Saturday, September 25, 2021
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
केजरीवाल सरकार छात्रों में विकसित करेगी उद्यमी बनने के गुण, सरकारी स्कूलों में मंगलवार को लॉन्च किया जाएगा बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्रामदिल्ली और गोवा के ऊर्जा मंत्री में बिजली पर बेहतरीन बहस, भाजपा ने स्वीकार किया कि AAP की पॉलिसी सही है‘आप’ ने पर्यावरणविद स्व. सुंदरलाल बहुगुणा पर हुई ओंछी टिप्पणी के विरोध में भाजपा कार्यालय का किया घेराव प्रदर्शन दिल्ली के सिर पर मंडरा रहे जल संकट के लिए हरियाणा की खट्टर सरकार पूरी तरह से जिम्मेदार- राघव चड्ढाभाजपा शासित हरियाणा सरकार ने 24 घंटे में यदि दिल्ली के हक का पूरा पानी नहीं दिया तो भाजपा के दिल्ली अध्यक्ष आदेश गुप्ता के पानी कनेक्शन को काट दिया जाएगा- सौरभ भारद्वाज दिल्ली महिला आयोग बेहतरीन काम कर रहा है, वर्तमान आयोग के एक और कार्यकाल को मंजूरी दी गई है- अरविंद केजरीवालजिम्मेदार और संवेदनशील सरकार होने के नाते हमारा फर्ज है, हम कोरोना से जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों की मदद करें - अरविंद केजरीवालडीएसईयू के 13 कैम्पसों में 15 डिप्लोमा,18 स्नातक और 2 पोस्ट-ग्रेजुएशन कोर्स के लिए किया जा सकेगा आवेदन
National

यह दुख और आश्चर्य की बात है कि आज से शुरू हो रहे वैश्विक अभियान के बावजूद दिल्ली को वैक्सीन की एक भी अतिरिक्त डोज नहीं मिली- आतिशी

रविंद्र कुमार | June 23, 2021 02:06 AM

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता आतिशी ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से शुरू किया गया वैश्विक वैक्सीनेशन अभियान एक मजाक है। पर्याप्त वैक्सीन के बिना वैश्विक अभियान कैसे शुरू कर सकते हैं? यह दुख और आश्चर्य की बात है कि आज से शुरू हो रहे वैश्विक अभियान के बावजूद दिल्ली को वैक्सीन की एक भी अतिरिक्त डोज नहीं मिली।

केंद्र सरकार द्वारा टीकाकरण अभियान का कुप्रबंधन और गलत योजना बनायी गई। हमें नई नीतियां मिलती रहती हैं लेकिन वैक्सीन नहीं मिलती है, जिसकी वजह से वैक्सीन की किल्लत बरकरार है। केंद्र सरकार ने अभी तक फाइजर, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन आदि डब्ल्यूएचओ द्वारा मंजूर वैक्सीन को अनुमति नहीं दी है, लेकिन सामूहिक वैक्सीनेशन के बारे में बात करते रहते हैं। क्या यह उनके द्वारा किया जा रहा मजाक है

केंद्र सरकार ने जब वैक्सीन का विकेंद्रीकरण कर राज्यों को वैक्सीन खरीदने के लिए कहा था तब भी अभियान विफल रहा था क्योंकि राज्यों को वैक्सीन देने से इनकार कर दिया गया और जब अभियान को केंद्रीकृत कर दिया है तब भी विफल है। केंद्र सरकार का वैश्विक वैक्सीनेशन अभियान केवल विज्ञापनों और घोषणाओं तक सीमित है। वास्तविकता यह है कि दिल्ली को आज एक भी वैक्सीन की डोज नहीं मिली है। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार से दिल्ली को जुलाई में केवल 15.19 लाख वैक्सीन की डोज मिलेंगी। इस रफ्तार से पूरी दिल्ली को वैक्सीनेट करने में 13 महीने से भी ज्यादा समय लगेगा। केंद्र सरकार द्वारा टीकाकरण अभियान का कुप्रबंधन और गलत योजना बनायी गई। हमें नई नीतियां मिलती रहती हैं लेकिन वैक्सीन नहीं मिलती है, जिसकी वजह से वैक्सीन की किल्लत बरकरार है। केंद्र सरकार ने अभी तक फाइजर, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन आदि डब्ल्यूएचओ द्वारा मंजूर वैक्सीन को अनुमति नहीं दी है, लेकिन सामूहिक वैक्सीनेशन के बारे में बात करते रहते हैं। क्या यह उनके द्वारा किया जा रहा मजाक है? विधायक आतिशी ने कहा कि दिल्ली में 45 वर्ष से अधिक उम्र के लिए 8.25 लाख वैक्सीन उपलब्ध हैं। ऐसे में 5 दिन का कोवैक्सीन और 57 दिन का कोवीशील्ड का स्टॉक उपलब्ध है। 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए 2.68 लाख वैक्सीन उपलब्ध हैं, जिसमें कोवैक्सीन का 1 दिन का और कोवीशील्ड का 13 दिन का स्टॉक उपलब्ध है।

आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और विधायक आतिशी ने सोमवार को वैक्सीनेशन बुलेटिन जारी किया। आतिशी ने कहा कि केंद्र सरकार ने घोषणा की थी कि 21 जून से 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए वैक्सीनेशन उपलब्ध कराएगी। केंद्र सरकार देश के हर उस व्यक्ति को वैक्सीन उपलब्ध करवाएगी जो कि वैक्सीन लगवाने के योग्य है। ऐसे में दिल्ली सरकार की उम्मीद थी कि 21 जून को केंद्र सरकार की तरफ से वैक्सीन की काफी सारी डोज उपलब्ध कराई जाएंगी। जिससे कि दिल्ली में 18 से 44 वर्ष के लिए हो रही वैक्सीन की किल्लत खत्म होगी और दिल्ली की पूर् आबादी का जल्द से जल्द वैक्सीनेशन होगा। हमें इस बात का दुख और आश्चर्य है कि दिल्ली सरकार को 21 जून के दिन एक भी अतिरिक्त वैक्सीन की डोज नहीं मिली है। यह कैसा टीकाकरण का अभियान है जहां सिर्फ घोषणा और विज्ञापन है, लेकिन वैक्सीनेशन कहीं पर भी नहीं है।

विधायक आतिशी ने कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से दिल्ली सरकार को ईमेल आया कि 18 वर्ष से अधिक उम्र के युवाओं का भी वॉक इन वैक्सीनेशन होना चाहिए। दिल्ली सरकार भी वॉक इन वैक्सीनेशन जरूर करेगी लेकिन जब तक वैक्सीन की अतिरिक्त डोज मुहैया नहीं करायी जाएंगी तब तक इस वैक्सीनेशन अभियान का क्या मतलब है। केंद्र सरकार की तरफ से कि दिल्ली को अगले माह 1 जुलाई से कुल 15.19 लाख वैक्सीन की मिलेंगी। पिछले कई महीनों से मिल रहीं डोज से यह कम ही है। दिल्ली सरकार को 18 से 44 वर्ष की श्रेणी और 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी के लिए जून में 14 लाख, मई में 13.25 लाख और अप्रैल में 23 लाख वैक्सीन की डोज मिली थीं। जब केंद्र सरकार यूनिवर्सल वैक्सीनेशन अभियान नहीं चला रही थी तब दिल्ली को 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी के लिए अप्रैल में 23 लाख वैक्सीन की डोज दी थीं। अब जब तथाकथित रूप में यूनिवर्सल वैक्सीनेशन कार्यक्रम पूरे देश भर में चलाया जा रहा है, तब सिर्फ 15 लाख वैक्सीन की डोज दी जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में वैक्सीन की अभी तक 65,26,770 डोज लग चुकी हैं, जिसमें से 15,78,382 लोगों को वैक्सीन की डोज लग चुकी हैं। दिल्ली में अभी भी 83.73 लाख ऐसे लोग हैं जिनको वैक्सीन की एक भी डोज नहीं लगी है। इन 83.73 लाख लोगों को वैक्सीन की दो डोज लगनी है तो 1.6 7 करोड़ वैक्सीन की डोज की आवश्यकता है। दिल्ली में 33 लाख ऐसे लोग हैं जिनको वैक्सीन की एक डोज लगी है, जिनको अभी वैक्सीन की दूसरी डोज लगनी है। अगर दोनों आंकड़ों को जोड़ें तो यह निकल कर आता है कि दिल्ली को पूरी तरह से वैक्सीनेट करने के लिए 2 करोड़ वैक्सीन की डोज चाहियें। लेकिन यूनिवर्सल वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू होने के बाद भी दिल्ली को जुलाई में सिर्फ 15.1 9 लाख ही वैक्सीन की डोज मिल रही हैं। अगर हम इसी स्पीड पर वैक्सीन की डोज मिलती रहीं तो पूरी दिल्ली को वैक्सीनेट करने में 13 महीने से ज्यादा लग जाएंगे। ऐसे में आप सोच सकते हैं कि 13 महीने में कोविड की कितनी लहर आ सकती हैं। यह दिल्ली के लिए एक बहुत ही गंभीर मुद्दा है।


