Tuesday, March 09, 2021
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
दिल्ली एमसीडी उपचुनाव में AAP की शानदार जीत, दुर्गेश पाठक- ‘भाजपा को इस्तीफा दे देना चाहिए’किसानों के लिए तीनों कृषि कानून डेथ वारंट, इनके लागू होने पर किसान मजदूर बनने को मजबूर होगा- अरविंद केजरीवालमहंगाई- पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में लगी आग, सरसों तेल भी दे रहा है कम्पटीशन: आपखिचड़ीपुर में दलित बच्ची की हत्या, पुलिस का ध्यान आम जनता की बजाए BJP नेताओं की सुरक्षा पर है - आतिशीदुनिया की नजरों में फिर चमका दिल्ली का ‘शिक्षा मॉडल’, आतिशी ने ‘हार्वर्ड इन्डिया कॉन्फ्रेंस’ को किया संबोधितदिल्ली में विकास की गति को बढ़ाना है, तो एमसीडी के उपचुनाव में AAP को वोट दें - गोपाल रायBJP के पूर्व प्रत्याशी संतलाल चावड़िया और एमसीडी श्रमिक संघ के अध्यक्ष जेपी टोंक AAP में शामिलबिहार पंचायत चुनावों में योग्य उम्मीदवारों का समर्थन करेगी ‘आप’ - गुलफिशा युसूफ
Punjabi News

मध्यवर्गीय परिवार रीढ़ की हड्डी है अर्थव्यवस्था की, विशेष छूट व राहत का ऐलान करे कैप्टन और मोदी सरकारें - आप

May 02, 2020 09:45 PM

चंडीगढ़: आम आदमी पार्टी(आप) के सीनियर व विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने मध्यवर्गीय परिवारों को पंजाब और देश की आर्थिकता की रीढ़ की हड्डी करार देते पंजाब और केंद्र सरकार से इस विशाल वर्ग के लिए विशेष छूट और राहत देने की मांग की है। ‘आप’ हेडक्वार्टर से जारी बयान के द्वारा हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि नोबल कोरोना वायरस के विश्व-व्यापक प्रकोप से मध्यवर्ग परिवारों को सब से अधिक वित्तीय चोट लगी है, बावजूद इस के यह वर्ग राज्य और केंद्र सरकारों के एजंडे पर ही नहीं है। एक भी कोई ऐसी रियायत या राहत नहीं है जो विशेष कर मध्यवर्ग परिवारों के लिए ऐलानी गई हो। यह वर्ग बिजली के बिल, घरों या व्हीकल-वाहनों के कर्ज की किश्तें(ईएमआई), डीजल-पेट्रोल पर टैकस जैसे का वैसे अदा करने के साथ-साथ राशन, दाल-तेल और सब्जियां आदि पहले की अपेक्षा भी दुगने मूल्य पर खरीद रहे हैं।

अगर मध्यवर्गीय क्लास निर्भर वर्ग की मदद न करता तो भुखमरी ने अब तक कोरोना से भी खतरनाक रूप धारण कर लेना था

हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि संकट की इस घड़ी में हर मध्यवर्गीय परिवार ने न केवल अपने घर की बल्कि अपने पर निर्भर कामगारों की दो वक्त की रोटी का प्रबंध करने में भी काफी हद तक मदद की है। गरीबों और जरूरतमन्दों को राशन आदि बांटने में जितनी बुरी तरह सरकारें फेल हुई हैं, यदि मध्यवर्ग परिवार सामाजिक-नैतिक जिम्मेदारी समझते हुए इन गरीबों और जरूरतमंदों की मदद न करते तो भुखमरी ने कोरोना वायरस की अपेक्षा भी अधिक खतरनाक रूप धारण कर लेना था।

हरपाल सिंह चीमा ने मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि वह हर स्तर के मध्यवर्गीय परिवारों को बिजली के बिलों, चालू वित्तीय साल हर तरह के कर्ज की किश्तों की ब्याज रहित मुलतवी, डीजल-पेट्रोल(पैट्रोलियम पदार्थों) पर टैक्स की दरों में भारी छूट समेत बेकाबू होती जा रही महंगाई पर लगाम लगाने के लिए विशेष कदम उठाए जाएं, जिससे मध्यमवर्ग की क्लास को थोड़ी बहुत राहत मिल सके।

Have something to say? Post your comment
More Punjabi News News
तानाशाह मोदी के काले कानूनों के विरुद्ध कारगर हथियार साबित होंगे ग्राम सभाओं के प्रस्ताव - ‘आप’
बिहार के खेती बाजार पर PAU की सनसनीखेज रिपोर्ट के बारे में स्पष्टीकरण दें कैप्टन व बादल: भगवंत मान
पंजाब में कृषि को जोंक की तरह चूस रहा है भ्रष्ट सरकारी तंत्र, जिप्सम घोटाले की हो न्यायिक जांच - AAP
आम घरों के बच्चों को साजिश के तहत शिक्षा से वंचित रख रही है कैप्टन अमरिन्दर सरकार - भगवंत मान
डीएसजीएमसी चुनाव की प्रक्रिया शुरू, मंत्री राजेंद्र गौतम ने सभी दलों के साथ की बैठक
बिना मापदंड के लाखों उपभोक्ताओं के राशन कार्ड काटना गलत, AAP ने सौंपा मांग पत्र - मनजीत सिंह बिलासपुर
अगर सीधी भर्ती ही करनी है, तो क्यों बांधे पीपीएससी व एसएसएस बोर्ड जैसे ‘सफेद हाथी’ - प्रिंसीपल बुद्ध राम
मोगा सेक्स स्कैंडल-3 की सीबीआई से जांच करवाएं सीएम कैप्टन अमरिन्दर - हरपाल सिंह चीमा
छोटे किसानों को मनरेगा का लाभ सुनिश्चित करे कैप्टन सरकार - आप
बादलों की तरह अब कैप्टन अमरिन्दर सिंह हैं पंजाब की बर्बादी की असली जड़ - हरपाल सिंह चीमा