Monday, September 21, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
‘आप’ प्रदेश उपाध्यक्ष भानुप्रकाश ने स्वास्थ्य कर्मियों की हड़ताल को लेकर मंत्री टीएस पर किया पलटवारपटना में ‘आप’ ने आयोजित की मोहल्ला सभा, 2 सूत्री मांग पर कॉलोनी वासियों ने CM को भेजा प्रस्तावलोगों के सामूहिक प्रयासों से पिछले साल की तरह इस बार भी डेंगू को हराने में मदद मिलेगी: केजरीवाल‘आप’ ने तीन अहम नियुक्तियों का किया ऐलान, बरसट, नीना मित्तल और सुखी को मिली नई जिम्मेवारियांमोदी सरकार के हाथ में हैं शाही परिवार और बादलों की दुखती रग - हरपाल सिंह चीमाकिसानों के साथ कृषि बिल के नाम पर छलावा : ‘आप’दिल्ली सरकार ने ‘हर रविवार डेंगू पर वार’ अभियान में दिल्लीवासियों से सहयोग की अपील कीकृषि बिल के विरुद्ध वोट डालने के बारे में कोरा झूठ बोल रहे हैं सुखबीर सिंह बादल - भगवंत मान
National

लोगों के साथ-साथ अपने सीनियर नेताओं का भी विश्वास खो चुके है अमरिन्दर सिंह सरकार - ‘आप’

August 05, 2020 11:50 PM

चंडीगढ़: आम आदमी पार्टी पंजाब ने कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने अपने ही पार्टी के दो सीनियर नेताओं शमशेर सिंह दूलों और प्रताप सिंह बाजवा के बारे में कहा कि उक्त दोनों संसद सदस्यों ने पार्टी का अनुशासन भंग किया है और कांग्रेस पार्टी की पीठ में छूरा मार रहे हैं। जबकि यह मसला कांग्रेस पार्टी का अंदरूनी मसला है कि कौन सा नेता किस को क्या नसीहत देता है, परंतु आज पंजाब के लोग अपनी थाली में छेद और अपनी पीठ में छूरे का दर्द जरूर महसूस कर रहे हैं।

‘आप’ पार्टी हैडक्वाटर से जारी संयुक्त बयान के द्वारा सीनियर नेता और नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा व सीनियर नेता और विधायक अमन अरोड़ा ने कहा कि यह वही कांग्रेस पार्टी है जिस ने 2017 की चुनाव के दौरान पंजाब की जनता के साथ अपने चुनावी मनोरथ पत्र में बड़े-बड़े वायदे किए थे और राजा अमरिन्दर सिंह ने श्री गुटका साहिब की कसम खा कर कहा था कि सत्ता में आने के बाद पंजाब को 4हफ्तों में नशा मुक्त कर देंगे और पंजाब में घर-घर नौकरी, किसानों का पूरा कर्जा माफ, दलितों को 5 मरले प्लाट, 2500 रुपए पैंशन आदि की सुविधा देकर पंजाब को एक खुशहाल पंजाब बना देने के वायदे करके सत्ता हासिल की थी, परंतु अफसोस आज पंजाब की जनता राजा अमरिन्दर सिंह की राज में ढेरों दिक्कतों का सामना और सडक़ों पर उतर कर अपने हक मांग रही है, जिन को राजा अमरिन्दर ने हक तो क्या देने थे उनकी लाठियों के साथ मारपीट की जा रही है।

हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि कांग्रेस सरकार के साढ़े 3साल बीत जाने के बावजूद भी आज पंजाब में नशे समेत हर तरह का माफिया बेखौफ चल रहा है। यदि कोई भी पंजाब हितैषी माफिया के खिलाफ बोलता है तो सुनील जाखड़ राजा अमरिंदर का बचाव करने के लिए आगे आ जाते हैं। चीमा ने कहा कि सुनील जाखड़ शायद भूल गए हैं कि वह भी अपने चुनाव के दौरान लोगों को अपने आप को पंजाब हितैषी साबित करने के लिए उनके साथ बड़े -बड़े वायदे करते कहा कि वह अपनी जीत के बाद बिजली के हुए घातक समझौतों को रद्द करवा कर लोगों को सस्ती बिजली मुहैया करवाएंगे परंतु आज सुनील जाखड़ अपने किए सभी वायदे भूल कर राजा अमरिन्दर सिंह के हक में बोलते नजर आ रहे हैं।

हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि जब आम आदमी पार्टी राजा अमरिन्दर सिंह से बतौर मुख्यमंत्री, गृह मंत्री और आबकारी मंत्री के पद से इस्तीफे की मांग कर रही है तो उनके बचाव के लिए सुनील जाखड़ आगे आ रहे हैं, जो पंजाब की जनता के साथ बड़े-बड़े वायदे करके भूल गए हैं। चीमा ने बहुत ही हैरानी प्रकट करते कहा कि जो भी माफिया राज के खिलाफ बोलता है उसका राजा अमरिन्दर सिंह की जुंडली खास करके सुनील जाखड़ विरोध करते है।

हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि सरकारें लोगों के विश्वास पर आधारित होती हैं, परंतु पंजाब के लोगों और विरोधी गुटों का तो छोड़ो, जिस तरीके से राजा अमरिन्दर सिंह की सरकार अपने लोगों और सीनियर नेताओं का विश्वास गवा चुकी है, ऐसे हालातों में राजा अमरिन्दर सिंह को कोई भी नैतिक अधिकार नहीं है कि वह एक दिन भी सत्ता पर काबिज रहें, उनको तुरंत अपने मुख्यमंत्री समेत सभी पदों से इस्तीफा दे देना चाहिए।

अमन अरोड़ा ने कहा, ‘‘मैं कैप्टन अमरिन्दर सिंह को ‘राजा अमरिन्दर सिंह’ इस लिए कहा क्योंकि जो कैप्टन होते हैं, वह समय आने पर दिलेरी के साथ आगे हो कर लड़ाई लड़ते हैं, और जो राजा-महाराजा होते हैं वह अपने महलों में बेफिक्र हो कर आराम फरमा रहे होते हैं। इस लिए कैप्टन अमरिन्दर सिंह पंजाब के कैप्टन नहीं बल्कि एक राजा हैं जो पंजाब की जनता के दुख-दर्दों को भूला कर बेफिक्र अपने फार्म हाऊस पर आराम फरमा रहे हैं।’’

अमन अरोड़ा ने कहा कि राजा अमरिन्दर सिंह और सुनील जाखड़ नसीहत बहुत दे रहे हैं। पिछले दिनों दौरान राजा अमरिन्दर ने दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल को नसीहत दी कि लाशों पर राजनीति न करें, मैं (अमन अरोड़ा) पूछना चाहता हूं कि इन 110 परिवारों के कमाऊ सदस्यों को लाशों में किस ने ‘कनवर्ट’ किया है? इन मौतों के जिम्मेदार खुद राजा अमरिन्दर सिंह ही हैं, क्योंकि कांग्रेस सरकार की गलत नीतियां और नशे के तस्करों को दी गई खुल का ही नतीजा है कि आज उक्त परिवारों के कमाऊ सदस्यों की मौत हुई है।

अमन अरोड़ा ने कांग्रेस के प्रधान सुनील जाखड़ को अपील करते कहा कि आप एक नसीहत राजा अमरिन्दर सिंह को भी दें कि राज-धर्म नाम की भी एक चीज होती है जो खास करके मुख्य मंत्री ने निभानी होती है, जिसको राजा अमरिन्दर सिंह भूले बैठे हैं।

अमन अरोड़ा ने कहा कि महाराजा अमरिन्दर जी फार्म हाऊस पर बैठ कर ‘लीप सर्विस’ करने से न तो पीडि़त परिवारों को इंसाफ मिलेगा और न ही ढेरों दिक्कतों का सामना कर रही पंजाब की जनता को कोई राहत मिलेगी।

Have something to say? Post your comment
More National News
सांसद संजय सिंह पर राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किए जाने पर cyss ने खोला यूपी योगी के खिलाफ मोर्चा
‘आप’ प्रदेश उपाध्यक्ष भानुप्रकाश ने स्वास्थ्य कर्मियों की हड़ताल को लेकर मंत्री टीएस पर किया पलटवार
पटना में ‘आप’ ने आयोजित की मोहल्ला सभा, 2 सूत्री मांग पर कॉलोनी वासियों ने CM को भेजा प्रस्ताव
लोगों के सामूहिक प्रयासों से पिछले साल की तरह इस बार भी डेंगू को हराने में मदद मिलेगी: केजरीवाल
‘आप’ ने तीन अहम नियुक्तियों का किया ऐलान, बरसट, नीना मित्तल और सुखी को मिली नई जिम्मेवारियां
मोदी सरकार के हाथ में हैं शाही परिवार और बादलों की दुखती रग - हरपाल सिंह चीमा
किसानों के साथ कृषि बिल के नाम पर छलावा : ‘आप’
दिल्ली सरकार ने ‘हर रविवार डेंगू पर वार’ अभियान में दिल्लीवासियों से सहयोग की अपील की
कृषि बिल के विरुद्ध वोट डालने के बारे में कोरा झूठ बोल रहे हैं सुखबीर सिंह बादल - भगवंत मान
कृषि अध्यादेशों को लेकर राज्यपाल वीपी सिंह से मिलेगा ‘आप’ का शिष्टमंडल