Wednesday, October 21, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
पंजाब को राजनैतिक सैर-सपाटे वाला स्थान न समझें राहुल गांधी - ‘आप’जिस बुनियाद पर खड़ा होगा आधुनिक BJP कार्यालय, उस जमीन की जांच होनी चाहिए - उमा सिसोदियाएमसीडी अपने अस्पतालों को केजरीवाल सरकार को न सौंपकर जनता के साथ धोखा कर रही है- दुर्गेश पाठकदिल्ली में वेतन को लेकर हिंदूराव अस्पताल के डॉक्टरों ने निकाला कैंडल मार्च, AAP भी हुई शामिलबेरोजगारी पर एक-दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप से नहीं बच सकते भाजपा-कांग्रेसआम आदमी पार्टी की महिला विंग नवरात्रि के नौ दिन दिल्ली में चलाएगी “कोरोना जनजागरण अभियान”‘आप’ का सर्वे: उत्तराखंड के लोग हरकी पौड़ी का नाम देव धारा या एस्केप चैनल नहीं, बल्कि गंगा चाहते हैंभाजपा शासित एमसीडी में हेल्थ ट्रेड लाइसेंस के नाम पर हर वर्ष 350 करोड़ रुपए का भ्रष्टाचार
Punjab, UP, Himachal & Uttarakhand Election

नोटबंदी घोटाले के विरोध में आम आदमी पार्टी का दिल्ली के बाज़ारों में प्रदर्शन

February 18, 2017 09:32 PM

 दिल्ली :

मोदी सरकार के नोटबंदी घोटाले के विरोध में आम आदमी पार्टी ने शनिवार 18 फ़रवरी को राजधानी दिल्ली के अलग-अलग व्यवसायिक इलाकों में ना केवल प्रदर्शन किया बल्कि नोटबंदी के बाद बाज़ार के व्यापारियों को हो रही तकलीफ़ों पर भी उनसे बात की। बाज़ारों की पुरानी रौनक ग़ायब मिली क्योंकि नोटबंदी के बाद व्यापार पूरी तरह से ठप्प हो गए हैं। 100 दिन बाद भी आज बाज़ार में कैश की भारी कमी है जिसका सीधा असर व्यवसाय पर भी पड़ रहा है और जनता भी परेशान है। 

बाज़ार में कैश की भारी कमी के चलते व्यापारियों के काम-धंधे ठप्प हो गए हैं और इसी का नतीजा है कि उन्हें अपने मज़दूर और कर्मचारियों को नौकरी से हटाना पड़ रहा है क्योंकि वो उनकी तनख्वाह तक नहीं दे पा रहे हैं। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने राजधानी के अलग-अलग बाज़ारों में ना केवल व्यापारियों से उनकी समस्याओं पर बात की बल्कि उनके साथ मिलकर मोदी सरकार के इस नोटबंदी घोटाले का विरोध भी किया।

राजधानी में हुए आम आदमी पार्टी के इस प्रदर्शन पर बात करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और दिल्ली संयोजक दिलीप पांडे ने कहा कि 'नोटबंदी को 100 दिन हो चुके हैं, 100 से ज़्यादा लोगों की मौतें नोटबंदी की वजह से हो चुकी हैं लेकिन हालात सामान्य होने का नाम नहीं ले रहे हैं। बाज़ार में कैश की भारी कमी है, नब्बे प्रतिशत एटीएम खाली पड़े रहते हैं जिसका सीधा असर व्यापार पर पड़ रहा है।

'बाज़ार में कैश की भारी कमी के चलते व्यापारियों के काम-धंधे ठप्प हो गए हैं और इसी का नतीजा है कि उन्हें अपने मज़दूर और कर्मचारियों को नौकरी से हटाना पड़ रहा है क्योंकि वो उनकी तनख्वाह तक नहीं दे पा रहे हैं। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने राजधानी के अलग-अलग बाज़ारों में ना केवल व्यापारियों से उनकी समस्याओं पर बात की बल्कि उनके साथ मिलकर मोदी सरकार के इस नोटबंदी घोटाले का विरोध भी किया।

'बाज़ारों में व्यापारियों का साथ देने के लिए आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भारी संख्या में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। व्यापारियों के साथ-साथ आम जनता ने भी मोदी सरकार के इस नोटबंदी घोटाले के प्रति अपनी नाराज़गी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ खड़े होकर ज़ाहिर की क्योंकि कैश की भारी कमी के चलते जनता भी बेहद परेशान है।

देश के प्रधानमंत्री आज भी हालात सामान्य होने का झूठा दिलासा देश की जनता को दे रहे हैं। जबकि जनता और देश के व्यापारी बार-बार प्रधानमंत्री जी से सवाल पूछ रहे हैं कि नोटबंदी से इस देश को क्या हांसिल हुआ है? आम आदमी पार्टी देश की जनता और व्यापारियों की आवाज़ बनकर फिर से प्रधानमंत्री श्रीमान नरेंद्र मोदी जी से पूछ रही है कि आखिर 'कितना काला धन आया'?

Have something to say? Post your comment
More Punjab, UP, Himachal & Uttarakhand Election News
इस ऐतिहासिक बज़ट से संवरेगी दिल्ली हरियाणा को शारदा यमूना नहर से पानी दिया जाए : आम आदमी पार्टी नफ़रत की गंदी राजनीति करती है बीजेपी: केजरीवाल आम आदमी पार्टी ने राज्यपाल को गेहूं की खरीद संबंधी तैयारियों के लिए सर्व पार्टी मीटिंग बुलाने हेतु किया निवेदन छत्तीसगढ़ और गुजरात में आदिवासियों और किसानों पर हुई बर्बरता के मुद्दे पर 'आप' ने लिखा NHRC को ख़त BJP और ABVP ने भारत को बनाया आंतकवाद का अड्डा ख़ुद भारत विरोधी नारे लगवाते हैं ABVP के छात्र भीड़ इकट्ठी करने के लिए कांग्रेस का नया शगूफा: आप कमांडो सुरेंद्र सिंह ने विधायक निधि कोष से विधानसभा की गलियों के पुनर्निर्माण का किया शुभारम्भ बाज़ार में कैश की भारी कमी के चलते जनता परेशान, व्यापार ठप्प नोटबन्दी के कारण आम जनता के समक्ष आई समस्याओं के लिए मोदी ज़िम्मेदार