Saturday, June 19, 2021
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने की दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के प्रगति की समीक्षा बैठकविकास मंत्री गोपाल राय ने कर्दमपुरी में राशन वितरण केंद्र का लिया जायजाजुलाई के अंत तक जारी की जाए 12 वी के छात्रों की मार्कशीट - सिसोदियादिल्ली सरकार कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर पांच हजार हेल्थ असिस्टेंट तैयार करेगी- अरविंद केजरीवालशिक्षा को जन आंदोलन बनाना मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का है सपना - मनीष सिसोदियादिल्ली सरकार की अनूठी पहल, विदेश यात्राओं पर जाने वाले नागरिकों के लिए शुरू किया स्पेशल वैक्सीनेशन सेंटरवैक्सीनेशन केंद्रों का निरीक्षण किया जा रहा है, सभी जगहों से सकारात्मक रूझान मिल रहे है- गोपाल रायसंयोजक केजरीवाल ने अहमदाबाद में किया प्रदेश स्तरीय कार्यालय का उद्घाटन, वरिष्ठ पत्रकार इसूदान AAP में शामिल
National

कोरोना की वजह से मानवीय और आर्थिक नुकसान उठाने वालों के लिए एक समग्र नीति बने, मुआवजा देने से बचने के लिए मृत्यु प्रमाण पत्र में हेराफेरी ना करें गहलोत सरकार: खेमचंद जागीरदार

June 05, 2021 02:22 PM

जयपुर। आम आदमी पार्टी की राजस्थान इकाई ने राज्य की गहलोत सरकार से कोरोना महामारी से प्रभावितों के लिए समग्र मुआवज़ा नीति बनाने की अपील की है। साथ ही कोरोना संक्रमण काल की दूसरी लहर के दौरान पोस्ट कोविड होने वाली मौतों को भी कोविड से होने वाली मौत माने जाने का आग्रह किया है।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश सह प्रभारी खेमचंद जागीरदार ने कहा है कि राज्य सरकार को कोरोना संक्रमण के कारण हुई मौतों के मामले में मानवीय और आर्थिक नुकसान उठाने वाले परिवारों को सम्बल प्रदान करने की दिशा में एक समग्र मुआवज़ा नीति बनानी चाहिए। इस नीति में उन प्रभावित परिवारों को भी जोड़कर मुआवज़ा दिया जाए जो कोरोना से या उसके प्रभाव के चलते बाद में दूसरी बीमारियों से भी जान गँवा चुके हैं। साथ ही ऐसे मृतकों के मृत्यु प्रमाणपत्र में मृत्यु का कारण कोरोना ही लिखा जाए।

जागीरदार ने बताया कि ऐसी शिकायतें आम हो गई हैं जहां कोरोना से नेगेटिव हुए लोगों की कोरोना से डेमेज हुए अंग के फेल हो जाने से मौत हो जाती है, पर सरकारी मृत्यु प्रमाण पत्र में उसकी मौत का कारण कोरोना नहीं लिखा जाता। ऐसे में एक समग्र मुआवजा नीति बनाकर उसे ईमानदारी से लागू किया जाये।

'आर्थिक रूप से कमज़ोर परिवारों को मिले मदद'

आम आदमी पार्टी के प्रदेश सचिव देवेन्द्र शास्त्री ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल के दौरान जान गंवाने वाले लोगों में बहुत से ऐसे भी थे जो कोविड निगेटिव तो हो गए लेकिन, कोरोना के आफ्टर इफेक्ट के चलते उन्हें हार्ट अटैक, किडनी या लीवर फैल होने जैसी दूसरी बीमारी लील गई। इसी तरह बड़ी संख्या में कैंसर, हृदय रोग जैसी गंभीर बीमारी से ग्रसित मरीजों ने कोरोना काल के दौरान अस्पतालों में बढ़ी कोरोना मरीजों की भीड़ या अस्पतालों की मनमानी से समय पर इलाज नहीं मिलने के कारण दम तोड़ दिया। अगर कोई परिवार बेहद कमजोर है और आर्थिक मदद चाहता है तो, सरकार को ऐसे परिवारों की भी मदद करनी चाहिए। 

Have something to say? Post your comment
More National News
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने की दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के प्रगति की समीक्षा बैठक
विकास मंत्री गोपाल राय ने कर्दमपुरी में राशन वितरण केंद्र का लिया जायजा
जुलाई के अंत तक जारी की जाए 12 वी के छात्रों की मार्कशीट - सिसोदिया
महामारी की वास्तविकता स्वीकार कर अफरातफरी से बचने के लिए अभी से अगले सत्र के बोर्ड परीक्षाओं के मूल्यांकन की योजना बनाने की ज़रूरत
दिल्ली: मंत्री गौतम ने नंदनगरी में वैक्सीनेशन सेंटरों का निरीक्षण किया, लोगों को मिल रही सुविधाओं का जायजा लिया
दिल्ली सरकार कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर पांच हजार हेल्थ असिस्टेंट तैयार करेगी- अरविंद केजरीवाल
शिक्षा को जन आंदोलन बनाना मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का है सपना - मनीष सिसोदिया
दिल्ली सरकार की अनूठी पहल, विदेश यात्राओं पर जाने वाले नागरिकों के लिए शुरू किया स्पेशल वैक्सीनेशन सेंटर
वैक्सीनेशन केंद्रों का निरीक्षण किया जा रहा है, सभी जगहों से सकारात्मक रूझान मिल रहे है- गोपाल राय
संयोजक केजरीवाल ने अहमदाबाद में किया प्रदेश स्तरीय कार्यालय का उद्घाटन, वरिष्ठ पत्रकार इसूदान AAP में शामिल