Thursday, September 24, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
किसान विरोधी बिल के खिलाफ 25 सितम्बर को ‘भारत बंद’ में शामिल रहेगी ‘सीवाईएसएस’मोदी सरकार जनता की गाढ़ी कमाई से अखबारों में अंग्रेजी में विज्ञापन देकर अपना चेहरा चमका रही: राघव चड्ढाकिसानों के साथ भद्दा मजाक व फरेबी शरारत है गेहूं के दाम में मामूली वृद्धि - हरपाल सिंह चीमाकिसान बिल के विरोध में आम आदमी पार्टी के सदस्यों ने पटना में किया विरोध प्रदर्शनकिसान विरोधी बिल पास कर भाजपा का किसान हितैषी चेहरा हुआ नंगा : काका बराड़कृषि बिल पर केंद्र की मनमानी, किसानों के अस्तित्व को खतरा - ‘आप’लगातार बढ़ रहा AAP का कुनबा, विकासनगर के लक्ष्मीपुर क्षेत्र में ‘आप’ कार्यालय का शुभारम्भAAP की मजबूती और 2022 में सरकार बनाने के लिए दिन-रात एक कर देंगे - हरचन्द सिंह बरसट
National

प्रधानाचार्य स्कूल के गार्डियन, उनके नेतृत्व में हमें भरोसा है, 98% रिजल्ट के पीछे उनका नेतृत्व: मनीष सिसोदिया

August 05, 2020 05:35 PM

नई दिल्ली: कल मंगलवार को उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने अपने स्कूल में पिछली बार की तुलना में इस बार सबसे ज्यादा पास पर्सेटेज या क्वालिटी इंडेक्स में बढ़त दर्ज करने वाले सरकारी स्कूलों के 19 प्राचार्यों से आज बातचीत की, और कहा कि स्कूल में प्राचार्य ही सभी बच्चों के अभिभावक हैं, इसलिए उन पर सबसे ज्यादा दायित्व है। श्री सिसोदिया ने कहा कि आपके नेतृत्व पर हमें पूर्ण भरोसा है और बार्ड परीक्षाओं में शानदार रिजल्ट आपलोगों की बदौलत ही संभव हुआ है। 

दिल्ली सचिवालय में आयोजित इस बैठक में श्री सिसोदिया ने खास तौर पर उन रणनीतियों के बारे में बात की जिसके कारण बोर्ड परीक्षाओं में अच्छे नतीजे हासिल हुए। श्री सिसोदिया ने भविष्य में शत-प्रतिशत नतीजे हासिल करने की दिशा में सुझाव भी मांगे और अब तक की कमियों पर भी खुलकर विचार मांगे।

पांच साल पहले जब दिल्ली में सरकार बनी थी, तब हमने शिक्षा को पहली प्राथमिकता में रखा था, आज लगता है कि हमारा वह निर्णय बिल्कुल सही था: सिसोदिया

श्री सिसोदिया ने कहा कि पांच साल पहले जब दिल्ली में श्री अरविंद केजरीवाल जी के नेतृत्व में सरकार बनी थी, तब हमने शिक्षा को पहली प्राथमिकता में रखा था। आज लगता है कि हमारा वह निर्णय बिल्कुल सही था। हमें पांच साल के भीतर काफी उत्साहवर्द्धक नतीजे देखने को मिले हैं। समाज के ऐसे पीछे छूटे हुए वंचित तबके के बच्चे भी अब अच्छी तरह पढ़कर टाॅपर बन रहे हैं और मां-बाप का नाम रोशन कर रहे हैं। दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षाओं में शानदार प्रदर्शन के पीछे आपके शिक्षण दृष्टिकोण और रणनीतियों को समझने तथा आपको व्यक्तिगत रूप से बधाई देने के उद्देश्य से आपको आमंत्रित किया है। हम इस पर भी खुलकर चर्चा करें कि अब तक क्या कमी रह गई और आगे हम किस रणनीति पर चलें ताकि शत-प्रतिशत परिणाम हासिल हों।

