Saturday, July 11, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
बिना मापदंड के लाखों उपभोक्ताओं के राशन कार्ड काटना गलत, AAP ने सौंपा मांग पत्र - मनजीत सिंह बिलासपुरकुवैत में 8लाख भारतीय कामगारों का रोजगार बचाने के लिए दखलअन्दाजी करें प्रधानमंत्री: भगवंत मानकोरोना काल में आर्थिक बदहाल प्राइवेट शिक्षकों को आर्थिक सहायता मुहैया कराए, बिहार सरकार: AAPदूरस्थ शिक्षा-शिक्षण गतिविधियां शुरू होने पर छात्र-अभिभावकों से मिली उत्साह भरी प्रतिक्रियाबिहार: आम आदमी पार्टी ने किया युवा प्रकोष्ठ का विस्तारदिल्ली विश्वविद्यालय में 'ओपन बुक एग्जाम - OBE' के विरुद्ध CYSS ने किया MHRD पर विरोध प्रदर्शनअगर सीधी भर्ती ही करनी है, तो क्यों बांधे पीपीएससी व एसएसएस बोर्ड जैसे ‘सफेद हाथी’ - प्रिंसीपल बुद्ध राम‘आप’ नेताओं ने पटना में बांटा मास्क और साबुन
National

दिल्ली को 5000 करोड़ की मदद करे केंद्र सरकार, ताकि सैलरी का भुगतान हो सके: उपमुख्यमंत्री

May 31, 2020 10:50 PM

नई दिल्ली: दिल्ली ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ की आर्थिक सहायता मांगी है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने 26मई को केंद्रीय वित्तमंत्री को पत्र लिखा है। आज ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए सिसोदिया ने यह जानकारी दी। श्री सिसोदिया ने बताया कि लॉकडाउन के कारण पूरे देश की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ा है। दिल्ली पर भी इसका काफी असर हुआ है। दिल्ली सरकार ने अपने न्यूनतम खर्च की समीक्षा की है। इसके अनुसार केवल सैलरी तथा ऑफिस खर्च पर न्यूनतम 3500 करोड़ का मासिक खर्च है। विगत दो माह में जीएसटी से मात्र 500 करोड़ मासिक का संग्रह हुआ है। जीएसटी तथा अन्य स्रोत मिलाकर प्रथम तिमाही में कुल 1735 करोड़ रुपये मात्र का संग्रह हुआ है।पिछले साल इस अवधि में 7799 करोड़ का राजस्व संग्रह हुआ था। इस साल राजस्व में 78 फीसदी की गिरावट आई है। श्री सिसोदिया के अनुसार वर्तमान में दिल्ली को न्यूनतम 5000 करोड़ की आवश्यकता है।

राजस्व संग्रह गत वर्ष की तुलना में 78% कम हुआ : सिसोदिया

श्री सिसोदिया ने कहा कि आपदा राहत कोष से अन्य राज्यों को केंद्र सरकार से मदद मिली है। लेकिन दिल्ली सरकार को कोई मदद नहीं मिली। सामान्य तौर पर भी केंद्र द्वारा दिल्ली सरकार को कोई आर्थिक सहायता नहीं दी जाती है। लेकिन अभी जब दिल्ली में राजस्व संग्रह नहीं हो रहा, तब केंद्र से मदद मिलना जरूरी है। इससे हम कर्मचारियों, शिक्षकों, डॉक्टर, इंजीनियर, सिविल डिफेंस के लोग तथा कोरोना राहत में जुटे अन्य कर्मियों को सैलरी का भुगतान कर पाएंगे।

केंद्रीय वित्तमंत्री को पत्र लिखकर 5000 करोड़ की सहायता मांगी, ताकि सैलरी का भुगतान हो सके : सिसोदिया

श्री सिसोदिया ने 26मई को केंद्रीय वित्तमंत्री के नाम पत्र में लिखा है कि कोरोना नियंत्रण में दिल्ली देश के अग्रणी राज्यों में है। दिल्ली अपना समस्त खर्च अपने संसाधनों से उठाती है। वित्त वर्ष 2020-21 में दिल्ली विधानसभा ने 65000 करोड़ का बजट पास किया है। इसमें 35500 करोड़ का खर्च स्थापना, लोकल बॉडीज को योगदान तथा ब्याज इत्यादि में होता है। सामान्य स्थिति में दिल्ली अपने संसाधनों से अपना खर्च उठाने में सक्षम है। लेकिन मौजूदा संकट में केंद्र की मदद आवश्यक है। केंद्र से 5000 करोड़ अनुदान मिलने पर दिल्ली नगर निगम को वेतन तथा स्थापना व्यय देने में भी सुविधा होगी।

श्री सिसोदिया के अनुसार दिल्ली सरकार ने कोरोना से लड़ने के लिए अस्पतालों को अपग्रेड किया है। पीपीई, वेंटीलेटर, टेस्टिंग किट, सैनिटाइजर, एन-95 मास्क इत्यादि का समुचित प्रबंध किया है। जरूरतमंद लोगों के लिए भोजन तथा राशन वितरण के अलावा प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजने संबंधी रेलवे का किराया भी दिल्ली सरकार भुगतान कर रही है। उक्त आलोक में श्री सिसोदिया ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ के अनुदान की मांग की है।

Have something to say? Post your comment
More National News
किसानों को तबाह करने पर तुली कैप्टन सरकार - हरपाल सिंह चीमा
कुवैत में 8लाख भारतीय कामगारों का रोजगार बचाने के लिए दखलअन्दाजी करें प्रधानमंत्री: भगवंत मान
सीएम अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर दिल्ली में PDS कार्डधारकों को नवंबर तक मुफ़्त राशन देने का फैसला
कोरोना काल में आर्थिक बदहाल प्राइवेट शिक्षकों को आर्थिक सहायता मुहैया कराए, बिहार सरकार: AAP
दूरस्थ शिक्षा-शिक्षण गतिविधियां शुरू होने पर छात्र-अभिभावकों से मिली उत्साह भरी प्रतिक्रिया
बिहार: आम आदमी पार्टी ने किया युवा प्रकोष्ठ का विस्तार
दिल्ली विश्वविद्यालय में 'ओपन बुक एग्जाम - OBE' के विरुद्ध CYSS ने किया MHRD पर विरोध प्रदर्शन
‘आप’ नेताओं ने पटना में बांटा मास्क और साबुन
दिल्ली सरकार के कोविड अस्पतालों में लगातार हो रही आईसीयू बेड की वृद्धि
सीएम अरविंद केजरीवाल ने डीआरडीओ निर्मित सरदार वल्लभभाई पटेल कोविड-19 अस्पताल का किया दौरा