Friday, January 22, 2021
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
मोहल्ला सभाओं में आकर जनता खुद कर रही BJP के भ्रष्टाचार का खुलासा, जनता में भाजपा के प्रति जबरदस्त गुस्सा‘आप’ ने स्थानीय चुनाव में कांग्रेस द्वारा सरकारी तंत्र के दुरुपयोग की आशंका जताईबिहार में हजारों स्टूडेंट्स का भविष्य खतरे में, ‘आप’ सांसद संजय सिंह ने सीएम नीतीश को लिखा पत्रविधायक चड्ढा ने मिड-डे मील के 3200 राशन किट का वितरण किया, किट में चावल, दाल और रिफाइंड तेल मौजूदमोहल्ला सभाओं में जनता ने कहा- “भाजपा ने एमसीडी को भ्रष्टाचार का कारखाना बना दिया है…”जीएनएम छात्राओं ने ‘आप’ सांसद संजय सिंह से लगाई गुहार, प्रवक्ता बबलू प्रकाश को सौंपा ज्ञापनदिल्ली की साफ-सफाई और भ्रष्टाचार की समस्या के समाधान के लिए MCD में AAP की सरकार बनाना बेहद जरूरी- आतिशीहरियाणा सरकार किसानों के शांतिपूर्ण आंदोलन को असफल करने का षडयंत्र रच रही है: डॉ सुशील गुप्ता
National

कृषि कानून देश के किसानों के खिलाफ, पूंजीपतियों को लाभ देने के लिए कानून लाया गया है: अरविंद केजरीवाल

December 14, 2020 11:36 PM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने आज किसानों के समर्थन में अपने कैबिनेट मंत्रियों, सांसदों, विधायकों, पार्षदों और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ उपवास रखा। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार का कृषि कानून सिर्फ किसानों के ही खिलाफ नहीं है, बल्कि देश की आम जनता के खिलाफ है। इससे महंगाई बढ़ेगी। कानून के अंदर महंगाई बढ़ने का लाइसेंस दिया गया है। चंद पूंजीपतियों को लाभ देने के लिए कानून लाया गया है। कानून में लिखा है कि जब महंगाई दोगुनी हो जाएगी, तभी छापेमारी की जा सकती है। मैं मुख्यमंत्री हूं, इसके बावजूद छापेमारी नहीं कर सकता हूं, क्योंकि काले कानून ने मेरे हाथ बांध रखे हैं। सीएम ने कहा कि किसी भी देश की नींव किसान और जवान होते हैं, जिस देश के किसान और जवान संकट में हों, वो देश कैसे तरक्की कर सकता है? कुछ लोग किसानों को आतंकवादी बता रहे हैं। मेरी उनसे अपील है कि वे अपनी गंदी राजनीति बंद करें। उन्होंने कहा कि आज मैं और आम आदमी पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं ने पूरे देश भर में उपवास रख कर किसानों के समर्थन में प्रार्थना की। मुझे खुशी है कि आज पूरा देश किसानों के साथ खड़ा है।

देश भर में फौजी, खिलाड़ी, बॉलीवुड हस्तियां, वकील और डॉक्टर सहित अन्य लोग किसानों के साथ खड़े हैं- अरविंद केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज किसानों के समर्थन में सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक उपवास रखा। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल के साथ उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, कैबिनेट मंत्री सतेंद्र जैन व गोपाल राय, एनडी गुप्ता और सांसद संजय सिंह के अलावा विधायक व पार्षद आदि मौजूद रहे। साथ सीएम अरविंद केजरीवाल के आह्वान पर देश भर में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पूरे दिन उपवास रख कर किसानों का समर्थन किया। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पूरे देश भर किसानों के समर्थन में जो-जो लोग उपवास पर बैठे हैं और जो लोग किसानों के समर्थन में बैठे हैं, लेकिन किसी भी वजह से उपवास नहीं कर पाए हैं, उन सब लोगों का धन्यवाद है। देश आज संकट में है, क्योंकि किसान संकट में है। किसान और जवान किसी भी देश की नींव होते हैं। अगर किसान और जवान संकट में हो, तो देश आगे तरक्की कैसे कर सकता है और वो देश खुशहाल कैसे हो सकता है? हमारे देश का किसान आज संकट में है। जिस किसान को खेतों में होना चाहिए, वह इतनी कड़ाके की ठंड में धरने पर बैठा है। मुझे खुशी इस बात की है कि पूरा देश आज किसान के साथ खड़ा है। देश भर में फौजी, खिलाड़ी, बॉलीवुड की बड़ी-बड़ी हस्तियां, वकील और डॉक्टर सहित अन्य किसानों के साथ खड़े हैं। देश भर से खबरें आ रही हैं कि लोग चाहे सिंघु बॉर्डर पर ना पहुंच पाए हों, लेकिन लाखों-करोड़ों लोगों ने आज अपने घर पर उपवास रखकर किसानों का समर्थन किया है और उनके लिए प्रार्थना की है।

