Friday, January 22, 2021
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
मोहल्ला सभाओं में आकर जनता खुद कर रही BJP के भ्रष्टाचार का खुलासा, जनता में भाजपा के प्रति जबरदस्त गुस्सा‘आप’ ने स्थानीय चुनाव में कांग्रेस द्वारा सरकारी तंत्र के दुरुपयोग की आशंका जताईबिहार में हजारों स्टूडेंट्स का भविष्य खतरे में, ‘आप’ सांसद संजय सिंह ने सीएम नीतीश को लिखा पत्रविधायक चड्ढा ने मिड-डे मील के 3200 राशन किट का वितरण किया, किट में चावल, दाल और रिफाइंड तेल मौजूदमोहल्ला सभाओं में जनता ने कहा- “भाजपा ने एमसीडी को भ्रष्टाचार का कारखाना बना दिया है…”जीएनएम छात्राओं ने ‘आप’ सांसद संजय सिंह से लगाई गुहार, प्रवक्ता बबलू प्रकाश को सौंपा ज्ञापनदिल्ली की साफ-सफाई और भ्रष्टाचार की समस्या के समाधान के लिए MCD में AAP की सरकार बनाना बेहद जरूरी- आतिशीहरियाणा सरकार किसानों के शांतिपूर्ण आंदोलन को असफल करने का षडयंत्र रच रही है: डॉ सुशील गुप्ता
National

पुलिस ने आतिशी-राघव समेत कई AAP नेताओं को हिरासत में लिया, LG के आवास पर कर रहे थे प्रदर्शन

December 13, 2020 11:04 PM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता एवं विधायक आतिशी ने कहा कि केंद्रीय गृहमंत्री और एलजी के निर्देश पर दिल्ली पुलिस ने आज उनके आवास के बाहर धरना देने के लिए जा रहे ‘आप’ विधायकों और पार्षदों को हिरासत में ले लिया था। एमसीडी में हुए घोटाले से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री ने मुख्यमंत्री के आवास के बाहर एमसीडी के मेयर और भाजपा पार्षदों को बैठाया हुआ है। दिल्ली के इतिहास में आज तक का यह सबसे बड़ा घपला है, यह घपला शीला दीक्षित सरकार के कॉमनवेल्थ घोटाले से भी कई गुना बड़ा घपला है। वहीं, ‘आप’ विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि एलजी और अमित शाह ने मिलने से मना कर दिया। किसी भी किस्म की जांच करने से मना कर रहे हैं। इससे साफ है कि इस घपले में बहुत बड़े-बड़े लोग शामिल हैं और भाजपा उन्हें बचाना चाहती है। एमसीडी में जबरदस्त भ्रष्टाचार है। पिछली बार भाजपा ने खुद माना था कि उनके सभी पार्षद भ्रष्ट हैं। अमित शाह ने कहा कि इसीलिए सबकी टिकट बदली। इस बार भी भाजपा कह रही है कि सबकी टिकट बदलेंगे। 2500 करोड़ का घपला करने के बाद अब ये सीएम हाउस पर बैठे हैं और कह रहे हैं कि हमें चोरी करने के लिए और पैसा दो। हम दिल्ली की जनता से पूछना चाहते हैं कि क्या भाजपा वालों को आपका पैसा चोरी करने के लिए देना चाहिए?

पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी ने कहा कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम में 2500 करोड़ का घोटाला हुआ है। यह दिल्ली के इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में आज तक शीला दीक्षित जी के समय में हुए कॉमनवेल्थ घोटाले को सबसे बड़ा घोटाला माना जाता था, परंतु जो घोटाला उत्तरी दिल्ली नगर निगम में हुआ है, वह कॉमनवेल्थ गेम्स में हुए घोटाले को भी पीछे छोड़ देता है। 


