Monday, September 21, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
‘आप’ प्रदेश उपाध्यक्ष भानुप्रकाश ने स्वास्थ्य कर्मियों की हड़ताल को लेकर मंत्री टीएस पर किया पलटवारपटना में ‘आप’ ने आयोजित की मोहल्ला सभा, 2 सूत्री मांग पर कॉलोनी वासियों ने CM को भेजा प्रस्तावलोगों के सामूहिक प्रयासों से पिछले साल की तरह इस बार भी डेंगू को हराने में मदद मिलेगी: केजरीवाल‘आप’ ने तीन अहम नियुक्तियों का किया ऐलान, बरसट, नीना मित्तल और सुखी को मिली नई जिम्मेवारियांमोदी सरकार के हाथ में हैं शाही परिवार और बादलों की दुखती रग - हरपाल सिंह चीमाकिसानों के साथ कृषि बिल के नाम पर छलावा : ‘आप’दिल्ली सरकार ने ‘हर रविवार डेंगू पर वार’ अभियान में दिल्लीवासियों से सहयोग की अपील कीकृषि बिल के विरुद्ध वोट डालने के बारे में कोरा झूठ बोल रहे हैं सुखबीर सिंह बादल - भगवंत मान
National

डिजिटल संवाद: दिल्ली के व्यापारियों ने अर्थव्यवस्था को गति देने के संबंध में सीएम केजरीवाल से की बातचीत

August 23, 2020 10:03 PM

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के व्यापारियों के लिए दिल्ली सरकार लांच करेगी ऑनलाइन 'दिल्ली बाजार', पूरी दुनिया जान सकेगी कि दिल्ली में क्या माल बनता या बिकता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के मार्केट अंतरराष्ट्रीय मानकों के होने चाहिए। हमने चांदनी चौक का ट्रायल आधार पर पुर्नविकास किया है। इसी तर्ज पर बाकी मार्केट और दिल्ली की सभी सड़कों को भी खूबरसूरत बनाएंगे। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए दिल्ली सरकार ने डीजल के दाम कम किए और रोजगार बाजार पोर्टल शुरू करने के साथ कई सारे कदम उठाए हैं। दिल्ली में सार्वजनिक परिवहन की समस्या को खत्म करने के लिए हम केंद्र सरकार से लगातार बात कर रहे हैं और उम्मीद है कि केंद्र सरकार जल्द ही मेट्रो शुरू करने की अनुमति दे देगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज यह बातें दिल्ली की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के उद्देश्य से दिल्ली के सभी व्यापारियों के साथ वर्चुअल संवाद के दौरान कही। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कोरोना महामारी की वजह से दिल्ली की अर्थव्यवस्था को पहुंचे नुकसान की भरपाई करने और कारोबार को गति देकर अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के सम्बंध में व्यापारियों से सुझाव मांगे। मुख्यमंत्री ने व्यापारियों से मिले अच्छे सुझावों को आने वाले दिनों में लागू करने का आश्वासन दिया है।

आज की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल ‘आप’ ट्रेड विंग के कन्वीनर बृजेश गोयल ने बताया कि आज की मीटिंग में दिल्ली के तमाम बड़े बाजार चांदनी चैक, सदर बाजार, चावड़ी बाजार, खारी बावली, कश्मीरी गेट, करोल बाग, कनॉट प्लेस, लाजपत नगर, खान मार्केट, साउथ एक्स, सरोजिनी नगर, लक्ष्मी नगर, गांधीनगर, राजौरी गार्डन आदि बाजारों के प्रतिनिधि शामिल हुए। इसके अलावा होटल, रेस्टोरेंट, बैंक्विट, ट्रांसपोर्ट व सैलून पार्लर आदि के साथ बड़ी संख्या में महिला कारोबारी भी उपस्थित रहीं। आज की मीटिंग में बड़ी संख्या में व्यापारियों ने अपने सुझाव दिए, जो व्यापारी समय के अभाव के कारण आज अपनी बात नहीं रख पाए, उनसे भी सुझाव मांगे गए हैं और अगले कुछ दिनों में दिल्ली के हर एक मार्केट और अलग-अलग सेक्टर के व्यापारियों से भी सुझाव आ जाएंगे।