आज देश भर में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सामूहिक रूप से उपवास करके किसानों का समर्थन किया - अरविंद केजरीवाल

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी शुरू से किसानों के साथ है। किसान आंदोलन का समर्थन करती रही है। आज देश भर में कोने-कोने में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अपने घर पर या सामूहिक रूप से इकट्ठे होकर उपवास किया है और किसानों का समर्थन किया है। हम लोगों ने जब-जब जरूरत पड़ी, तब बिल्कुल चट्टान की तरह खड़े होकर किसानों का समर्थन किया है। जब किसान आंसू गैस के गोले और वाटर कैनन झेलते हुए, लाठियां खाते हुए दिल्ली की सीमा पर पहुंचे, तो केंद्र सरकार ने प्लान बनाया कि इस आंदोलन को कैसे खत्म करें? इन लोगों का प्लान था कि किसान दिल्ली आएंगे, तो इन्हें दिल्ली में 9 बड़े-बड़े स्टेडियम में डाल देंगे और बाहर से ताला लगा देंगे। जिससे इनका आंदोलन खत्म हो जाए। किस्मत से वो फाइल हमारे पास आ गई और हमें निर्णय लेना था। हमारे ऊपर इन लोगों ने खूब दबाव डाला कि यह फाइल साइन कर दो और स्टेडियमों को जेल बनने दो, लेकिन हम भी जानते हैं, हम भी आंदोलनकारी रह चुके हैं और हम भी स्टेडियम में रात गुजार चुके हैं। हमें पता है कि किस तरह से आंदोलन को खत्म करने के लिए स्टेडियमों का इस्तेमाल किया जाता है। हम इनके दवाब में नहीं आए और इन लोगों से लड़ाई लड़ी। जिससे केंद्र सरकार नाराज हुई। हमें इस बात की कोई परवाह नहीं है। हम किसानों के साथ चट्टान की तरह खड़े रहे और हमने उनकी फाइल को रिजेक्ट कर दी।

किसानों का यह आंदोलन बहुत पवित्र है, कहीं भी किसी तरह की कोई हिंसा नहीं हुई- अरविंद केजरीवाल

‘आप’ संयोजक केजरीवाल ने कहा कि मुझे खुशी है कि आम आदमी पार्टी के बहुत सारे लोग सेवादार बनकर किसानों की सेवा करने के लिए गए हैं, मैं ऐसे हमारे कई विधायकों व नेताओं को जानता हूं। मैंने उनको कह दिया था कि कोई टोपी पहनकर, झंडा-डंडा लेकर नहीं जाएगा। वहां पर आम आदमी पार्टी का जिक्र नहीं करना है। देश बचेगा, तो आम आदमी पार्टी बचेगी। किसान बचेगा, तो आम आदमी पार्टी बचेगी। आप में से बहुत सारे लोग दिन-रात वहां पर सेवा में लगे हुए हैं। आप भी सेवादार बन कर गए और मैं भी सेवादार बन कर गया। मैं भी वहां पर बिना किसी आम आदमी पार्टी का सिंबल लिए किसानों की सेवा करने के लिए गया, तो वे लोग बहुत नाराज हो गए। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले हफ्ते जब किसानों का भारत बंद आंदोलन था, तो मैं भी एक दिन वहां जाना चाह रहा था, लेकिन इन्होंने मेरे दरवाजे बंद कर दिए। मेरे को वहां जाने नहीं दिया, लेकिन अपने को क्या फर्क पड़ता है। मैंने घर बैठकर किसानों के लिए प्रार्थना कर ली। प्रभू से प्रार्थना कर ली कि हे प्रभू! किसानों का आंदोलन सफल रहे। आम आदमी पार्टी के सभी कार्यकर्ता आज उपवास पर बैठी है। यह आंदोलन बहुत पवित्र है। आप लोगों ने देखा होगा कि कहीं भी किसी तरह की बिल्कुल हिंसा नहीं हुई। किसानों ने लाठियां खाईं, लेकिन हाथ नहीं उठाया। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े, लेकिन किसी ने हाथ नहीं उठाया। पूरी तरह से अहिंसा के रूप में आंदोलन चल रहा है। 

