Tuesday, June 02, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
मनीष सिसोदिया ने ऑनलाइन और एसएमएस/आईवीआर आधारित शिक्षा की समीक्षा कीदिल्ली को 5000 करोड़ की मदद करे केंद्र सरकार, ताकि सैलरी का भुगतान हो सके: उपमुख्यमंत्रीसिंघी मछली और बगेरी के शौकीन है शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, के नाम BJPअध्यक्ष बसूलता है रुपया: आपब्याज समेत भुगतान किया जाए, किसानों के गन्ने की अरबों रुपए की बकाया राशि: हरपाल सिंह चीमाकोरोना के मरीज बढ़ रहे, यह चिंता का विषय, लेकिन अभी घबराने जैसी कोई बात नहीं: अरविंद केजरीवालहोम आइसोलेशन में ठीक हुए मरीजों ने कहा, अभिभावक की तरह ख्याल रखती है दिल्ली सरकारकोरोना से डरें नहीं, खुद को बचाना जरूरी: मनीष सिसोदियापंजाब में कृषि क्षेत्र के ट्यूबवेलों पर बिल लागू करने की योजना का ‘आप’ ने किया सख्त विरोध
National

PM ने CM से 17मई के बाद लॉकडाउन के स्वरूप पर मांगे सुझाव, जनता देगी केजरीवाल को सुझाव

May 12, 2020 04:14 PM

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों से 17मई के बाद लॉकडाउन के स्वरूप पर सुझाव मांगा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि प्रधानमंत्री जी ने 17मई के बाद लॉकडाउन में ढिलाई देने को लेकर सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से 15मई तक सुझाव मांगा है। दिल्ली के लोग किन-किन क्षेत्रों में कितनी ढिलाई चाहते हैं? इस पर वे 13मई की शाम 5बजे तक अपने सुझाव दे सकते हैं। दिल्ली के लोग फोन नंबर 1031 पर अपने सुझाव रिकॉर्ड करा सकते हैं, वाट्सऐप नंबर 8800007722 पर या ईमेल delhicm.suggestions@gmail.com पर सुझाव भेज सकते हैं। वहीं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना के चलते टीचर श्रीमती बैकाली सरकार के देहांत पर गहरा दुख व्यक्त किया है और उनके परिवार को 1करोड़ रुपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है।

जनता और विशेषज्ञों से मिले सुझाव का प्रस्ताव बना कर केंद्र सरकार को भेजेंगे- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि तीसरा लॉकडाउन 17मई तक है और 17मई के बाद क्या करना चाहिए?, इस पर कल सोमवार (11मई) को प्रधानमंत्री जी ने देश के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा की थी। प्रधानमंत्री जी ने चर्चा के बाद कहा कि कौनसा राज्य क्या चाहता है, आप लाॅकडाउन में कितनी ढीलाई चाहते हैं और क्या-क्या चीजें चालू करना चाहते हैं? प्रधानमंत्री ने कहा कि सभी राज्य 15मई तक अपने सुझाव भेज दीजिए और उन सुझावों के उपर केंद्र सरकार निर्णय लेगी कि 17मई के बाद क्या किया जाए। 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं अपने दिल्ली के लोगों से आज सुझाव मांगना चाहता हूं। जाहिर सी बात है कि अभी भी कोरोना फैला हुआ है और लाॅकडाउन को पूरी तरह से खत्म नहीं किया जा सकता है। क्या लाॅकडाउन में ढिलाई दी जानी चाहिए? अगर ढिलाई दी जानी चाहिए, तो कितनी दी जानी चाहिए? किस-किस क्षेत्र में ढिलाई दी जानी चाहिए? क्या बसें चालू होनी चाहिए? क्या मेट्रो चालू होनी चाहिए? क्या ऑटो व टैक्सी चालू होने चाहिए? क्या स्कूल और मार्केट खुलने चाहिए? इंडस्ट्रीयल एरिया खुलना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि क्या-क्या चीजें खुलनी चाहिए और क्या-क्या चीजें नहीं खुलनी चाहिए? निश्चित रूप से इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन किया जाएगा। सबके लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। एक तरफ, हमें सबसे पहले कोरोना से अपनी सेहत को बचाना है और दूसरी तरफ, अर्थव्यवस्था की भी सेहत बना कर रखनी है, क्योंकि लाॅकडाउन की वजह से अभी काफी लोगों को बहुत सारी तकलीफें हो रही हैं।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लाॅकडाउन में ढील को लेकर दिल्ली के लोगों से सुझाव मांगा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे आप लोग कल बुधवार(13 मई, शाम 5बजे) तक अपने-अपने सुझाव भेज दें। मैं जनता का सुझाव लेने के साथ विशेषज्ञों और डॉक्टरों से भी बात करूंगा। 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह स्पष्ट किया कि मांगे जा रहे सुझाव कोई वोटिंग नहीं है कि किस सुझाव को कितने वोट मिले हैं। यह सिर्फ आप सभी के विचार हैं कि आपको क्या लग रहा है? आपको क्या लगता है कि कितनी ढीलाई दी जानी चाहिए? ढीलाई दी जानी चाहिए भी या नहीं दी जानी चाहिए। जो भी अच्छे सुझाव आएंगे, उसपर विशेषज्ञों और लोगों से बात कर हम दिल्ली वालों की तरफ से एक प्रस्ताव बना लेंगे और हम परसों अपना प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेज देंगे।

