Wednesday, December 02, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
लाठी खाया अन्नदाता ही सरकार को चलता करेगा, किसान की हर मांग का समर्थन करती है ‘आप’: योगेश्वर शर्माकृषि मंत्री तोमर शीघ्र किसानों से संवाद करें, MSP अध्यादेश लाकर किसानों को विश्वास दिलाएं: सुशील गुप्ताकेजरीवाल सरकार ने स्टेडियमों को जेलों में तब्दील करने से इंकार कर दिल्ली पुलिस को दिया झटका: आपएमसीडी में प्राॅपर्टी टैक्स से संबंधित खातों का ब्यौरा नहीं होने से लूट का पता लगना मुश्किल कामभाजपा की भ्रष्टाचार स्कीमों का खुलासा करेगी AAP, शुरू किया ‘BJP - 181’ अभियान: सौरभ भरद्वाजयूरिया खाद सहकारी सभाओं द्वारा किसानों तक पहुंचाने का प्रबंध करे पंजाब सरकार - कुलतार संधवांहरियाणा-पंजाब सरकारों की आपराधिक लापरवाही की वजह से जलती है पराली, साफ हवा में सांस नहीं ले पा रहे: आतिशीनिकम्मी सरकार के कारण किसानों की खराब हुई फसल, की भरपाई करे कैप्टन सरकार: प्रिंसीपल बुद्ध राम
Punjab, UP, Himachal & Uttarakhand Election

छत्तीसगढ़ और गुजरात में आदिवासियों और किसानों पर हुई बर्बरता के मुद्दे पर 'आप' ने लिखा NHRC को ख़त

February 23, 2017 10:12 PM

दिल्ली:

गुजरात के साणंद ज़िले में 32 गांव के किसान पिछले बीस सालों से खेती के लिए नज़दीक की एक नहर से पानी की मांग कर रहे हैं लेकिन किसानों को पानी देना तो दूर राज्य सरकार की पुलिस ने किसानों को बुरी तरह से पीटा जिसमें बुज़ुर्ग, युवा और महिलाएं भी रहीं। दूसरी तरफ़ छत्तीसगढ़ के बीजापुर ज़िले के गमपुर गांव में एक आदीवासी परिवार पर पुलिस की बर्बरता टूटी और दो लोगों की नृशंस हत्या भी कर दी गई।

दिल्ली सरकार में मंत्री और छत्तीसगढ़-गुजरात में 'आप' के प्रभारी श्री गोपाल राय ने गुजरात में किसानों पर और छत्तीसगढ़ में आदिवासियों पर हुई पुलिस की बर्बरता के मुद्दे को केंद्रीय मानवाधिकार आयोग के समक्ष पत्र लिखकर रखा है। आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में पुलिस ने एक आदीवासी परिवार समेत गांव के लोगों को बर्बरता पूर्ण तरीक़े से पीटा और एक महिला समेत दो लोगों की नृशंस हत्या भी कर दी। तो वहीं गुजरात के साणंद ज़िले में पिछले 20 सालों से खेती करने के लिए पानी की  मांग कर रहे किसानों को भी पुलिस ने बर्बरता पूर्ण तरीक़े से पीटा है। 

आपको बता दें कि गुजरात के साणंद ज़िले में 32 गांव के किसान पिछले बीस सालों से खेती के लिए नज़दीक की एक नहर से पानी की मांग कर रहे हैं लेकिन किसानों को पानी देना तो दूर राज्य सरकार की पुलिस ने किसानों को बुरी तरह से पीटा जिसमें बुज़ुर्ग, युवा और महिलाएं भी रहीं। दूसरी तरफ़ छत्तीसगढ़ के बीजापुर ज़िले के गमपुर गांव में एक आदीवासी परिवार पर पुलिस की बर्बरता टूटी और दो लोगों की नृशंस हत्या भी कर दी गई। पूरे गांव को पुलिस की बर्बरता का शिकार होना पड़ा। प्रशासन दोषी पुलिसवालों के ख़िलाफ़ मुकदमा कर दर्ज़ करने के लिए तैयार नहीं है। आम आदमी पार्टी पीड़ितों का साथ देते हुए कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए उनका साथ दे रही है और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से भी यह दरख्वास्त करती है कि इन घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए ना केवल पीड़ितों को हरसंभव मदद दे बल्कि दोषियों को सज़ा दिलवाने में भी अग्रणी भूमिका अदा करे। 

इस प्रैस नोट के साथ राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को लिखे वो दोनों ख़त भी संलघ्न किए जा रहे है जिसमें आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने आयोग को दोनों राज्यों की घटनाओं के संदर्भ में विस्तार से अवगत कराया है।

 
 
Have something to say? Post your comment
More Punjab, UP, Himachal & Uttarakhand Election News
इस ऐतिहासिक बज़ट से संवरेगी दिल्ली हरियाणा को शारदा यमूना नहर से पानी दिया जाए : आम आदमी पार्टी नफ़रत की गंदी राजनीति करती है बीजेपी: केजरीवाल आम आदमी पार्टी ने राज्यपाल को गेहूं की खरीद संबंधी तैयारियों के लिए सर्व पार्टी मीटिंग बुलाने हेतु किया निवेदन BJP और ABVP ने भारत को बनाया आंतकवाद का अड्डा ख़ुद भारत विरोधी नारे लगवाते हैं ABVP के छात्र भीड़ इकट्ठी करने के लिए कांग्रेस का नया शगूफा: आप कमांडो सुरेंद्र सिंह ने विधायक निधि कोष से विधानसभा की गलियों के पुनर्निर्माण का किया शुभारम्भ नोटबंदी घोटाले के विरोध में आम आदमी पार्टी का दिल्ली के बाज़ारों में प्रदर्शन बाज़ार में कैश की भारी कमी के चलते जनता परेशान, व्यापार ठप्प नोटबन्दी के कारण आम जनता के समक्ष आई समस्याओं के लिए मोदी ज़िम्मेदार