दिल्ली के लोगों ने काबिले तारीफ काम किया है, आज दिल्ली मॉडल की चर्चा देश और विदेश में हो रही है- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम सभी के लिए पिछला पांच-छह महीना बहुत ही मुश्किल भरा गुजरा है। पूरा देश और पूरी दुनिया इस समय कोरोना महामारी से जूझ रही है। कहा जा रहा है कि मानव जाति के इतिहास में इतनी बड़ी समस्या कभी नहीं आई थी। बताया जाता है कि 1918 में स्पैनिस फ्लू आया था, जो कोरोना की तरह ही था। अब 100 साल के बाद यह महामारी आई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना बीमारी को नियंत्रित करना सबसे महत्वपूर्ण हैै ताकि किसी को यह बीमारी न हो और लोगों की मौतें न हो। दूसरी तरफ, कोरोना की वजह से लोगों की जिंदगी, लोगों के व्यापारी, लोगों की नौकरी, जो अस्त व्यस्त हो गई हैं, उनको पटरी पर लेकर आना है। मुझे खुशी है कि दिल्ली में कोरोना की स्थिति आज काफी ज्यादा नियंत्रण में आ चुकी है। जून के महीने में 15-20 दिन के लिए स्थिति थोड़ी चिंता जनक हो गई थी। लेकिन अब दिल्ली के दो करोड़ लोगों, सभी संस्थाओं, केंद्र सरकार, धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं की मदद आदि से कोरोना को नियंत्रित करने में मदद मिली है। इस दौरान व्यापारियों ने हमारी मदद की और हम इसके लिए सभी व्यापारियों का धन्यवाद करते हैं। लॉकडाउन के दौरान व्यापारियों ने गरीबों को खूब खाना बांटा। कई हंगर केंद्रों पर भी व्यापारियों ने मदद की। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के दो करोड़ लोग, हम सभी एक परिवार की तरह हैं। हमारा यह दो करोड़ लोगों का एक परिवार है। इस परिवार ने मिल कर जिस तरह से दिल्ली में काम किया, वह काफी काबिले तारीफ है और दिल्ली माॅडल की चर्चा आज देश और विदेश में हो रही है।

पिछले सप्ताह इंडस्ट्री के लोगों ने कई अच्छे सुझाव दिए हैं, आने वाले दिनों में कुछ बड़ी घोषणाएं की जाएंगी- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं समझ सकता हूं कि इस दौरान अर्थव्यवस्था का काफी बुरा हाल हो गया है। आप सभी लोगों को काफी कठिन दौर से गुजरना पड़ रहा है। बहुत सारे लोगों के काम धंधे चैपट हो गए हैं। बहुत सारे लोगों की नौकरियां चली गई हैं। दिल्ली के लोगों ने मिल कर पिछले पांच साल में बहुत बड़े-बड़े कारनामे किए हैं। मैं आप सभी लोगों को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि हम सभी मिल कर अर्थव्यवस्था को भी ठीक कर लेंगे। हम लोगों ने दिल्ली में 25 प्रतिशत प्रदूषण कम किया। पिछले साल हम लोगों ने डेंगू पर नियंत्रण पाया। इस साल हम लोगों ने कोरोना को नियंत्रित किया और अब हम सभी लोग मिल कर अर्थव्यवस्था को भी ठीक करेंगे। हम सब लोग इसके लिए प्रयास कर रहे हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले सप्ताह मैने इंडस्ट्री के लोगों से इसी तरह से वर्चुअल मीटिंग की थी। उन्होंने भी बहुत अच्छे-अच्छे सुझाव दिए थे। कुछ लोगों ने बाद में लिखकर भी कई सुझाव दिए थे। मैं उनके ऊपर पर काम कर रहा हूँ, और आने वाले दिनों में कुछ बड़ी घोषणाएं भी होने वाली हैं।

