Tuesday, June 02, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
मनीष सिसोदिया ने ऑनलाइन और एसएमएस/आईवीआर आधारित शिक्षा की समीक्षा कीदिल्ली को 5000 करोड़ की मदद करे केंद्र सरकार, ताकि सैलरी का भुगतान हो सके: उपमुख्यमंत्रीसिंघी मछली और बगेरी के शौकीन है शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, के नाम BJPअध्यक्ष बसूलता है रुपया: आपब्याज समेत भुगतान किया जाए, किसानों के गन्ने की अरबों रुपए की बकाया राशि: हरपाल सिंह चीमाकोरोना के मरीज बढ़ रहे, यह चिंता का विषय, लेकिन अभी घबराने जैसी कोई बात नहीं: अरविंद केजरीवालहोम आइसोलेशन में ठीक हुए मरीजों ने कहा, अभिभावक की तरह ख्याल रखती है दिल्ली सरकारकोरोना से डरें नहीं, खुद को बचाना जरूरी: मनीष सिसोदियापंजाब में कृषि क्षेत्र के ट्यूबवेलों पर बिल लागू करने की योजना का ‘आप’ ने किया सख्त विरोध
National

कोरोना महामारी पर केंद्र सरकार का राहत पैकेज गरीब और मजदूर परिवारों के साथ छलावा - आप

May 15, 2020 08:16 PM

जयपुर: आम आदमी पार्टी यूथ विंग राजस्थान प्रदेश संगठन सचिव अभिषेक जैन बिट्टू ने केंद्र सरकार द्वारा कोरोना महामारी से देश की जनता को उबारने के लिए जो राहत पैकेज की घोषणा की है पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि पिछले 2माह से देश का प्रत्येक वर्ग कोरोना संकट को झेलने पर मजबूर है। देश का प्रत्येक नागरिक यथासंभव सहयोग प्रदान कर केंद्र और राज्य सरकारों की मदद कर रहा है, किंतु इस संकट(कोरोना महामारी) के समय में जहां केंद्र सरकार को देश की जनता के साथ खड़ा होना था, वहां जनता का साथ ना देते हुए गरीब,  मजदूर और मध्यमवर्गीय परिवारों को अपने हाल पर छोड़कर देश के आम नागरिकों के साथ विश्वासघात कर रही है देश को धोखा दे रही है।

अभिषेक जैन बिट्टू ने कहा कि केंद्र सरकार ने देश को 20लाख करोड़ का पैकेज देने के नाम पर धोखा किया है। यह पैकेज केवल ऊंची दुकान फीके पकवान की तरह है। जिसे केवल आंकड़ों के मायाजाल में फंसाकर देश की जनता को ठगा जा रहा है। अगर केंद्र सरकार को गरीब, मजदूर, बेरोजगार, नौजवान, मध्यमवर्गीय परिवारों को राहत देनी ही थी तो सीधे तौर पर उनके खातों में पचास हजार से एक लाख रुपए की सहायता डालने का काम करती। जिससे देश की अर्थव्यवस्था में भी सुधार होता और जरूरतमंदों की मदद होने के साथ-साथ कोरोना महामारी से जारी संघर्ष में भी बड़ी सफलता प्राप्त हो सकती थी। केंद्र सरकार को देश के प्रत्येक नागरिक की मदद के लिए आगे आना चाहिए और प्रत्येक परिवार को 1लाख से 5लाख तक कि व्यवसायिक लोन भी उपलब्ध करवाना चाहिए। किंतु केंद्र सरकार ने ऐसी किसी भी योजना पर अमल नही किया है।

