Wednesday, July 15, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
AAP के मनोज त्यागी, विकास गोयल, प्रेम चौहान ने एमसीडी में संभाला नेता विपक्ष का कार्यभारअब 'दिल्ली कोरोना' एप पर दिल्ली के सभी अस्पतालों का अधिकृत हेल्पलाइन नंबर प्रदर्शितभगवा सोच को बाल मनों पर थोपने लगी मोदी सरकार, संसद तक विरोध करेंगे - भगवंत मानसीएम केजरीवाल के हस्तक्षेप का दिखने लगा परिणाम - मौत के आंकड़ों में आई गिरावटबिहार की जनता कोरोनावायरस से बचना चाह रही है, वहीं NDA सरकार बिहार में चुनाव चाह रही है: आपबिना मापदंड के लाखों उपभोक्ताओं के राशन कार्ड काटना गलत, AAP ने सौंपा मांग पत्र - मनजीत सिंह बिलासपुरकुवैत में 8लाख भारतीय कामगारों का रोजगार बचाने के लिए दखलअन्दाजी करें प्रधानमंत्री: भगवंत मानकोरोना काल में आर्थिक बदहाल प्राइवेट शिक्षकों को आर्थिक सहायता मुहैया कराए, बिहार सरकार: AAP
National

‘दिल्ली के हीरो’ को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का सलाम

May 27, 2020 11:58 PM

नई दिल्ली: कोरोना और लाॅकडाउन के दौरान कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो अपने जान की परवाह किए बगैर रात-दिन काम कर रहे हैं, ताकि हमारी दिल्ली सुरक्षित रहे, दिल्ली के लोग सुरक्षित रहें। ऐसे कोरोना योद्धा हैं, डाॅक्टर्स, नर्स, प्रिंसिपल और शिक्षक(राशन वितरण), सिविल डिफेंस वालेंटियर्स, पुलिस, आशा वर्कर्स, बस ड्राइवर्स, कंडक्टर्स व माॅर्शल्स। जिन्हें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ‘दिल्ली के हीरो‘ नाम दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि आज दिल्ली सबसे मुश्किल जंग अपने दिल्ली के इन योद्धाओं की वजह से इतनी मजबूती से लड़ रही है। इन योद्धाओं की वजह से ही कोरोना के ठीक हो रहे मरीजो की संख्या में भारी इजाफा हुआ है। इनकी वजह से ही दिल्ली में 10लाख लोगों को प्रतिदिन खाना खिलाया जा रहा है। इनकी वजह से ही लाखों प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजा जा रहा है। दिल्ली के यह हीरो, अपना घर-बार छोड़कर रात-दिन बस दिल्ली को सुरक्षित करने की जंग लड़ रहे हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इनका धन्यवाद किया, उन्हें सलाम किया और अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से दिल्ली के हंगर रिलीफ सेंटर के कूक विजय यादव का वीडियो ट्वीट कर कहा कि महामारी के दौरान हमारे हंगर रिलीफ सेंटर के रसोइए जरूरतमंदों के लिए खाना बना कर पुण्य का काम कर रहे हैं। रोजाना 10लाख लोगों की भूख मिटाने का काम करते हैं ये दिल्ली के हीरो। दिल्ली इन कोरोना योद्धाओं के जज़्बे को सलाम करती है। एक अन्य ट्वीट कर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोविड महामारी के दौरान हम में से ज्यादातर लोग अपने अपने घरों में बंद थे लेकिन कुछ दिल्लीवासी अपने जान की परवाह किए बिना, हमारे शहर और देश की सेवा में तैनात थे। इन दिल्ली के हीरो को पूरी दिल्ली सलाम करती है। ऐसे कुछ हीरो की कहानियां मैं आज से सोशल मीडिया पर शेयर कर रहा हूँ।

‘दिल्ली के हीरो’ की कहानी, उनकी ही जुबानी, इनकी कहानी इस सप्ताह सीएम अपने ट्वीटर हैंडल से ट्वीट भी करेंगे...

