Saturday, August 08, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
सीएम कैप्टन के तरनतारन दौरे पर विपक्ष का तीखा हमला, बहुत देर कर दी हजूर आते-आते - भगवंत मानदिल्ली में ईवी पाॅलिसी लागू, 2024 तक पंजीकृत होने वाले नए वाहनों में से 25% इलेक्ट्रिक के होंगे: सीएम अरविंद केजरीवालगांधी सेतु पर पैदल यात्रियों के लिए नए सीढ़ी निर्माण का आम आदमी पार्टी ने किया स्वागतदिल्ली सरकार के रोजगार पोर्टल पर 9लाख से अधिक नौकरियां, 8.64लाख लोगों ने किया आवेदन: गोपाल रायकेजरीवाल सरकार ने होटल व साप्ताहिक बाजार खोलने के लिए एलजी अनिल बैजल को दोबारा प्रस्ताव भेजाबच्ची के साथ हुई हैवानियत भरी घटना ने पूरी दिल्ली और पूरे समाज को झकझोर कर रख दिया है: राघव चड्ढादिल्ली सरकार के राजस्व कलेक्शन में सुधार के लिए डीडीसी करेगी विस्तृत अध्ययनदिल्ली सरकार की बसों में ई-टिकटिंग सिस्टम का 3दिवसीय ट्राॅयल आज से शुरू, 7अगस्त तक होगा ट्राॅयल
National

किसानों को तबाह करने पर तुली कैप्टन सरकार - हरपाल सिंह चीमा

July 07, 2020 11:59 PM

चण्डीगढ़: आम आदमी पार्टी पंजाब ने प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना महामारी के दौरान अब इंतकाल की फीस दोगुनी करने के संदर्भ में लिए जा रहे फैसले का सख्त विरोध करते हुए इस को लोक विरोधी फैसला करार दिया है। पार्टी हेडक्वार्टर से जारी बयान के द्वारा पार्टी के सीनियर नेता और नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा और किसान विंग के प्रदेश प्रधान और विधायक कुलतार सिंह संधवां ने कहा कि जहां दुनिया भर की सरकारें कोरोना महामारी के मद्देनजर अपने नागरिकों के लिए राहत और रियायतें दे रही हैं वहीं केंद्र की मोदी सरकार और पंजाब की कैप्टन सरकार अपने नागरिकों पर रोजाना नए वित्तीय बोझ थोप रही हैं। डीजल-पेट्रोल पर विशेष टैकस लगाना, बसें का भाड़ा बढ़ाने के उपरांत अब इंतकाल की फीें दुगनो करना पंजाब के किसानों पर वार्षिक 25 करोड़ रुपए की वृद्धि बेहद निंदनीय और शर्मनाक फैसला साबित होगा।

हरपाल सिंह चीमा ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह को तंज कसते कहा कि पहले ही गंभीर वित्तीय संकट का सामना कर रही पंजाब की कृषि पर ऐसा अनावश्यक विस्तार थोपने वाला मुख्यमंत्री(कैप्टन) खुद को किसानों का मसीहा कैसे कहलवा सकता है? और यदि कैप्टन अमरिन्दर सिंह सचमुच किसानों के मसीहे होते तो कोरोना महामारी के मद्देनजर केंद्र सरकार की तरफ से डीजल-पेट्रोल की आसमानी चढ़ाई कीमतों को घटाने के लिए पंजाब के हिस्से वाले वैट में छूट का ऐलान करते।

कुलतार सिंह संधवां ने कहा कि प्रदेश के खजाने को इंतकाल की फीसों 300 से 600 प्रति इंतकाल दुगनेे करने से नहीं बल्कि पंजाब के वित्तीय स्रोतों को अरबों रुपए की रोजमर्रा चूना लगा रहे बहुभांती माफिया को नकेल डाल कर ही भरा जा सकता है। संधवां ने कहा कि ऐसे घाकतक फैसले सीधे लोगों और किसानों की जेबों पर डाका हैं, जिनको बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। संधवां ने सवाल किया कि कोरोना महामारी के नाम पर यदि शराब और रेत-बजरी कारोबारियों को क्रमवार 700 करोड़ और 250 करोड़ की छूट दी जा सकती है तो पंजाब के किसानों को छूट देने की बजाए उन पर ओर वित्तीय बोझ क्यों थोपा जा रहा है।

Have something to say? Post your comment
More National News
सीएम कैप्टन के तरनतारन दौरे पर विपक्ष का तीखा हमला, बहुत देर कर दी हजूर आते-आते - भगवंत मान
दिल्ली सरकार ने टैक्स रिटर्न दाखिल नहीं करने पर 5584 कंपनियों को नोटिस भेजा
दिल्ली में ईवी पाॅलिसी लागू, 2024 तक पंजीकृत होने वाले नए वाहनों में से 25% इलेक्ट्रिक के होंगे: सीएम अरविंद केजरीवाल
गांधी सेतु पर पैदल यात्रियों के लिए नए सीढ़ी निर्माण का आम आदमी पार्टी ने किया स्वागत
दिल्ली सरकार के रोजगार पोर्टल पर 9लाख से अधिक नौकरियां, 8.64लाख लोगों ने किया आवेदन: गोपाल राय
केजरीवाल सरकार ने होटल व साप्ताहिक बाजार खोलने के लिए एलजी अनिल बैजल को दोबारा प्रस्ताव भेजा बच्ची के साथ हुई हैवानियत भरी घटना ने पूरी दिल्ली और पूरे समाज को झकझोर कर रख दिया है: राघव चड्ढा
पंजाब में ऑपरेशन न करने का फैसला लोक विरोधी, फैसला वापस ले कैप्टन सरकार: प्रिंसीपल बुद्ध राम
लोगों के साथ-साथ अपने सीनियर नेताओं का भी विश्वास खो चुके है अमरिन्दर सिंह सरकार - ‘आप’
दिल्ली सरकार के राजस्व कलेक्शन में सुधार के लिए डीडीसी करेगी विस्तृत अध्ययन