किसानों के ऊपर तरह-तरह के आरोप लगाकर उनको बदनाम करने की कोशिश की जा रही है- अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दुख होता जब किसानों के ऊपर तरह-तरह के आरोप लगाकर उनको बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। वे कह रहे हैं कि किसान आंतकवादी, देशद्रोही, टुकड़े टुकड़े गैंग के सदस्य हैं। किसान चीन और पाकिस्तान के एजेंट है। यहां जो किसान बैठे हैं, इन्हीं लोगों के भाई, बेटे चीन और पाकिस्तान की सीमा पर देश की रक्षा कर रहे हैं। ये जितने नेता और जो-जो लोग कह रहे हैं कि किसान चीन और पाकिस्तान के एजेंट हैं, मैं इनको कहना चाहता हूं कि एक दिन आप अपने बेटे-बेटियों को चीन और पाकिस्तान की सीमा पर भेज कर देखिए, तब पता चलेगा कि कलेजे पर क्या बीतती है। आप लोग यह सोच कर देखिए कि देशभर में कितने ऐसे किसान हैं, जिसके दो बेटे हैं, एक किसान बन गया और एक जवान बन गया है। कितने परिवार हैं, जिनका एक बेटा फौज में है और एक बेटा खेत में है। जब इनका बेटा फौज में सीमा पर सुनता है कि मेरे भाई को आतंकवादी कहा जा रहा है, जब वह सुनता है कि मेरे पिता को आतंकवादी कहा जा रहा है, जो आज सिंघु बॉर्डर पर बैठे हैं तो उसके दिल पर क्या गुजरती होगी, यह सही नहीं हो रहा है। जितने लोग राजनीति के तहत किसानों को गालियां दे रहे हैं, भला बुरा बोल रहे हैं, मैं उनसे हाथ जोड़कर अपील करना चाहता हूं कि यह गंदी राजनीति बंद करें।

कृषि कानून के आने से महंगाई बेइंतहा बढ़ेगी, इसके अंदर महंगाई बढ़ने का लाइसेंस दिया गया है- अरविंद केजरीवाल

‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह कानून केवल किसानों के खिलाफ नहीं है, बल्कि यह कानून इस देश की आम जनता के खिलाफ है। इस कानून के आने से महंगाई बेइंतहा बढ़ेगी। इस कानून के अंदर महंगाई बढ़ने का लाइसेंस दिया गया है। महंगाई बढ़ने को एक तरह से कानूनी जामा पहना दिया गया है। सीएम ने एक उदाहरण देते हुए कहा कि हमारी दिल्ली में सरकार है और हमें पता चलता है कि प्याज महंगा हो गया है। ऐसे में हम पता करते हैं कि किस-किस ने प्याज की जमाखोरी कर रखी है। महंगाई इसलिए होती है, क्योंकि कुछ लोग सारा प्याज खरीद कर अपने स्टोर में जमा कर लेते हैं। मार्केट में प्याज नहीं आता है और प्याज की कमी हो जाती है। इसलिए प्याज महंगा हो जाता है। दाल क्यों महंगी होती है। कुछ चंद पैसे वाले लोग सारी दाल खरीद कर अपने स्टोर में जमा कर लेते हैं। दाल महंगी हो जाती है और दाल की कमी हो जाती है। ऐसे में फिर सरकार क्या करती है? सरकार उनके गोदाम में छापे मारकर वो दाल बाहर निकालती है। मार्केट में जब दाल आती है, तो दाल सस्ती हो जाती है। वहीं, इस कानून में लिखा है कि कोई भी व्यक्ति कितनी भी जमाखोरी कर सकता है। अभी तक जमाखोरी करना कानून में भी अपराध माना जाता था और शास्त्रों में भी पाप माना जाता था। किसी भी धर्म के शास्त्र उठाकर देख लो उसमें कहते थे कि जमाखोरी करना पाप है। कानून में कहते थे कि अपराध है। हर वस्तु के जमा करने की सीमा होती थी। यदि चना है, तो दस हजार क्विंटल से अधिक स्टोर नहीं कर सकते। गेंहू है, तो इतने से ज्यादा जमा नहीं कर सकते। हर वस्तू की एक सीमा तय कर रखी थी। अब यह सीमा खत्म हो गई है और कोई भी आदमी कितना भी जमा कर सकता है। जिन-जिन लोगों के पास पैसा है वह दो-दो, तीन-तीन साल तक के लिए सामान स्टोर करके रख लेंगे। फिर कितनी महंगाई हो जाएगी?