लाॅकडाउन में 22घंटे कर रहे काम, ताकी भूखा न रहे 30 से 35हजार परिवार - विजय यादव

हंगर रिलीफ सेंटर के कूक विजय यादव(37) ने बताया कि जब से लाॅकडाउन हुआ है, तब से आराम सिर्फ 2घंटे का मिल रहा है। इस समय बहुत मेहनत करनी पड़ रही है। जब मिड-डे-मील होता था, तब काम कम था। अब हमें 22घंटे तक काम करना पड़ रहा है। मेरे यहां से प्रतिदिन 36000लोगों का खाना बनता है। हमारे पास 60 से 70 हंगर रिलीफ सेंटर है। रात के 2बजे से खाना बनाने का काम शुरू हो जाता है और सुबह 8 बजे तक बनता है। इसके बाद सफाई होनी शुरू हो जाती है और दोपहर 12बजे से फिर शाम का खाना बनने लगता है। दिल्ली सरकार में इतनी हिम्मत है कि इतने लोगों के लिए कर रही है। 10 से 12लाख लोगों को खाना खिलाना, उनको ठहराना, उनके सोने का इंतजाम और शारीरिक दूरी का पालन कराना, यह आसान काम नहीं है। यह सरकार का बहुत बड़ा काम है। परिवार वाले बहुत परेशान हैं। वे बुला रहे हैं कि आ आओ, लेकिन सबके लिए सोचना पड़ रहा है। हम परिवार को देखेंगे, तो यहां 30 से 35हजार लोग भूखे हैं, उनको कौन देखेगा। परिवार से यही कहना है कि वे यही सोचें कि यहां हम एक और परिवार को पाल रहे हैं। ऐसा समझो कि अब हमारा 30 से 35हजार लोगों का परिवार है।

दिल्ली सरकार का भूखे लोगों को खाना खिलाने का फैसला सही - राजेंद्र

27वर्षीय सिविल डिफेंस वालेंटियर राजेंद्र कालकाजी में स्थिति दिल्ली सरकार के हंगर रिलीफ सेंटर में सोशल डिस्टेसिंग सुनिश्चित कराने का काम कर रहे हैं। उनका कहना है कि दिल्ली सरकार के सिविल डिफेंस वालेंटियर्स यह सुनिश्चित कर रहे है कि हंगर रिलीफ सेंटर्स में अच्छी तरह से सभी को खाना परोसा जाए। हम सभी सिविल डिफेंस वालेंटियर का फर्ज बनता है कि लोगों की रक्षा करें। मेरी यहां पर माॅर्शल के तौर पर ड्यूटी लगी है। जितने लोग यहां आते हैं, उनमें सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करता हूँ। सभी को अच्छी तरह खाना उपलब्ध करवाता हूँ। दिल्ली सरकार ने बहुत अच्छा फैसला लिया है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जो लोग भूखे मर रहे हैं, उनको बहुत अच्छे तरीके से खाने प्रबंध कराया है। हर व्यक्ति को सुबह-शाम अच्छे तरीके से खाना मिल रहा है। अगर उनके परिवार में चार सदस्य हैं, तो उन चारों को खाना मिल रहा है। किसी को भी कोई परेशानी नहीं हो रही है। चाहे वे बाहर ही क्यों न आए हों। 21मार्च को लाॅकडाउन हुआ था, उसके एक सप्ताह बाद से ही स्कूलों में खाना शुरू करा दिया गया था। मैं अपने परिवार को बहुत कम समय दे पा रहा हूँ। मैं कभी घर जाता हूं, तो कभी नहीं जाता हूं। यदि घर जाता हूं तो पूरा चेकअप करा कर जाता हूँ। बाहर ही स्नान करने के बाद घर में प्रवेश करता हूँ। हम सभी सिविल डिफेंस के वालेंटियर्स अपने आप पर गर्व महसूस कर रहे हैं। हम अपनी जान के बारे में कुछ नहीं सोच रहे हैं। हमें अपने देश को बचाना है।

