Tuesday, June 02, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
मनीष सिसोदिया ने ऑनलाइन और एसएमएस/आईवीआर आधारित शिक्षा की समीक्षा कीदिल्ली को 5000 करोड़ की मदद करे केंद्र सरकार, ताकि सैलरी का भुगतान हो सके: उपमुख्यमंत्रीसिंघी मछली और बगेरी के शौकीन है शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, के नाम BJPअध्यक्ष बसूलता है रुपया: आपब्याज समेत भुगतान किया जाए, किसानों के गन्ने की अरबों रुपए की बकाया राशि: हरपाल सिंह चीमाकोरोना के मरीज बढ़ रहे, यह चिंता का विषय, लेकिन अभी घबराने जैसी कोई बात नहीं: अरविंद केजरीवालहोम आइसोलेशन में ठीक हुए मरीजों ने कहा, अभिभावक की तरह ख्याल रखती है दिल्ली सरकारकोरोना से डरें नहीं, खुद को बचाना जरूरी: मनीष सिसोदियापंजाब में कृषि क्षेत्र के ट्यूबवेलों पर बिल लागू करने की योजना का ‘आप’ ने किया सख्त विरोध
National

खुद का बचाव और कोरोनावायरस की सही जानकारी ही असली रोकथाम है: डॉ अरुण गुप्ता

May 22, 2020 11:31 PM

ऐसे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी बोल चुके हैं, कि हमको कोरोना के साथ जीने की आदत डालनी होगी और सावधानी बरतनी होगी। जिससे हम इस भयंकर बीमारी से खुद को और घर वालों को बचा के रख सके। इस मुद्दे पर आज हमने आम आदमी पार्टी के डॉक्टर फ़ॉर आप के संयोजक और डीएमसी चेयरमैन डॉ. अरुण गुप्ता से बातचीत की, कि क्या-क्या बचाव और सावधानी हम आम जीवन का हिस्सा बनाए, जिससे इस कोरोना को खुद से और अपने परिवार से दूर रख सके।

कोरोना महामारी को लेकर डॉ अरुण गुप्ता के साथ साक्षात्कार में...

आप की क्रांति - डॉ साहब जैसा हमने सुना और पढ़ा है कि कोरोना का मुख्य लक्षण बुखार है, इसके अलावा क्या-क्या लक्षण हो सकते हैं जिसके दिखते ही हम सावधान हो सकें?
डॉ. अरुण गुप्ता - आरंभिक दिनों में बुखार एक लक्षण है, कोरोना वायरस आपके फेफड़ों को संक्रमित करता है, और इसका गंभीर लक्षण बुख़ार और सूखी खांसी के रूप में दिखाई देने लगता है। कई बार इसके कारण व्यक्ति को सांस लेने में भी दिक्कत पेश आती है पर जैसे-जैसे कोरोना के केस बड़े तो रिसर्च में पता लगा कि इसके अलावा भी हल्के लक्षण सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, उल्टी, खुजली, दस्त, गंध का अनुभव नहीं होना, त्वचा पर खरोंच या उंगलियों या पैर की उंगलियों का रंग बदलना भी हो सकते हैं। और एक खास चिंता की बात यह है कि भारत में अब ज्यादातर केस बिना लक्षण के सामने आ रहे हैं।

आप की क्रांति - डॉ. साहब लक्षण उभरने पर एक आम आदमी को क्या करना चाहिए?
डॉ. अरुण गुप्ता - यदि आप में गंभीर लक्षण दिखाई देते हैं, तो जल्द से जल्द डॉक्टर को दिखाएं। अपने डॉक्टर के पास या अस्पताल में जाने से पहले हमेशा फ़ोन करके जाएं। जो लोग स्वस्थ हैं, और उन्हें वायरस के थोड़े-बहुत लक्षण दिखाई दे रहे हैं, तो उन्हें घर पर ही अपने आप को पूरी तरह स्वस्थ रखने की कोशिश करनी चाहिए। वायरस से संक्रमित होने के बाद, इसके लक्षण दिखाई देने में आम तौर पर 5-6दिन लगते हैं। हालांकि, कुछ मामलों में लक्षण दिखने में 14दिन भी लग सकते हैं। किंतु घबराएं नहीं दिल्ली सरकार की हेल्पलाइन से भी आप सहायता और जानकारी ले सकते हैं।

