Tuesday, June 15, 2021
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
शिक्षा को जन आंदोलन बनाना मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का है सपना - मनीष सिसोदियादिल्ली सरकार की अनूठी पहल, विदेश यात्राओं पर जाने वाले नागरिकों के लिए शुरू किया स्पेशल वैक्सीनेशन सेंटरवैक्सीनेशन केंद्रों का निरीक्षण किया जा रहा है, सभी जगहों से सकारात्मक रूझान मिल रहे है- गोपाल रायसंयोजक केजरीवाल ने अहमदाबाद में किया प्रदेश स्तरीय कार्यालय का उद्घाटन, वरिष्ठ पत्रकार इसूदान AAP में शामिलकोविड काल का बिजली बिल माफ़ और दिल्ली की तर्ज पर 200 यूनिट तक फ़्री बिजली की मांग को लेकर सड़कों पर AAPदिल्ली पर्यावरण मंत्री ने पौधों के निशुल्क वितरण का लिया जायजा सैनिटाइजर, ऑक्सीजन सिलिंडर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, वैक्सीन, थर्मामीटर, ऑक्सीमीटर पर खत्म हो जीएसटी - सिसोदिया दिल्ली सरकार युवाओं के भविष्य को लेकर हैं गंभीर - महिला एवं बाल विकास मंत्री
National

गांवों-कसबों में फूड प्रोसैसिंग यूनिट स्थापित कर पंजाब से 'गद्दारी' का दाग धोए बादल -आप

August 13, 2019 02:45 PM

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के सीनियर व विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा और उप नेता बीबी सरबजीत कौर माणूंके ने पिछले दो दशकों में पंजाब के हजारों छोटे, मध्यम और बड़े औद्योगिक यूनिट अकाली-भाजपा और कांग्रेस की पंजाब विरोधी और व्यापारी -उद्योगपति विरोधी नीतियों के कारण या तो बंद हो गए हैं या फिर अन्य राज्यों में पलायन कर गए हैं। नतीज के तौर पर पंजाब आर्थिक पक्ष से कई दशक पीछे चला गया और यह पतन जारी है। जिस की पुष्टि श्रम विभाग की तरफ से जारी ताजा आंकड़े कर रहे हैं। 'आप' हैडक्वाटर द्वारा जारी बयान में हरपाल सिंह चीमा और बीबी माणूंके ने बताया कि 2007 से 2018 तक सिर्फ लुधियाना जिले में करीब 250 फैक्टरियों को ताले लगे हैं, जिनमें कैप्टन सरकार के पहले 9 महीने में बंद हुई 65 फैक्टरियां शामिल हैं।

धड़ाधड़ बंद हो रहे उद्योगों को लेकर चीमा और माणूंके ने घेरे बादल व कैप्टन 

खेती पर आधारित फूड प्रोसैसिंग उद्योग को ही राज्य की आखिरी उम्मीद बताया 

 'आप' नेताओं ने कहा कि यह नकारात्मिक रुझान सिर्फ लुधियाना जिले का नहीं है, अमृतसर, जालंधर, बटाला, धारीवाल, डेराबसी, मोहाली, राजपुरा, गुरायआ, नंगल, बठिंडा, संगरूर आदि दर्जनों शहरों में भी जारी है। हजारों फैक्टरियां बंद हो या अन्य राज्य में जाने के कारण जहां राज्य की आर्थिकता को बड़ी चोट लगी है, वहीं लाखों की तादाद में बेरोजगारी में बढ़ौतरी हुई है। इस लिए सबसे बड़ी दोषी भाजपा की वाजपेयी सरकार है, जिस ने पड़ोसी पहाड़ी राज्यों को विशेष पैकेज दे कर पंजाब के औद्योगिक ईकाइयों की कमर तोड़ दी है। उस समय वाजपेयी सरकार में औद्योगिक राज्य मंत्री सुखबीर सिंह बादल ने 'कुर्सी' के लिए पंजाब के साथ गद्दारी करते केंद्र सरकार की धक्केशाही के विरुद्ध मंह नहीं खोला, जिसका क्षतिपूर्ति पंजाब आज तक भुगत रहा है।
चीमा और माणूंके ने कहा कि सिर्फ अकाली और भाजपा ही नहीं 2004 से 2014 तक 10 साल केंद्र में राज करने वाली मनमोहन सिंह सरकार ने भी पंजाब के साथ धक्केशाही को जारी रखा। 'आप' नेताओं ने केंद्र सरकार से पहाड़ी राज्यों की तर्ज पर विशेष औद्योगिक पैकेज देने पर जोर दिया, जिस की पहाड़ी राज्यों में मियाद साल 2022 तक बडा दी गई है।चीमा और माणूंके ने बादल परिवार को घेरते कहा कि बतौर केंद्रीय फूड प्रोसैसिंग मंत्री हरसिमरत कौर बादल पंजाब और पंजाबियों के हितों के लिए राज्य में गांव व कसबों तक फूड प्रोसैसिंग यूनिट स्थापित कर 'बादल परिवार' पर लगे 'गद्दारी' के दाग धो सकते हैं। यदि पिछले 5 सालों की तरह इस पारी में भी बादल जोडा पंजाब में नए औद्योगिक यूनिट खास कर फूड प्रोसैसिंग यूनिट नहीं ला सका तो पंजाब उनको कभी भी माफ नहीं करेंगे।
    

Have something to say? Post your comment
More National News
शिक्षा को जन आंदोलन बनाना मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का है सपना - मनीष सिसोदिया
दिल्ली सरकार की अनूठी पहल, विदेश यात्राओं पर जाने वाले नागरिकों के लिए शुरू किया स्पेशल वैक्सीनेशन सेंटर
वैक्सीनेशन केंद्रों का निरीक्षण किया जा रहा है, सभी जगहों से सकारात्मक रूझान मिल रहे है- गोपाल राय
संयोजक केजरीवाल ने अहमदाबाद में किया प्रदेश स्तरीय कार्यालय का उद्घाटन, वरिष्ठ पत्रकार इसूदान AAP में शामिल
कोविड काल का बिजली बिल माफ़ और दिल्ली की तर्ज पर 200 यूनिट तक फ़्री बिजली की मांग को लेकर सड़कों पर AAP
दिल्ली पर्यावरण मंत्री ने पौधों के निशुल्क वितरण का लिया जायजा
सैनिटाइजर, ऑक्सीजन सिलिंडर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, वैक्सीन, थर्मामीटर, ऑक्सीमीटर पर खत्म हो जीएसटी - सिसोदिया
दिल्ली सरकार युवाओं के भविष्य को लेकर हैं गंभीर - महिला एवं बाल विकास मंत्री
कक्षा 6 से 9 की एडमिशन प्रक्रिया के लिए रजिस्ट्रेशन 11 जून से शुरू - मनीष सिसोदिया
ऑनलाइन डिलीवरी करने वालों के वैक्सीनेशन को प्राथमिकता