केवल चंद पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए यह कानून लाया गया है- अरविंद केजरीवाल

‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस कानून में लिखा है कि अगर एक साल में महंगाई दुगनी हो जाएगी, तभी सरकार छापामारी कर सकती है। महंगाई दोगुनी नहीं होने पर सरकार छापामारी नहीं कर सकती है। मैं मुख्यमंत्री हूं और मेरे को पता है कि दाल के दाम बढ़ रहे हैं। उक्त व्यक्ति ने दाल की जमाखोरी कर रखी है। अब मेरे हाथ काट दिए है, मैं छापेमारी नहीं कर सकता और उसकी दाल बाहर नहीं निकल सकता। नए कानून में लिखा है कि जब तक दाल की कीमत दोगुनी नहीं हो जाएंगी, तब तक छापेमारी नहीं की जा सकती। मान लीजिए इस साल गेंहू 10 रुपये किलो हैं और अगली साल जब तक गेहूं 20 रुपए किलो नहीं हो जाता, तब तक मैं छापेमारी नहीं कर सकता। अगले साल 40 रुपए किलो,  उससे अगली साल 80 रुपए किलो और उससे अगली साल 160 रुपए किलो नहीं हो जाएगा, तब तक छापेमारी की कार्रवाई नहीं होगी। ऐसे में 4 साल के अंदर गेहूं 16 गुना महंगा हो जाएगा। इतनी महंगाई हो जाएगी कि तनख्वाह बढ़ेगी नहीं और बच्चे पालने मुश्किल हो जाएंगे। यह पूरा कानून किसानों और आम आदमी के खिलाफ है। केवल चंद पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए यह कानून लाया गया है। मेरी सब लोगों से गुजारिश है कि यह मत सोचना कि आंदोलन में हिस्सा लेकर किसानों पर एहसान कर रहे हो। किसानों पर कोई एहसान नहीं कर रहे हैं, उल्टे तुम्हारे ऊपर किसान अहसान कर रहे हैं जो वहां पर धरने पर बैठे हैं। इस देश के लोगों पर किसान एहसान कर रहे हैं, जो कह रहे हैं कि यह कानून वापस लो। हम सबको इसकी खिलाफत करनी है। एमएसपी की गारंटी देने वाला कानून इस देश के अंदर लाया जाए। आज पूरा दिन मैंने और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने देशभर में उपवास रखकर किसानों की मांगों के समर्थन में प्रार्थना की है।

Have something to say? Post your comment
More National News
विधायक राघव चड्ढा ने सर गंगाराम अस्पताल का दौरा किया, कोविड-19 टीकाकरण अभियान की जानकारी ली
झुग्गीवासियों के पूर्ववास के लिए 9315 फ्लैट्स बनकर तैयार, सीएम केजरीवाल ने आवंटन दिए निर्देश
चुनाव से पहले एमसीडी को पूरी तरह से लूटने के इरादे से भाजपा शासित दक्षिणी नगर निगम ने पार्षद निधि 50 लाख से बढ़ाकर 1 करोड़ रुपए करने की घोषणा की है- सौरभ भारद्वाज
देवभूमि उत्तराखंड की पीड़ा को उजागर करता है यह कवि सम्मेलन : उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया
दिल्ली और पंजाब के बाहर महाराष्ट्र में ‘आप’ ने 96 सीटें जीती, सोशल मीडिया पर विजेताओं को दी बधाईयां
मोहल्ला सभाओं में आकर जनता खुद कर रही BJP के भ्रष्टाचार का खुलासा, जनता में भाजपा के प्रति जबरदस्त गुस्सा आम आदमी पार्टी ने अपने हक की लड़ाई लड़ रहे बेरोजगार शिक्षकों का किया समर्थन ‘आप’ ने स्थानीय चुनाव में कांग्रेस द्वारा सरकारी तंत्र के दुरुपयोग की आशंका जताई
बिहार में हजारों स्टूडेंट्स का भविष्य खतरे में, ‘आप’ सांसद संजय सिंह ने सीएम नीतीश को लिखा पत्र
जनता ने एमसीडी में आम आदमी पार्टी की सरकार बनाकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को विश्व स्तरीय बनाने का मन बना लिया है- दुर्गेश पाठक