हमारे वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया व्यापारियों से सलाह करने के बाद जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में जाते हैं और कई मांगें बैठक में रखी गई- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि करीब साढ़े पांच वर्ष पहले जब दिल्ली में पहली बार आम आदमी पार्टी की सरकार बनी थी, उस वक्त दिल्ली में व्यापारियों को ढेर सारी समस्याएं होती थी। व्यापारियों के साथ बैठ कर हमने उन सभी समस्याओं पर गौर किया और कई सारे ऐसे कदम उठाए, जो व्यापारियों को भी नहीं यकीन था कि इस तरह से भी हो सकता है। अब जीएसटी आ गया, लेकिन उस समय वैट हुआ करता था। सीएम ने याद दिलाते हुए कहा कि हमने न केवल वैट का सरलीकरण किया, बल्कि हमने कई प्रोडक्टर के ऊपर वैट के रेट 12 प्रतिशत को घटा कर सीधे 5 प्रतिशत कर दिया। यह काम हमने बिना किसी दबाव के किया था। जब से दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार आई है, तब से दिल्ली में हमने इंस्पेक्टर राज और रेड राज खत्म कर दिया है। पहले कितने इंस्पेक्टर और अधिकारी व्यापारियों को तंग किया करते थे। अब जीएसटी वालों से उतनी तकलीफ नहीं होती है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारे वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया जी जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में पहले व्यापारियों से सलाह करके जाते हैं। मुझे नहीं लगता है कि किसी भी राज्य के वित्त मंत्री जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में अपने व्यापारियों से चर्चा करके जाते होंगे। आप लोगों की जो भी वास्तविक मांगें थीं, उनमें से कई मांगें जीएसटी कांउसिल की बैठक में रखी गई। उसकी वजह से काउंसिल ने कई सारे निर्णय लिए। आप लोगों के सुझाव पर कई चीजों पर फैसले भी हुए। 

लॉकडाउन खोलने के बाद हमने राज्य में दोबारा लॉकडाउन नहीं लगाया- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना महामारी में जब-जब, जैसे-जैसे केंद्र सरकार जो चीजें खोलती गई, हमने उन सभी चीजों को उनके साथ-साथ खोलने की कोशिश की। एक जून से केंद्र सरकार ने लॉकडाउन खोला, हमने भी लॉकडाउन खोला। लाॅकडाउन को खोलने के 15-20 दिन बाद तक थोड़ी समस्याएं हुई। केस बढ़े, लेकिन हमने दोबारा लॉकडाउन नहीं लगाया। हमने एक बार निर्णय ले लिया था, क्योंकि हम नहीं चाहते थे कि कोरोना से बच जाएं और भूखमरी से मर जाएं। हमें दोनों के बीच में संतुलन करना बेहद जरूरी है। एक तरफ कोरोना को कम करना भी जरूरी है और दूसरी तरफ जिंदगी भी जीनी है। कहीं ऐसा न हो कि काम धंधे के अभाव में लोगों को रोटी खाने को न मिले और लोग भूखमरी से मर जाएं। जब से हमने लॉकडाउन खोला, उसके बाद पूरे देश में दिल्ली इकलौता शहर है, जहां दोबारा लॉकडाउन नहीं लगा। कई राज्यों में दो दिन, शनिवार और रविवार और कई राज्यों में कुछ दिन के लिए दोबारा लॉकडाउन लगाया गया। हम सभी ने मिलकर कोरोना को इस तरह से नियंत्रित किया कि हमने अपने राज्य में दोबारा लॉकडाउन लगाने की नौबत नहीं आने दी।

जनता महंगाई बर्दाश्त नहीं कर सकती, तो सरकार का फर्ज बनता है कि वो जनता को सहूलियत दे- अरविंद केजरीवाल

