं, जिससे कार्यालयों में आने-जाने वालों पर कड़ी निगाह रखी जा सके- विजय कुमार देव*

 

*- भ्रष्टाचार के मामले में लिप्त पाए जाने वाले अधिकारी-कर्मचारियों को आईपीसी की एंटी करप्शन की विभिन्न धाराओं में आरोपी बनाया जायेगा- विजय कुमार देव*

 

*नई दिल्ली, 11 अगस्त, 2021*

 

दिल्ली के मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने सतर्कता विभाग और एंटी करप्शन ब्यूरो के शीर्ष अधिकारियों के साथ आज बुधवार को दिल्ली सचिवालय में एक हाईलेवल समीक्षा बैठक की। दिल्ली में भ्रष्टाचार रोकने के लिए अभियान चलाया जाएगा। मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने सार्वजनिक विभागों-कार्यालयों में अभियान चलाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान में उन्हीं अधिकारियों को लगाया जाए जिनका ट्रैक रिकॉर्ड बेहतरीन रहा हो और कभी किसी प्रकार के आरोप न लगे हों। सभी विभागीय अधिकारी अपने-अपने कार्यालयों में तुरंत सीसीटीवी कैमरे लगवाएं। जिससे कार्यालयों में आने-जाने वालों पर कड़ी निगाह रखी जा सके। भ्रष्टाचार के मामले में लिप्त पाए जाने वाले अधिकारी-कर्मचारियों को आईपीसी की एंटी करप्शन की विभिन्न धाराओं में आरोपी बनाया जायेगा।

 

दिल्ली के मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने सतर्कता विभाग और एंटी करप्शन ब्यूरो के शीर्ष अधिकारियों के साथ आज बुधवार को दिल्ली सचिवालय में एक हाईलेवल समीक्षा बैठक की। बैठक में राजधानी के सभी सार्वजनिक विभागों और उनसे सम्बद्ध कार्यालयों में भ्रष्टाचार रोकने के लिए कड़े निर्णय लिए गए हैं। मुख्य सचिव ने एंटी करप्शन ब्यूरो के अधिकारियों को पूरी दिल्ली के सार्वजनिक विभागों-कार्यालयों में भ्रष्टाचार रोकने के लिए तत्काल अभियान चलाने का निर्देश दिया है।   

 

मुख्य सचिव ने एंटी करप्शन ब्यूरो के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि भ्रष्टाचार के विरुद्ध इस अभियान में विभाग के उन्हीं अधिकारियों को लगाया जाए जिनका ट्रैक रिकॉर्ड बेहतरीन रहा हो और कभी किसी प्रकार के आरोप न लगे हों। अधिकारियों को सार्वजनिक विभागों के उन अधिकारियों के विरुद्ध तत्काल सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है जो भ्रष्टाचार में लिप्त हों या संबंधित कार्यालयों में दलालों-बिचौलियों को बढ़ावा देते हों। अधिकारियों को बिचौलियों-दलालों की पहचान करने के भी निर्देश दिए गये हैं।  

 

मुख्य सचिव ने सभी विभागीय अधिकारियों को अपने-अपने कार्यालयों में अविलंब सीसीटीवी कैमरे लगवाने के निर्देश दिए हैं। जिससे इन कार्यालयों में हर आने-जाने वालों पर कड़ी निगाह रखी जा सके। किसी भी कार्यालय में किसी संदिग्ध व्यक्ति की बार-बार आवाजाही पर कड़ी नजर रखने के भी निर्देश दिए गये हैं। 

 

मुख्य सचिव ने स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि जो भी अधिकारी किसी प्रकार के भ्रष्टाचार के मामले में लिप्त पाए जाते हैं, उन्हें एंटी करप्शन की आईपीसी की विभिन्न धाराओं में आरोपी बनाया जायेगा। अपराध की प्रकृति और गंभीरता के आधार पर ऐसे अधिकारियों को तत्काल निलंबित करने और सेवा से मुक्त करने की ठोस कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गई है।

Have something to say? Post your comment
More National News