Friday, June 18, 2021
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने की दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के प्रगति की समीक्षा बैठकविकास मंत्री गोपाल राय ने कर्दमपुरी में राशन वितरण केंद्र का लिया जायजाजुलाई के अंत तक जारी की जाए 12 वी के छात्रों की मार्कशीट - सिसोदियादिल्ली सरकार कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर पांच हजार हेल्थ असिस्टेंट तैयार करेगी- अरविंद केजरीवालशिक्षा को जन आंदोलन बनाना मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का है सपना - मनीष सिसोदियादिल्ली सरकार की अनूठी पहल, विदेश यात्राओं पर जाने वाले नागरिकों के लिए शुरू किया स्पेशल वैक्सीनेशन सेंटरवैक्सीनेशन केंद्रों का निरीक्षण किया जा रहा है, सभी जगहों से सकारात्मक रूझान मिल रहे है- गोपाल रायसंयोजक केजरीवाल ने अहमदाबाद में किया प्रदेश स्तरीय कार्यालय का उद्घाटन, वरिष्ठ पत्रकार इसूदान AAP में शामिल
National

विश्व पर्यावरण दिवस पर 33 लाख पौधे लगाने की होगी शुरुआत - गोपाल राय

रविंद्र कुमार | June 03, 2021 12:58 AM

नई दिल्ली। केजरीवाल सरकार आगामी पांच जून से दिल्ली में वृहद वृक्षारोपण अभियान की शुरूआत करेगी। इसकी घोषणा करते हुए दिल्ली के पर्यावरण एवं वन मंत्री गोपाल राय ने कहा कि इस दौरान लोगों को प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली जड़ी-बूटी के पौधे लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। केंद्र सरकार ने इस साल 18 लाख का लक्ष्य दिया है, लेकिन दिल्ली सरकार ने प्राप्त लक्ष्य से ज्यादा 33 लाख पौधे लगाने का निर्णय लिया है।

वन विभाग की तरफ से दिल्ली के अंदर हमने पिछले साल प्रतिरोधक तंत्र बढ़ाने वाली जड़ी-बूटियों के पौधों को लगाने का अभियान शुरू किया था। जिसमें कढ़ी पत्ता, आंवला, बेहरा, जामुन, अमरूद, अर्जुन सहजन, बेल पत्ता, निबू, तुलसी, एलोवेरा, गिलोय के पौधे लगाए गए। दिल्ली के अंदर जो सरकारी नर्सरी हैं, वहां से यह पौधे निःशुल्क दिए जाते हैं।

उन्होंने कहा कि इस कोरोना काल में जिसका प्रतिरोधक तंत्र ठीक है, वह कोरोना से लड़ कर जीत रहा है और जिसका कमजोर है, वह इस लड़ाई को हार में रहा है। दिल्ली निवासियों से अपील है कि सभी लोग पौधारोपण अभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लें, ताकि हम अपनी प्रतिरोधक क्षमता को प्राकृतिक तरीके से बढ़ा सकें। उन्होंने कहा कि 2017 में दिल्ली का ग्रीन क्षेत्र 299 वर्ग किमी था, जिसे केजरीवाल सरकार ने बढ़ाकर 2019 में 325 वर्ग किमी कर दिया है। हमें उम्मीद है कि इस साल का अभियान पूरा होने के बाद दिल्ली का ग्रीन क्षेत्र बढ़कर 350 वर्ग किमी हो जाएगा।

दिल्ली के पर्यावरण एवं वन मंत्री गोपाल राय ने आज दिल्ली में पौधारोपण को लेकर एक महत्वपूर्ण प्रेस काॅन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि दिल्ली के अंदर इस कोरोना संकट के दौरान जिस तरह से ऑक्सीजन का संकट सामने आया, उसके लिए सरकार के स्तर पर तमाम प्रयास किए गए और उसमें सफलता भी मिली। आज कोरोना के केस लगातार कम होते जा रहे हैं, लेकिन ऑक्सीजन के स्थाई समाधान की तरफ बढ़ने के लिए एक ही रास्ता है कि बड़े पैमाने पर दिल्ली के अंदर वृक्षारोपण किया जाए। 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस है। दिल्ली सरकार ने यह निर्णय लिया है कि 5 जून से दिल्ली के अंदर अगले साल का वृक्षारोपण अभियान शुरू किया जाएगा। अगले 1 वर्ष में सरकार ने दिल्ली में 33 लाख पौधे लगाने का निर्णय लिया है, जिसमें बड़े पेड़ों के साथ-साथ, दिल्ली में जो प्रदूषण की समस्या है, उसमें पीएम-10 की एक अहम भूमिका होती है, जो खासतौर से सड़क के किनारे धूल से पैदा होता है। इसके लिए सड़क के किनारे भी छोटे पौधे लगाए जाएंगे, जिससे कि पीएम-10 को भी नियंत्रित किया जा सके।