आप की क्रांति - हर वक़्त मास्क पहनने की सलाह हमें लगातार दी जा रही है, पर क्या आपको नहीं लगता कि हर समय मास्क पहने रखना कोरोना से बचा लेगा, मगर कई अन्य बीमारियों का कारण बन सकता है।
डॉ.अरुण गुप्ता - इस समय सबसे बड़ा खतरा कोरोना का ही है। अगर हर कोई व्यक्ति मास्क पहनेगा तो एक से दूसरे व्यक्ति में कोरोना फैलने की आशंका काफ़ी कम हो जाएगी, और मास्क पहनने से किसी दूसरी बीमारी होने की कोई संभावना तो है ही नहीं। इसीलिए मास्क बचाव का सबसे कारगर उपाय है।

आप की क्रांति - 2महीने के लॉकडाउन के बाद लॉकडाउन-4.0 में कुछ छूट दी गई है, एक डॉक्टर होने के नाते आप को क्या लगता यह कितना सही कदम है?
डॉ.अरुण गुप्ता - कोरोना वायरस के लिए भी किसी भी फ्लू वायरस की तरह हमें इसके साथ जीने की आदत डालनी होगी। इसका कोई इलाज तो अभी तक आया नहीं है, इसलिए सावधानी के साथ ही इससे बचाव किया जा सकता। दिल्ली सरकार ने कुछ नियमों के साथ लॉकडाउन कुछ हद तक खोल दिया, जो जरूरी भी था। बस सावधानी रखे, जब भी कहीं बाहर से आएं तो फौरन हाथों को हैंडवॉश, साबुन से धोएं। किसी से हाथ न मिलाएं, किसी के नज़दीक न जाएं। मास्क लगाना अनिवार्य है। बेवजह कुछ समय तक मार्किट या भीड़ वाली जगह पर जाने से बचें। इसी तरह की सावधानियों के साथ आप कोरोनो से बच सकते हैं और अपने परिवार को सुरक्षित रख सकते हैं।

आप की क्रांति - एक डॉक्टर होने के नाते दिल्ली सरकार द्वारा कोरोना महामारी से बचाव के लिए उठाए कदमों पर आपका क्या विचार है?
डॉ.अरुण गुप्ता - इसमें कोई संदेह नहीं कि पूरे देश में किसी भी राज्य की सरकार से बेहतर और नियोजित ढंग से दिल्ली सरकार ने कोरोना महामारी का मुकाबला किया है। चाहे आपरेशन शील्ड हो या हर जोन में कोरोना फीवर सेंटर बनना हो, हॉस्पिटल की सुविधाओं से लेकर कोरोना योद्धाओं की सुरक्षा और बीमा। दिल्ली सरकार का हर काम सराहनीय है। एक तरफ सरकार कोरोना से लड़ रही है तो दूसरी तरफ एक गली को दिल्ली सरकार के विधायक सैनिटाइज करवा रहे हैं। इसके साथ-साथ पूरे संवेदनशील तरीके से दिल्ली के सरकारी स्कूल में गरीबों के लिए भोजन व राशन का वितरण किया जा रहा है। मुझे नहीं लगता कि किसी भी राज्य ने इतनी योजनाएं एक साथ सफलतापूर्वक संचालित हुई होंगी। इसकी जितनी सराहना की जाए कम है।

 
Have something to say? Post your comment
More National News
दिल्ली बॉर्डर एक सप्ताह के लिए सील, आगे का फैसला जनता के सुझाव के आधार पर होगा - अरविंद केजरीवाल
मनीष सिसोदिया ने ऑनलाइन और एसएमएस/आईवीआर आधारित शिक्षा की समीक्षा की
दिल्ली को 5000 करोड़ की मदद करे केंद्र सरकार, ताकि सैलरी का भुगतान हो सके: उपमुख्यमंत्री
सिंघी मछली और बगेरी के शौकीन है शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, के नाम BJPअध्यक्ष बसूलता है रुपया: आप
ब्याज समेत भुगतान किया जाए, किसानों के गन्ने की अरबों रुपए की बकाया राशि: हरपाल सिंह चीमा
कोरोना के मरीज बढ़ रहे, यह चिंता का विषय, लेकिन अभी घबराने जैसी कोई बात नहीं: अरविंद केजरीवाल
होम आइसोलेशन में ठीक हुए मरीजों ने कहा, अभिभावक की तरह ख्याल रखती है दिल्ली सरकार
कोरोना से डरें नहीं, खुद को बचाना जरूरी: मनीष सिसोदिया
पंजाब में कृषि क्षेत्र के ट्यूबवेलों पर बिल लागू करने की योजना का ‘आप’ ने किया सख्त विरोध
ट्रेनों में मौत के जिम्मेदारों पर एफआईआर एवं रेल मंत्री से इस्तीफे की मांग को लेकर AAP का विरोध प्रदर्शन