केंद्र सरकार को देश के 80करोड़ लोगों के खाते में डायरेक्ट पैसा जमा कराना चाहिए था जिससे पैसे का सदुपयोग होता और आम जनता को सीधा फायदा मिलता। देश के प्रवासी मजदूरों के साथ केंद्र सरकार ने भद्दा मजाक किया है केंद्र सरकार ने कहा कि प्रवासी मजदूरों को 2महीने का राशन फ्री मिलेगा लेकिन 2महीने की बजाए देशभर के सभी प्रवासी मजदूरों को राशन कार्ड, आधार कार्ड या बिना किसी कार्ड के आधार पर हर महीने प्रति व्यक्ति 5किलो गेहूं एवं 5किलो चावल फ्री में आने वाले 1वर्ष तक दिया जाना चाहिए था। देश का कोई भी नागरिक गेहूं और चावल मांगे तो उसे प्रति व्यक्ति हर महीने 5किलो गेहूं और चावल देना केंद्र सरकार की जिम्मेदारी बनती है। खातों में डायरेक्ट पैसा डाल दिया जाता और प्रति व्यक्ति 5किलो गेहूं और चावल दिया जाता, तो इस देश में समस्याओं का बड़ा समाधान हो सकता था, लेकिन देश की सबसे बड़ी आबादी गरीब, मजदूर और मध्यमवर्गीय लोगों को केंद्र सरकार ने बड़े पैकेज से बिल्कुल अलग कर दिया है। इस कोरोना विपदा में भी केंद्र सरकार और उनके नेता देश के लोगो के साथ भद्दा मजाक कर रही है और। लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ कर केवल सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए बड़े राहत पैकेज का ढिंढोरा पिट रही है केंद्र सरकार, लेकिन सरकार देश को यह नहीं बता पा रही है कि कब, किसे और कैसे लोगों को इस राहत पैकेज लाभ प्राप्त होगा। केंद्र और राज्य की कांग्रेस सरकार को शर्म आनी चाहिए, पिछले कई दिनों से प्रवासी मजदूर पैदल चल रहा है ना उनके खाने की व्यवस्था है ना रहने और ना ही किसी साधन की व्यवस्था दोनों सरकार अब तक उपलब्ध नही करवाई है। मजबूरन गरीबों, मजदूरों को पैदल ही हजारों किलोमीटर का सफर तय करना पड़ रहा है। 

अभिषेक जैन ने प्रदेश सहित देशभर के भामाशाहों और सामाजिक कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह तो शुक्र है कि हम हिंदुस्तान में है जहां इंसानियत, मानवता का मेल है इंसान इंसान की मदद के लिए आगे आये और जरूरतमंदों की यथसम्भव मदद की, अगर देश मे भामाशाह और सामाजिक कार्यकर्ता नही होते तो यह देश भाजपा और कांग्रेस की सरकार के भरोसे कोरोना से कम भूखमरी से ज़्यादा मरने वालों के आंकड़े देखने को मिलते। 

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भी जयपुर, कोटा, जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर, भीलवाड़ा, भरतपुर, दौसा सहित प्रदेश के 20 से अधिक जिलों में जरूरतमन्द लोगो की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाए। अकेले जयपुर में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने 1लाख से अधिक भोजन के पैकेट और 500 से अधिक राशन किट लोगो को उपलब्ध करवाई साथ ही बेजुबान जानवर(पशु और पक्षियों) के लिए भी समय-समय पर चारे और दाने की व्यवस्था उपलब्ध करवाई।

 
Have something to say? Post your comment
More National News
दिल्ली बॉर्डर एक सप्ताह के लिए सील, आगे का फैसला जनता के सुझाव के आधार पर होगा - अरविंद केजरीवाल
मनीष सिसोदिया ने ऑनलाइन और एसएमएस/आईवीआर आधारित शिक्षा की समीक्षा की
दिल्ली को 5000 करोड़ की मदद करे केंद्र सरकार, ताकि सैलरी का भुगतान हो सके: उपमुख्यमंत्री
सिंघी मछली और बगेरी के शौकीन है शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, के नाम BJPअध्यक्ष बसूलता है रुपया: आप
ब्याज समेत भुगतान किया जाए, किसानों के गन्ने की अरबों रुपए की बकाया राशि: हरपाल सिंह चीमा
कोरोना के मरीज बढ़ रहे, यह चिंता का विषय, लेकिन अभी घबराने जैसी कोई बात नहीं: अरविंद केजरीवाल
होम आइसोलेशन में ठीक हुए मरीजों ने कहा, अभिभावक की तरह ख्याल रखती है दिल्ली सरकार
कोरोना से डरें नहीं, खुद को बचाना जरूरी: मनीष सिसोदिया
पंजाब में कृषि क्षेत्र के ट्यूबवेलों पर बिल लागू करने की योजना का ‘आप’ ने किया सख्त विरोध
ट्रेनों में मौत के जिम्मेदारों पर एफआईआर एवं रेल मंत्री से इस्तीफे की मांग को लेकर AAP का विरोध प्रदर्शन