गोपाल राय ने कहा कि हर साल केंद्र सरकार सभी राज्यों को वृक्षारोपण का लक्ष्य देती है। पिछली बार केंद्र सरकार ने दिल्ली को 15 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य दिया था। जिसमें सीएम अरविंद केजरीवाल के वादे के अनुसार जो हमने दिल्ली के लोगों से चुनाव के समय 10 महत्वपूर्ण वादे किए थे, उसमें दिल्ली के पर्यावरण को ठीक करने के लिए दो करोड़ पौधे लगाने का 5 साल में लक्ष्य रखा था। उस लक्ष्य को देखते हुए हमने केंद्र सरकार के दिए हुए 15 लाख के लक्ष्य से दोगुना लक्ष्य रखा था। हमने पिछले साल 31 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा था। हमें इस बात की खुशी है कि अपने लक्ष्य से ज्यादा 32 लाख पौधे पिछले एक साल में दिल्ली के अंदर लगाए गए हैं। इस बार केंद्र सरकार ने दिल्ली के लिए करीब 18 लाख वृक्षारोपण का दिया था। इस बार भी हम अरविंद केजरीवाल के वादे के अनुरूप उसको पूरा करने के लिए हमने इस दूसरे साल में 33 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है, जिसकी शुरुआत 5 जून से सांकेतिक रूप से करेंगे, क्योंकि दिल्ली के अंदर कोरोना की स्थिति के कारण अभी अर्ध लाॅकडाउन है। इसलिए 5 जून से इसकी हम सांकेतिक शुरूआत करेंगे और आगामी दिनों में बड़े स्तर पर इसका अभियान चलाया जाएगा।

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आगे कहा कि दिल्ली के अंदर खासतौर से प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने को लेकर के सब जगह चर्चा हो रही है, क्योंकि इस कोरोना संकट के दौरान वही ब्रह्मास्त्र है, जिसका प्रतिरोधक तंत्र ठीक है, वह इस लड़ाई को लड़ कर जीत रहा है और जिसका प्रतिरोधक तंत्र कमजोर हो रहा है, वो इस लड़ाई को हार जा रहा है। इसलिए वन विभाग की तरफ से दिल्ली के अंदर हमने पिछले साल प्रतिरोधक तंत्र बढ़ाने वाली जड़ी-बूटियों के पौधों को लगाने का अभियान शुरू किया था। जिसमें कढ़ी पत्ता, आंवला, बेहरा, जामुन, अमरूद, अर्जुन सहजन, बेल पत्ता, निबू, तुलसी, एलोवेरा, गिलोय के पौधे लगाए गए। दिल्ली के अंदर जो सरकारी नर्सरी हैं, वहां से यह पौधे निःशुल्क दिए जाते हैं।

पर्यावरण मंत्री ने कहा कि 2017 में 299 वर्ग किलोमीटर दिल्ली का ग्रीन क्षेत्र था, जिसको आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में 2019 में इसे बढ़ाकर 325 वर्ग किलोमीटर किया

Have something to say? Post your comment
More National News
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने की दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के प्रगति की समीक्षा बैठक
विकास मंत्री गोपाल राय ने कर्दमपुरी में राशन वितरण केंद्र का लिया जायजा
जुलाई के अंत तक जारी की जाए 12 वी के छात्रों की मार्कशीट - सिसोदिया
महामारी की वास्तविकता स्वीकार कर अफरातफरी से बचने के लिए अभी से अगले सत्र के बोर्ड परीक्षाओं के मूल्यांकन की योजना बनाने की ज़रूरत
दिल्ली: मंत्री गौतम ने नंदनगरी में वैक्सीनेशन सेंटरों का निरीक्षण किया, लोगों को मिल रही सुविधाओं का जायजा लिया
दिल्ली सरकार कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर पांच हजार हेल्थ असिस्टेंट तैयार करेगी- अरविंद केजरीवाल
शिक्षा को जन आंदोलन बनाना मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का है सपना - मनीष सिसोदिया
दिल्ली सरकार की अनूठी पहल, विदेश यात्राओं पर जाने वाले नागरिकों के लिए शुरू किया स्पेशल वैक्सीनेशन सेंटर
वैक्सीनेशन केंद्रों का निरीक्षण किया जा रहा है, सभी जगहों से सकारात्मक रूझान मिल रहे है- गोपाल राय
संयोजक केजरीवाल ने अहमदाबाद में किया प्रदेश स्तरीय कार्यालय का उद्घाटन, वरिष्ठ पत्रकार इसूदान AAP में शामिल