श्री सिसोदिया ने कहा कि इस बातचीत के जरिए हम आपके अनुभव को समझने की कोशिश कर रहे हैं ताकि उन मुद्दों को समझा जा सके जहां हमें काम करने की जरूरत है। श्री सिसोदिया ने कहा कि हर प्राचार्य के पास सफलता और अनुभवों की अपनी अलग कहानी है। हम एक दूसरे से सीखें और अपनी कमियों को दूर करें। आने वाले वर्षों में यही अनुभव हमें शत प्रतिशत नतीजों का रास्ता दिखाएंगे। 

दिल्ली में मिशन बुनियाद के कारण शानदार सफलता मिली है, ईएमसी कक्षाओं में माइंडफुलनेस गतिविधियों ने छात्रों में एकाग्रता बनाने में मदद की...

चर्चा के दौरान कई प्रायार्यों ने कहा कि मिशन बुनियाद के कारण शानदार सफलता मिली है। जो बच्चे किसी वजह से पढ़ाई में पीछे छूट गए थे, उनके लिए विशेष व्यवस्था करने के कारण काफी सकारात्मक माहौल बना। उन बच्चों को भी एहसास हुआ कि विद्यालय को उनकी चिंता है। इसलिए उन्होंने पूरी लगन से पढ़ाई की। चर्चा में यह बात भी सामने आई कि ईएमसी कक्षाओं में माइंडफुलनेस गतिविधियों ने छात्रों में एकाग्रता बनाने में मदद की। इसने कक्षा में शिक्षकों-छात्रों को जोड़ने में मदद की। पहले धारणा थी कि शिक्षक केवल तेज, स्मार्ट, मुखर बच्चों पर ध्यान देते हैं। लेकिन इन कक्षाओं के कारण शिक्षकों ने उन सभी छात्रों के साथ बातचीत की जो संकोची स्वभाव के थे या कक्षा में कम बात करते थे। ईएमसी कक्षा के कारण अब ऐसे छात्र बिना किसी हिचक के शिक्षकों के सामने अपनी बात रखते हैं। इस तरह ईएमसी क्लास से सकारात्मक बदलाव लाया है। 

बैठक में यह बात भी सामने आई कि अच्छे रिजल्ट के कारण बच्चों का आत्मसम्मान बढ़ा है। उन्हें अब यह बताने में कोई संकोच नहीं होता कि वे सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं। अब इन हमारे स्कूलों के प्रति सबका नजरिया बदल गया है। इसका श्रेय हमारे उन शिक्षकों और छात्रों को जाता है, जो लगातार प्राइवेट स्कूल के छात्रों को भी मात दे रहे हैं।

Have something to say? Post your comment
More National News
दिल्ली में खाद्य मंत्री इमरान हुसैन ने आवश्यक वस्तुओं के खुदरा मूल्यों की समीक्षा की दिल्ली में खाद्य मंत्री इमरान हुसैन ने आवश्यक वस्तुओं के खुदरा मूल्यों की समीक्षा की
किसान विरोधी बिल के खिलाफ 25 सितम्बर को ‘भारत बंद’ में शामिल रहेगी ‘सीवाईएसएस’
मोदी सरकार जनता की गाढ़ी कमाई से अखबारों में अंग्रेजी में विज्ञापन देकर अपना चेहरा चमका रही: राघव चड्ढा
किसानों के साथ भद्दा मजाक व फरेबी शरारत है गेहूं के दाम में मामूली वृद्धि - हरपाल सिंह चीमा
किसान बिल के विरोध में आम आदमी पार्टी के सदस्यों ने पटना में किया विरोध प्रदर्शन
किसान विरोधी बिल पास कर भाजपा का किसान हितैषी चेहरा हुआ नंगा : काका बराड़
कृषि बिल पर केंद्र की मनमानी, किसानों के अस्तित्व को खतरा - ‘आप’
लगातार बढ़ रहा AAP का कुनबा, विकासनगर के लक्ष्मीपुर क्षेत्र में ‘आप’ कार्यालय का शुभारम्भ
AAP की मजबूती और 2022 में सरकार बनाने के लिए दिन-रात एक कर देंगे - हरचन्द सिंह बरसट