 
आतिशी ने कहा कि यह जानना बेहद जरूरी है कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम में जो घोटाला हुआ है, वह कौन से पैसे का हुआ है? इस प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि यह नगर निगम में काम करने वाले उन डॉक्टरों के वेतन का पैसा है, जो कोरोना महामारी के काल में अपनी जान की बाजी लगाकर दिन-रात लोगों की सेवा कर रहे हैं, यह नगर निगम के स्कूलों में कार्यरत उन अध्यापकों के वेतन का पैसा है जो इस महामारी के काल में भी ऑनलाइन क्लासेस के माध्यम से हमारे बच्चों को पढ़ा रहे हैं, न केवल पढ़ा रहे हैं, बल्कि कोरोना महामारी के संबंध में लगातार डोर टू डोर सर्वे भी कर रहे हैं, यह नगर निगम में कार्यरत उन सफाई कर्मचारियों के वेतन का पैसा है, जो इस महामारी के समय में भी हमारे आसपास के मोहल्ले को साफ रखने का काम कर रहे हैं, यह दिल्ली की जनता का पैसा है। उन्होंने कहा कि इस 2500 करोड़ रुपए के घोटाले की सीबीआई जांच कराने की मांग को लेकर, आज आम आदमी पार्टी के विधायक एवं निगम पार्षद दिल्ली के माननीय उप राज्यपाल के घर और देश के गृहमंत्री अमित शाह जी के घर मुलाकात के लिए गए थे। आतिशी ने कहा कि यह बड़े ही दुख की बात है कि अपने ही राज्य के उप राज्यपाल महोदय से और अपने देश के गृहमंत्री से जब दिल्ली की जनता द्वारा चुने हुए आम आदमी पार्टी के विधायक एवं निगम पार्षद मिलने की कोशिश करते हैं, तो दिल्ली की पुलिस जो सीधे तौर पर देश के गृहमंत्री अमित शाह जी के अधीन आती है, हमारे विधायकों को घर से निकलने से पहले ही गिरफ्तार कर लेती है और स्थानीय थाने में घंटों तक बैठा कर रखी है। एक प्रत्यक्षदर्शी होने के नाते आतिश ने बताया कि मैं और आम आदमी पार्टी के नगर निगम के तीनों नेता विपक्ष जब उप राज्यपाल महोदय के घर उनसे इस घोटाले की जांच करने की अपील को लेकर मिलने पहुंचे, तो उनके घर के बाहर इतनी तादाद में पुलिस तैनात थी कि मानो उपराज्यपाल का घर नहीं, दिल्ली पुलिस की छावनी हो। उन्होंने कहा कि हमने पुलिस को बताया भी कि हम कोई प्रदर्शन करने नहीं, बल्कि जनता की खून पसीने की गाढ़ी कमाई के 2500 करोड़ रुपए के घोटाले की सीबीआई जांच कराने की अपील करने के लिए उप राज्यपाल महोदय से मिलने आए हैं।

भारतीय जनता पार्टी पर बड़े आरोप लगाते हुए आतिशी ने कहा कि आज सुबह की घटना से पहले तक हमें यह लग रहा था कि यह घोटाला भारतीय जनता पार्टी के निगम पार्षदों ने किया है। परंतु जिस प्रकार से सुबह केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह जी की पुलिस ने हमारे विधायकों को घर के बाहर ही गिरफ्तार कर लिया और जिस प्रकार से उप राज्यपाल महोदय के घर पुलिस की छावनी बना दी गई, हम लोगों के साथ बर्बरता पूर्ण व्यवहार किया गया, उसको देखकर अब यह लगने लगा है कि इस घोटाले के तार भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व तक पहुंचते हैं। भाजपा के बड़े नेता भी इस घोटाले में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि पिछले कुछ दिनों से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के घर के बाहर जो भाजपा के मेयर और निगम पार्षद एक मनगढ़ंत राशि की मांग को लेकर धरने पर बैठे हुए हैं, यह एक सोची समझी साजिश के तहत किया जा रहा है। ताकि देश की और दिल्ली की जनता का एवं साथ ही साथ मीडिया का ध्यान उत्तरी दिल्ली नगर निगम में हुए 2500 करोड़ रुपए के घोटाले से भटकाया जा सके। मीडिया के माध्यम से प्रश्न पूछते हुए आतिशी ने कहा कि हम माननीय उप राज्यपाल महोदय और देश के गृहमंत्री माननीय श्री अमित शाह जी से जानना चाहते हैं कि आखिर भाजपा के वह कौन से बड़े नेता हैं, जिनको बचाने के लिए उपराज्यपाल और अमित शाह जी ने इस प्रकार की कार्यवाही भाजपा के विधायकों और निगम पार्षदों के साथ करवाई तथा विधायकों से मिलने से इनकार कर दिया। 