विधायक आतिशी ने कहा कि केंद्र सरकार से अपील है सिर्फ नाम का कार्यक्रम मत चलाइए। आपने कुछ महीने पहले कहा था कि हम वैक्सीनेशन खरीद का विकेंद्रीकरण कर रहे हैं ताकि राज्य खुद वैक्सीन खरीद सकें। लेकिन जब राज्य वैक्सीन खरीदने गए तो आपने कंपनियों के पीछे से हाथ बांध दिए और कहा कि आप उतनी ही वैक्सीन बेचोगे के जितना कि हम बताएंगे। ऐसे में विकेंद्रीकरण करने का भी कोई फायदा नहीं हुआ। आज आपने कहा कि 21 जून से हम एक केंद्रीकृत अभियान चलाएंगे, जहां पर केंद्र सरकार सभी को वैक्सीन देगी। 21 जून से वैक्सीनेशन कार्यक्रम भी शुरू हो गया लेकिन दिल्ली को एक भी वैक्सीन नहीं मिली। केंद्र सरकार का वैक्सीनेशन को लेकर कैसी गलत योजना और कुप्रबंधन है कि कभी हम एक नीति लेकर आते हैं और कभी हम दूसरी नीति लेकर आते हैं। देश में नीतियां बदलती रहती हैं लेकिन दिल्ली के पास वैक्सीनेशन नहीं आती है।

उन्होंने कहा कि हमारा केंद्र सरकार से आग्रह है कि दिल्ली के लोगों को जल्द से जल्द वैक्सीन उपलब्ध करवाएं। भारत सरकार ने दुनिया की कई वैक्सीन को अनुमति नहीं दी है जबकि फाइजर, मॉडर्न, जॉनसन एंड जॉनसन को कई सारे देशों अनुमति मिल चुकी है। फाइजर वैक्सीन को 60 से ज्यादा देशों में अनुमति मिल चुकी है। मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन को 40 से ज्यादा देशों में अनुमति मिल चुकी है। यह तीनों वैक्सीन डब्ल्यूएचओ द्वारा प्रमाणित हैं लेकिन भारत ने अभी तक उन्हें अनुमति नहीं दी है। इसकी वजह से उन्हें इंपोर्ट नहीं किया जा सकता और ना ही भारत में उसका उत्पादन शुरू हो सकता है। दिल्ली को यदि हम इसी स्पीड पर वैक्सीनेशन करेंगे तो पूरी दिल्ली को वैक्सीनेट करने में 13 महीने लग जाएंगे। केंद्र सरकार ने पूरे वैक्सीनेशन कार्यक्रम का मजाक बना दिया है।

विधायक आतिशी ने कहा कि दिल्ली में वैक्सीन स्टॉक स्थिति जैसी कल थी वही आज है। दिल्ली में 45 वर्ष से अधिक उम्र के लिए 8.25 लाख वैक्सीन उपलब्ध हैं। ऐसे में 5 दिन का कोवैक्सीन और कोवीशील्ड का 57 दिनों का स्टॉक उपलब्ध हैं। 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए 2.68 लाख वैक्सीन उपलब्ध हैं, जिसमें से कोवैक्सीन का 1 दिन का और कोवीशील्ड का 13 दिन का स्टॉक उपलब्ध है। दिल्ली में 21 जून से यह जो राष्ट्रीय स्तर पर वैक्सीनेशन का कार्यक्रम शुरू हुआ है, उसका दिल्ली की स्टॉक पोजीशन पर कोई असर नहीं पड़ा है। दिल्ली को एक भी वैक्सीन की डोज अतिरिक्त नहीं मिली है। केंद्र सरकार से अपील है कि दिल्ली कोविड की लहर से सबसे ज्यादा प्रभावित रहा है, क्योंकि यहां पर देश और विदेशी से लोग आते हैं। इसके अलावा दिल्ली का आबादी घनत्व बहुत ज्यादा है। इसलिए दिल्ली वालों को 13 महीने की के लिए मत छोड़िए। दिल्ली वालों को जल्द से जल्द वैक्सीन उपलब्ध करवाइए।

Have something to say? Post your comment
More National News
निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ आम आदमी पार्टी ने खोला मोर्चा', हरकत में आया शिक्षा महकमा
केजरीवाल सरकार छात्रों में विकसित करेगी उद्यमी बनने के गुण, सरकारी स्कूलों में मंगलवार को लॉन्च किया जाएगा बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम
केजरीवाल सरकार सोनिया विहार में बना रही आधुनिक कुआं, रोजाना कुएं से निकाला जा सकेगा 90 लाख लीटर पानी
AAP की ‘किसान न्याय सभा’ 26 को श्रीगंगानगर में, सांसद संजय सिंह करेंगे संबोधित
15 Aug, CM Kejriwal Mc Mcd Senior BJP leader joined AAP विदेशों की तर्ज पर दिल्ली वालों का भी होगा अपना हेल्थ कार्ड, केजरीवाल सरकार करेगी HIMS की शुरूआत
दिल्ली में पहली बार होगा स्किल कम्पटीशन का आयोजन, दिल्ली के हुनरमंद बच्चे लेंगे शंघाई वर्ल्ड स्किल्स ओलंपिक 2022 में हिस्सा