वर्चुअल संवाद के दौरान होटल खोलने का सुझाव दिया गया, इसका जवाब देते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बीते शुक्रवार को होटल खोलने के आदेश हो चुके हैं। दिल्ली में सभी होटल खुल चुके हैं। जो लोग अपना होटल खोलना चाहते हैं, वो खोल सकते हैं। साप्ताहिक बाजार भी खोल दिए गए हैं। इसके अलावा, व्यापार और अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए और भी कई कदम उठाए गए हैं। संभवतः भारत के इतिहास में पहली बार हुआ होगा, जब डीजल के रेट एकदम से 8 रुपये प्रति लीटर कम कर दिए गए। बीते 70 साल में इतनी ज्यादा कमी करने की किसी की हिम्मत नहीं हुई होगी। कुछ लोगों ने हमसे कहा था कि एक तरह आप कह रहे हैं कि सरकार को राजस्व नहीं आ रहा है और दूसरी तरफ इतना रेट कम कर दिए। सीएम ने कहा कि हमें जनता का ख्याल रखना है। सरकार जनता के लिए चलती है और जनता अगर इतनी महंगाई बर्दाश्त नहीं कर सकती है, तो सरकार का फर्ज बनता है कि वो जनता को सहूलियत दे। डीजल व पेट्रोल के रेट कम करने से सभी चीजों पर असर पड़ता है। इसलिए हमने डीजल का रेट कम किया। रेहड़ी पटरी, होटल, साप्ताहिक बाजार को खोलने की अनुमति दे दी है। 

स्टार्टअप पाॅलिसी पर भी सभी लोग अपने सुझाव दें- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम लोगों ने एक स्टार्टअप पाॅलिसी पब्लिक डोमिन में डाली है, उस पर भी हम लोगों ने सुझाव मांगे है। यदि नए बिजनेस शुरू करने हों, तो उसमें आप लोग अपने सुझाव दे सकते हैं। इसके अलावा, हमने रोजगार बाजार पोर्टल शुरू किया। यह एक ऐसी पहल है, जिसका बहुत ज्यादा रिस्पाॅस आ रहा है। कई सारे दुकान, व्यापारी और उद्यमियों का कहना था कि कोरोना के पहले हमारा 35 लोगों का स्टाफ था। कोरोना में सभी लोग अपने घर चले गए और अब नए स्टाफ नहीं मिल रहे हैं। एक तरफ, सारा स्टाफ चले जाने से व्यापारियों और उद्यमियों को तकलीफ हो रही थी और दूसरी तरफ लोग कह रहे थे कि हमारी नौकरी चली गई। अब इस पोर्टल पर नौकरी देने वाले भी हैं और नौकरी लेने वाले भी हैं। हम लोगों ने रोजगार बाजार जब शुरू किया था, तब उम्मीद नहीं थी कि इतना ज्यादा रिस्पाॅस आएगा। आज मुझे खुशी है कि इसमें लगभग 8.5 से 9 हजार कंपनियां पंजीकरण कर चुकी हैं और उन्होंने लाखों वैकेंसी डाली हैं और दूसरी तरफ जॉब के लिए लाखों लोग आवेदन भी कर रहे हैं। लोगों को इसकी मदद से बड़ी संख्या में नौकरी मिल रही है, व्यापारी और उद्यमियों के स्टाफ मिल रहा है।