एक मुहावरे के साथ अपना संबोधन शुरू करते हुए, प्रेस वार्ता में मौजूद आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि हम एक मुहावरा सुनते थे ‘सांच को आंच नहीं’ परंतु आज भारतीय जनता पार्टी ने इस मुहावरे को बदलकर ‘घोटाले को जांच नहीं’ कर दिया है। उन्होंने कहा कि हमने कल ही दिल्ली पुलिस को लिखित रूप में इस बात की सूचना दी थी कि हम कल माननीय केंद्रीय गृहमंत्री जी के आवास पर, नगर निगम में हुए 2500 करोड रुपए के घोटाले की सीबीआई जांच कराने की मांग को लेकर मिलने जाएंगे। परंतु बड़े ही अफसोस की बात है कि दिल्ली पुलिस ने हमें हमारे घर से निकलने ही नहीं दिया। दिल्ली पुलिस ने हमें धमकी दी कि यदि हम अपने घर से बाहर निकले, तो हमें हिरासत में ले लिया जाएगा और बिल्कुल वैसा ही हुआ। जैसे ही हम माननीय गृहमंत्री अमित शाह जी से मिलने के लिए अपने घर से बाहर निकले, दिल्ली पुलिस ने मुझे और आम आदमी पार्टी के अन्य कई विधायकों को हमारे घरों के बाहर से ही हिरासत में ले लिया और सभी को स्थानीय थानों में घंटो तक बैठा कर रखा।

राघव चड्ढा ने कहा कि हम नगर निगम में हुए 2500 करोड़ रुपए के घोटाले की बात न करें, इस घोटाले के विरोध में आवाज न उठाएं, सिर्फ इसीलिए ही अमित शाह जी की पुलिस हम लोगों को गिरफ्तार कर रही है, हम लोगों को डराने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि आज की यह घटना इस बात को सत्यापित करती है कि भाजपा के कई बड़े नेताओं का हाथ इस घोटाले में शामिल है। यही कारण था कि आज हमें बिना किसी वजह के गैरकानूनी तरीके से कई घंटों तक हिरासत में रखा गया। राघव चड्ढा ने कहा कि जब मैंने दिल्ली पुलिस के अधिकारियों से हमें हिरासत में लेने का कारण पूछा तो उन्होंने कहा, कि धारा 144 लगी हुई है। मैंने कहा कि धारा 144 तो 4 से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर लागू होती है और हम तो केवल चार ही लोग हैं, तो इस पर दिल्ली पुलिस के अधिकारी उल जलूल जवाब देने लगे। उन्होंने कहा, क्योंकि पूरे देश में महामारी फैली हुई है, तो सुरक्षा के मद्देनजर एक जगह पर बहुत ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते। मीडिया के माध्यम से प्रश्न पूछते हुए राघव चड्ढा ने कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कि क्या महामारी के लिए दिल्ली पुलिस का कानून आम आदमी पार्टी के लिए अलग और भारतीय जनता पार्टी के लिए अलग है? उन्होंने कहा कि पिछले कई दिनों से दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल जी के घर के बाहर भारतीय जनता पार्टी के मेयर और निगम पार्षद पूरी व्यवस्था के साथ दिल्ली पुलिस के ही संरक्षण में बैठे हुए हैं, दिल्ली पुलिस उन्हें सभी सुख सुविधाएं उपलब्ध करा रही है। दिल्ली पुलिस बताएं कि क्या भाजपा के लोगों के लिए महामारी नहीं है? केवल आम आदमी पार्टी के लोगों के लिए ही महामारी के नियम कानून हैं? क्या इस देश की राजधानी दिल्ली में दो अलग-अलग प्रकार के कानून है। एक कानून जो भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के लिए लागू होता है और दूसरा कानून जो आम आदमी पार्टी के विधायकों के खिलाफ असंवैधानिक तरीके से लागू किया जाता है? कटाक्ष करते हुए राघव चड्ढा ने कहा कि यदि ऐसा है, तो भविष्य में इस प्रकार का कोई भी कानून लागू करते हुए भाजपा की दिल्ली पुलिस को उस नोटिफिकेशन में यह लिखना चाहिए कि यह कानून भाजपा के लोगों को छोड़कर, दिल्ली की समस्त जनता पर लागू होता है।