महीने भर से घर नहीं गई, फोन से अपने परिवार के संपर्क में रहती हूँ - आशा

एलएनजेपी अस्पताल की नर्स आशा का कहना है कि हमें अभी 14दिनों तक लगातार ड्यूटी करनी है। हमारी तीन शिफ्ट सुबह, शाम और रात की ड्यूटी है। सुबह और शाम की ड्यूटी 6-6घंटे की है और रात की ड्यूटी 12घंटे की है। इस तरह 14दिन लगातार ड्यूटी करनी है और कोई अवकाश नहीं मिलेगा। इसके बाद 14दिन क्वारंटाइन में रहना है। फिलहाल अभी हमें जो भी समय मिलता है, उसमें फोन या वीडियो काॅल करके परिवार के संपर्क में रहते हैं। वीडियो काॅल से ही बात हो पाती है। हमें अस्पताल में सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं, हम अपने घर नहीं जा सकते है, क्योंकि हमारे परिवार को खतरा है। दिल्ली सरकार हमारे परिवार की सभी जरूरतों का ख्याल रख रही है। इसके लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी को धन्यवाद करना चाहती हूँ। दिल्ली के लोगों से कहना चाहती हूँ कि आप लोग अपने घर पर ही रहिए। सुरक्षित रहिए और हमारी मदद कीजिए। यह मत सोचिए कि आप घर पर हैं, तो आप पर बहुत बड़ा जुल्म हो रहा है। यह भी एक सौभग्य की बात है कि आप घर पर हैं और अपने परिवार को समय दें रहे हैं। आप हमसे पूछिए की घर पर रहना क्या होता है? महीने भर से हम लोग अपने घर नहीं गए हैं।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में जितना संभव हो सकता था, उतना सभी को सहूलियतें दीं - डा.अजीत जैन 

राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी हाॅस्पिटल के काॅर्डियक सर्जरी विभाग के प्रमुख डाॅ.अजीत जैन(52) का कहना है कि हम लोग पिछले दो महीने से अधिक हो गए, अस्पताल में ही हैं, घर नहीं गए। हम लोग अस्पताल में ही देखरेख करते हैं। रात के 2 से 3बजे तक हम लोग होटल जाते हैं और अगले दिन सुबह 7-8बजे तक तैयार होकर अस्पताल आ जाते हैं। होटल में जाने के बाद भी हम लोग फ्री नहीं होते हैं। वहां पर जाने के बाद भी लगातार फोन आते रहते हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी ने हम सभी के साथ बैठक की थीे। जब लाॅकडाउन था, सबकुछ बंद था और आने-जाने में समस्या हो सकती थी। उन्होंने दिल्ली में जितना संभव हो सकता था, उतना सभी को सहूलियतें दीं। हम सभी को अस्पताल से होटल और होटल से अस्पताल पहुंचाने के लिए परिवहन की सुविधा प्रदान की। लाॅकडाउन के दौरान हमारे किसी भी स्टाॅफ को कहीं पर भी आने-जाने में कोई दिक्कत नहीं हुईं। परिवार से फोन पर बात करते हैं। पत्नी को हमारी समस्या समझती है, क्योंकि वह भी एक डाॅक्टर हैं, लेकिन बच्चों को समझाना मुश्किल होता है। उनसे कुछ कहना भी बहुत कठिन होता है। फिर भी हम सब वापस जाॅब पर आते हैं। हम सोचते हैं कि देश भर में अभी आपदा की स्थिति है। हमारा मानना है कि एक बार जब हम इस पर जीत हासिल कर लेंगे, तो सभी चीजें अच्छी हो जाएंगी।

यह हैं दिल्ली के हीरो:- कम्युनिटी किचन कूक, सिविल डिफेंस वालेंटियर्स, प्रिंसिपल और शिक्षक(राशन वितरण), पुलिस, आशा वर्कर्स, डाॅक्टर्स, नर्स, बस ड्राइवर्स-कंडक्टर्स-माॅर्शल्स

Have something to say? Post your comment
More National News
अवैध खनन के मामले सरकार के संरक्षण के बिना संभव नहीं कोई भी गैर-कानूनी धंधा आईएलबीएस के बाद अब एलएनजेपी अस्पताल में खुला दिल्ली का दूसरा प्लाज्मा बैंक
दिल्ली में शिक्षा क्रांति : चपरासी का बेटा भी लाया 12वीं में 98% अंक
12वीं के नतीजे ऐतिहासिक, सपने जैसी लगती है ये सफलता: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल
AAP के मनोज त्यागी, विकास गोयल, प्रेम चौहान ने एमसीडी में संभाला नेता विपक्ष का कार्यभार
अब 'दिल्ली कोरोना' एप पर दिल्ली के सभी अस्पतालों का अधिकृत हेल्पलाइन नंबर प्रदर्शित
भगवा सोच को बाल मनों पर थोपने लगी मोदी सरकार, संसद तक विरोध करेंगे - भगवंत मान
सीएम केजरीवाल के हस्तक्षेप का दिखने लगा परिणाम - मौत के आंकड़ों में आई गिरावट
बिहार की जनता कोरोनावायरस से बचना चाह रही है, वहीं NDA सरकार बिहार में चुनाव चाह रही है: आप
किसानों को तबाह करने पर तुली कैप्टन सरकार - हरपाल सिंह चीमा