बैंकों से बात कर लोन लेने में आ रही दिक्कतों को दूर करने की कोशिश करेंगे- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब मैने व्यापारियों के साथ बैठक करने की घोषण की, तो कई लोगों के हमारे पास लिखित सुझाव भी आए थे। उसमें एक सुझाव आया कि आत्मनिर्भर भारत की जो लोन देने की योजना है, उसके तहत आवेदन करने और लोन लेने में लोगों को दिक्कत आ रही है। हम निर्धारित बैंकों के साथ बात करेंगे और उसमें जो भी दिक्कत आ रही है, उन दिक्कतों को दूर करने की कोशिश करेंगे। बैंक के साथ बात करके इस प्रक्रिया को सरल करने की कोशिश करेंगे। एक अन्य सुझाव आया था, जैसे मान लिया जाए कि कोई इंडस्ट्रीयल एरिया या कोई मार्केट है। उस मार्केट या इंडस्ट्रीयल एरिया में उद्योग या दुकान हैं, तो उनका अगर हम एक पोर्टल बना दें कि उस मार्केट में जिन लोगों की दुकान हैं, वो क्या माल बेचते हैं, या उस की मदद से उन्हें पूरी दुनिया से ऑर्डर मिल सकते हैं और पूरी दुनिया के साथ संबंध स्थापित कर सकते हैं। इसको हम दिल्ली बाजार कह सकते हैं। दिल्ली का बाजार एक पोर्टल के उपर आ जाएगा, जिसमें इंडस्ट्री और मार्केट वाले आएंगे और अपने प्रोडक्ट को प्रमोट कर सकेंगे, जिसे पूरी दुनिया के लोग उसे देख सकते हैं। कुछ लोगों ने पब्लिक ट्रांसपोर्ट को लेकर सुझाव दिए हैं, मैं इससे पूरी तरह से सहमत हूँ, पब्लिक ट्रांसपोर्ट की बहुत ज्यादा दिक्कत हो रही है। हमने केंद्र सरकार से इस बात का अनुरोध किया है कि दिल्ली को बाकी राज्यों से थोड़ा अलग समझा जाए। दिल्ली के अंदर अब कोरोना की स्थिति ठीक हो रही है। दिल्ली में हम अब मेट्रो खोलना चाहते हैं। बाकी राज्य में मेट्रो नहीं खोलना चाहते हैं, न खोलिए, लेकिन दिल्ली में चरणबद्ध तरीके से मेट्रो को चलने की अनुमति दी जाए। चाहे ट्रायल के आधार पर ही अभी अनुमति दी जाए। मुझे उम्मीद है कि केंद्र सरकार इस दिशा में जल्द ही निर्णय लेगी, ताकि लोगों को सहूलियत मिल सके। हमने कई बार यह मुद्दा केंद्र सरकार के सामने उठाया है। 

वर्चुअल संवाद के दौरान मिले सुझावों पर अमल कर आने वाले दिनों में लागू करने की कोशिश करेंगे- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमने चांदनी चौक का पुर्नविकास किया है, चांदनी चौक बेहद ही खूबसूरत हो गया है। मैं समझता हूँ कि नवंबर-दिसंबर तक बन कर तैयार हो जाएगा। दिल्ली के दूसरी मार्केट वाले जब चांदनी चौक जा रहे हैं, तो वो भी कह रहे हैं कि हमारी मार्केट भी ऐसी ही होनी चाहिए। मैं आप सभी लोगों को विश्वास दिलाना चाहता हूँ कि यह हमारे लिए एक पायटल प्रोजेक्ट था। अब धीरे-धीरे करके दिल्ली की सारी मार्केट और दिल्ली की सभी सड़कें भी इतनी खूबसूरत करेंगे, जैसा हम लोगों ने चांदनी चौक मार्केट की है। सर्कल रेट का एक मुद्दा आया था। मैं समझता हूँ कि दिल्ली के अंदर कुछ एरिया हैं, जहां पर सर्कल रेट मार्केट रेट से भी बहुत ज्यादा हैं और वहां बहुत दिक्कत हो रही है। सर्कल रेट की विसंगतियों को दूर करने के लिए हम जल्द ही इस पर काम शुरू करेंगे। मार्बल, ऑटो मोबाइल और विमेन एंटरप्रिंन्योर के सुझाव आए हैं, उन सभी लोगों के सुझाव नोट किए गए हैं। उन सभी सुझावों पर काम करेंगे। मार्केट इंफ्रास्ट्रक्चर को ठीक करने के सुझाव आए हैं, उनको हम जरूर ठीक करेंगे। दिल्ली की मार्केट अंर्तराष्ट्रीय मानक के आधार पर होनी चाहिए। चांदनी चैक को ट्रायल बेसिस पर हमने किया है, उसी तर्ज पर हम बाकी मार्केट की समस्या भी आने वाले समय में दूर करेंगे। सीएम ने अनुरोध किया कि सभी लोग अपने सुझाव लिख कर के भी भेज दीजिए। जो सुझाव कम समय में लागू हो सकते हैं, उनको जल्द लागू करेंगे और जिनमें समय लगेगा, उसको भी लागू करेंगे। 