दिल्ली निवासी इन माध्यमों के जरिए दे सकते हैं अपने सुझाव- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली निवासी हमें इन माध्यमों के जरिए अपने सुझाव भेज सकते हैं। पहला, 1031 फोन नंबर है। इस पर आप फोन करके अपने सुझाव को रिकाॅर्ड करा सकते हैं। दूसरा, वाट्सऐप के जरिए भी आप अपने सुझाव भेज सकते हैं। वाट्सऐप नंबर 8800007722 है। तीसरा, आप ई-मेल भी कर सकते हैं। ई-मेल एड्रेस delhicm.suggestions@gmail.com है। हमें आपके सुझावों का इंतजार रहेगा। आप को क्या लगता है, इस पर आप हमें अपने अच्छे-अच्छे सुझाव भेजिए। आप सभी के सुझावों के आधार पर विशेषज्ञों से बात करने के बाद हम परसों तक दिल्ली वालों का प्रस्ताव बना कर केंद्र सरकार को भेज देंगे। इसके बाद केंद्र सरकार तय करेगी कि 17मई के बाद लॉकडाउन रहेगा या नहीं रहेगा और रहेगा तो किस-किस क्षेत्र में रहेगा?

कोरोना से हुई टीचर की मौत, परिवार को देंगे एक करोड़ की सम्मान राशि- अरविंद केजरीवाल

इससे पहले, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना महामारी के इस दौर में दिल्ली के लोगों की सेवा करते हुए टीचर श्रीमती बैकाली सरकार को कोरोना हो गया और 4मई को उनका देहांत हो गया। श्रीमती बैकाली जी रोहिणी में रहती थी, और एमसीडी के स्कूल में कंस्ट्रैक्चुअल टीचर थी। दिल्ली सरकार हंगर रिलीफ सेंटर में गरीबों के लिए खाना बांट रही है। ऐसे ही एक हंगर रिलीफ सेंटर में श्रीमती बैकाली जी की ड्यूटी लगी थी, जहां पर वह गरीबों को पका हुआ खाना बांट रही थीं। उनकी ड्यूटी 10अप्रैल को लगी थी। इसके बाद 17 और 18अप्रैल को लगी। तीनों दिन उन्होंने ड्यूटी कीं। इसके बाद उनकी ड्यूटी 25अप्रैल को लगी, लेकिन उस दिन वह ड्यूटी पर नहीं आईं। जानकारी करने पर पता चला कि वह बीमार हैं। उन्हें डाॅक्टर अंबेडकर अस्पताल, रोहिणी में भर्ती कराया गया। उसके बाद उन्हें राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर 4मई को उनका देहांत हो गया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि खाना बांटते समय उन्हें भी कोरोना हो गया और कोरोना की वजह से ही उनका देहांत हो गया। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे और उनके परिवार को यह दुख सहने की शक्ति दे। हम सभी देश और दिल्ली के लोगों को अपने ऐसे कोरोना योद्धाओं पर गर्व हैं, जो अपनी जान जोखिम में डाल कर समाज की सेवा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बैकाली जी के परिवार को दिल्ली सरकार की तरफ से एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि दी जाएगी। उनकी जान की कोई कीमत नहीं है। अपने घर का कोई व्यक्ति चला जाता है, तो उसकी जान की कोई कीमत नहीं होती है। फिर भी उनके जाने के बाद उनके परिवार की मदद के लिए दिल्ली सरकार एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि देकर मदद करेगी।

कंस्ट्रक्शन मजदूरों के खाते में फिर भेजी जा रही सहायता राशि- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कई कंस्ट्रक्शन साइटों पर काम करने वाले काफी गरीब मजदूर हैं। कोरोना की सबसे बड़ी मार इन गरीबों को ही पड़ रही है। पिछले महीने दिल्ली सरकार ने कंस्ट्रक्शन मजदूरों की मदद के लिए उनके बैंक खाते में 5-5हजार रुपये डाले थे। इस महीने एक बार फिर उनकी मदद के लिए हम लोग उनके खाते में 5-5हजार रुपये और डलवा रहे हैं। कुछ लोगों के खाते में पैसे भेजे जा चुके हैं और जो बचे हुए हैं, उन्हें भी जल्द मिल जाएगा।

 
Have something to say? Post your comment
More National News
दिल्ली बॉर्डर एक सप्ताह के लिए सील, आगे का फैसला जनता के सुझाव के आधार पर होगा - अरविंद केजरीवाल
मनीष सिसोदिया ने ऑनलाइन और एसएमएस/आईवीआर आधारित शिक्षा की समीक्षा की
दिल्ली को 5000 करोड़ की मदद करे केंद्र सरकार, ताकि सैलरी का भुगतान हो सके: उपमुख्यमंत्री
सिंघी मछली और बगेरी के शौकीन है शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, के नाम BJPअध्यक्ष बसूलता है रुपया: आप
ब्याज समेत भुगतान किया जाए, किसानों के गन्ने की अरबों रुपए की बकाया राशि: हरपाल सिंह चीमा
कोरोना के मरीज बढ़ रहे, यह चिंता का विषय, लेकिन अभी घबराने जैसी कोई बात नहीं: अरविंद केजरीवाल
होम आइसोलेशन में ठीक हुए मरीजों ने कहा, अभिभावक की तरह ख्याल रखती है दिल्ली सरकार
कोरोना से डरें नहीं, खुद को बचाना जरूरी: मनीष सिसोदिया
पंजाब में कृषि क्षेत्र के ट्यूबवेलों पर बिल लागू करने की योजना का ‘आप’ ने किया सख्त विरोध
ट्रेनों में मौत के जिम्मेदारों पर एफआईआर एवं रेल मंत्री से इस्तीफे की मांग को लेकर AAP का विरोध प्रदर्शन