मुख्यमंत्री के घर के बाहर बैठे हुए भाजपा के मेयर और निगम पार्षदों के आधारहीन विरोध प्रदर्शन पर कटाक्ष करते हुए राघव चड्ढा ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि वह लोग मुख्यमंत्री के घर के बाहर बैठकर यह मांग कर रहे हैं कि नगर निगम में 2500 करोड़ रुपए का घोटाला तो हमने कर लिया है, परंतु अभी भी हमारी भूख नहीं मिटी है। तो दिल्ली सरकार हमें 13000 करोड रुपए और दे, ताकि हम जनता के खून पसीने की गाढ़ी कमाई से दिए गए टैक्स के 13000 करोड रुपए का भी गबन कर सकें। उन्होंने कहा कि यह बात बार-बार हाई कोर्ट द्वारा भी दोहराई गई, यही बात कई राजनीतिक दलों के द्वारा भी कही गई, यहां तक कि खुद भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने इस बात को स्वीकारा है और आज मैं इस मीडिया के माध्यम से पूरी जिम्मेदारी के साथ इस बात को फिर से एक बार कहना चाहता हूं कि आज दिल्ली में एमसीडी का मतलब मोस्ट करप्ट डिपार्टमेंट हो गया है। यही कारण रहा है कि हर बार निगम के चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी अपने तमाम मौजूदा निगम पार्षदों की टिकट काट देती है और उनकी जगह पर नए चेहरों को भ्रष्टाचार करने के लिए खड़ा कर देती है।

राघव चड्ढा ने मीडिया के माध्यम से केंद्र सरकार से नगर निगम में हुए 2500 करोड रुपए के घोटाले की निष्पक्ष सीबीआई जांच कराने की मांग करें। साथ ही साथ उन्होंने कहा कि हम दिल्ली पुलिस को भी चेतावनी देना चाहते हैं कि एक राज्य में दो अलग-अलग राजनीतिक दलों के लिए दो प्रकार के कानून बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे।

Have something to say? Post your comment
More National News
विधायक राघव चड्ढा ने सर गंगाराम अस्पताल का दौरा किया, कोविड-19 टीकाकरण अभियान की जानकारी ली
झुग्गीवासियों के पूर्ववास के लिए 9315 फ्लैट्स बनकर तैयार, सीएम केजरीवाल ने आवंटन दिए निर्देश
चुनाव से पहले एमसीडी को पूरी तरह से लूटने के इरादे से भाजपा शासित दक्षिणी नगर निगम ने पार्षद निधि 50 लाख से बढ़ाकर 1 करोड़ रुपए करने की घोषणा की है- सौरभ भारद्वाज
देवभूमि उत्तराखंड की पीड़ा को उजागर करता है यह कवि सम्मेलन : उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया
दिल्ली और पंजाब के बाहर महाराष्ट्र में ‘आप’ ने 96 सीटें जीती, सोशल मीडिया पर विजेताओं को दी बधाईयां
मोहल्ला सभाओं में आकर जनता खुद कर रही BJP के भ्रष्टाचार का खुलासा, जनता में भाजपा के प्रति जबरदस्त गुस्सा आम आदमी पार्टी ने अपने हक की लड़ाई लड़ रहे बेरोजगार शिक्षकों का किया समर्थन ‘आप’ ने स्थानीय चुनाव में कांग्रेस द्वारा सरकारी तंत्र के दुरुपयोग की आशंका जताई
बिहार में हजारों स्टूडेंट्स का भविष्य खतरे में, ‘आप’ सांसद संजय सिंह ने सीएम नीतीश को लिखा पत्र
जनता ने एमसीडी में आम आदमी पार्टी की सरकार बनाकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को विश्व स्तरीय बनाने का मन बना लिया है- दुर्गेश पाठक