व्यापारियों ने मुख्यमंत्री से बातचीत के दौरान दिए सुझाव---
1-निर्माण उद्योग से जुड़े व्यापारी हर्ष वर्धन ने बंसल ने सुझाव दिया कि दिल्ली में जमीन खरीदने पर सर्कल रेट पर तीन गुना ड्यूटी देनी पड़ती है, उसे रिव्यू किया जाए। दिल्ली में घर खरीदने वालों को बढ़ावा देने के लिए कुछ समय के लिए 6 प्रतिशत स्टाम्प ड्यूटी कम करके 4 यो 5 प्रतिशत कम कर दिया जाए।
2- साउथ एक्स मार्केट के प्रेसिडेंट विजय कुमार ने कहा कि मेट्रो रेल सर्विस जल्द शुरू करा दिया जाए। लोगों के आवागमन की बहुत समस्या हो रही है। बसों में सीमित लोग बैठ सकते हैं। मेट्रो को ग्राहक और कर्मचारी दोनों इस्तेमाल करते हैं। स्टाफ को ड्यूटी आने और घर जाने में दिक्कत हो रही है। 
3- एंटरप्रिन्योर मिनाक्षी दत्त ने कहा कि हम ब्यूटिक, सैलून समेत छोटे-छोटे काम करते हैं। अभी तक हमारे लिए कोई भी ऐसा विभाग या शिकायत सेल नहीं है, जहां पर हम अपनी समस्याएं को बता सकें। उन्होंने सुझाव दिया कि कोई ऐसा सेल बनाया जाए, जो सिर्फ महिला एंटरप्रिन्योर के लिए हो। 
4- दिल्ली मार्बल मार्केट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट प्रवीण गोयल ने कहा कि कंझावला डीएसआईडीसी इंडस्ट्रीयल एरिया में सरकार के पास 300 एकड़ भूमि उपलब्ध है। उसमें से 100 एकड़ जमीन पर एक बड़ा मार्बल फैसिलीटी जोन बनाया जाए, जिससे व्यापारियों को सहूलियत होगी, व्यापार को बढ़ावा मिलेगा और राजस्व में वृद्धि होगी। 
5- चांदनी चौक मार्केट के प्रेसिडेंट संजय भार्गव ने कहा कि पूरी दिल्ली में मार्केट का ढांचा काफी खराब है। जब तक हम ग्राहक को मार्केट में आने की सहूलियत नहीं देंगे, तब तक कोई मार्केट में आने को तैयार नहीं है। मेरा सुझाव है कि सरकार मार्केट के इंफ्रास्ट्रक्चर पर ध्यान दें। पार्किंग आदि की व्यवस्था की जाए।

Have something to say? Post your comment
More National News
सांसद संजय सिंह पर राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किए जाने पर cyss ने खोला यूपी योगी के खिलाफ मोर्चा
‘आप’ प्रदेश उपाध्यक्ष भानुप्रकाश ने स्वास्थ्य कर्मियों की हड़ताल को लेकर मंत्री टीएस पर किया पलटवार
पटना में ‘आप’ ने आयोजित की मोहल्ला सभा, 2 सूत्री मांग पर कॉलोनी वासियों ने CM को भेजा प्रस्ताव
लोगों के सामूहिक प्रयासों से पिछले साल की तरह इस बार भी डेंगू को हराने में मदद मिलेगी: केजरीवाल
‘आप’ ने तीन अहम नियुक्तियों का किया ऐलान, बरसट, नीना मित्तल और सुखी को मिली नई जिम्मेवारियां
मोदी सरकार के हाथ में हैं शाही परिवार और बादलों की दुखती रग - हरपाल सिंह चीमा
किसानों के साथ कृषि बिल के नाम पर छलावा : ‘आप’
दिल्ली सरकार ने ‘हर रविवार डेंगू पर वार’ अभियान में दिल्लीवासियों से सहयोग की अपील की
कृषि बिल के विरुद्ध वोट डालने के बारे में कोरा झूठ बोल रहे हैं सुखबीर सिंह बादल - भगवंत मान
कृषि अध्यादेशों को लेकर राज्यपाल वीपी सिंह से मिलेगा ‘आप’ का शिष्टमंडल