Monday, August 03, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वॉरियर डॉ. जोगिंदर के परिजनों को दी एक करोड़ की सहायता राशिबिहार के खेती बाजार पर PAU की सनसनीखेज रिपोर्ट के बारे में स्पष्टीकरण दें कैप्टन व बादल: भगवंत मानकोटा स्टोन की सीढ़ियों के निर्माण से कर्मपुरा वासियों को मिलेगा आराम: विधायक शिवचरण गोयलAAP सरकार के फैसले को खारिज करके BJP ने दिल्ली के 20लाख लोगों को धोखा दिया- राघव चड्ढा50वर्ष से अधिक उम्र वाले कर्मचारियों के सेवानिवृत्त और समीक्षा वाले कानून वापस ले सरकार: डॉ शशिकांतCYSS ने यूजीसी की प्रस्तावित ऑनलाइन/ऑफ़लाइन परीक्षा के विरोध में की राष्ट्रव्यापी भूख हड़तालमुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना योद्धा डॉ. जावेद के परिजनों को दी एक करोड़ की सहायता राशिऑनलाइन परीक्षा के खिलाफ कल 31जुलाई को सीवाईएसएस करेगी राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन
National

दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने वकीलों को दिया एक और तोहफा, ‘वकील वेलफेयर स्कीम’ के तहत 21मार्च से कर सकते हैं आवेदन

March 18, 2020 08:08 PM

दिल्ली सरकार के विधि विभाग ने ‘मुख्यमंत्री वकील वेलफेयर स्कीम’ के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र वकीलों से ऑनलाइन आवेदन मांगा है। यह आवेदन प्रक्रिया आगामी 21मार्च से शुरू होगी और 31मार्च तक की जा सकेगी। इस स्कीम के तहत वही वकील ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे, जो दिल्ली में प्रैक्टिस कर रहे हैं, दिल्ली बार काउंसिल में पंजिकृत हैं और दिल्ली के मतदाता हैं।

दिल्ली में प्रैक्टिस कर रहे पंजीकृत वकीलों के वेलफेयर के लिए दिल्ली सरकार ने किया है ₹50करोड़ के बजट का प्रावधान

‘मुख्यमंत्री वकील वेलफेयर स्कीम’ के तहत वकीलों के वेलफेयर के लिए ₹50करोड़ बजट का प्रावधान किया गया है। विधि विभाग ने आईटी विभाग को एक ओटीपी सुविधा के साथ ऑनलाइन आवेदन तैयार करने का निर्देश दिया है। यह एप्लीकेशन विधि विभाग की वेबसाइट पर प्रदर्शित होगा। इस आवेदन को वही वकील भर सकेंगे, जो मुख्यमंत्री वकील वेलफेयर स्कीम के पात्र होंगे। आईटी विभाग द्वारा तैयार एप्लीकेशन आगामी 21मार्च 2020 से विधि विभाग की वेबसाइट पर प्रदर्शित होगा। इसके साथ पात्र लाभार्थियों को सूचित करने के लिए 19 व 20मार्च को विभिन्न अखबारों के माध्यम से स्कीम का प्रचार प्रसार भी किया जाएगा। दिल्ली के सभी बार असोसिएशन के साथ पत्राचार किया जाएगा। इसके अलावा, विधि विभाग दिल्ली बार काउंसिल के पंजिकृत पात्र लाभार्थियों को एसएमएस भेज कर भी जानकारी देगा। विधि विभाग की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सक्रीय एप्लीकेशन आगामी 31मार्च तक ही प्रदर्शित होगा। इसके बाद इस स्कीम के तहत आवेदन नहीं किया जा सकेगा।

इससे पहले, विधि विभाग ने 16मार्च 2020 को मुख्यमंत्री वकील वेलफेयर स्कीम के संबंध में महत्वपूर्ण बैठक कर एक निश्चित समय के अंदर पात्र लाभार्थियों को लाभ पहुंचाने को लेकर विस्तार से चर्चा की थी। इसके बाद दिल्ली के कानून मंत्री कैलाश गहलोत ने 17मार्च 2020 को स्कीम की अधिसूचना जारी की थी।

गौरतलब है कि वकीलों के लिए कल्याणकारी योजनाओं को किस तरह से लागू किया जाए, इस पर अपनी रिपोर्ट देने के लिए 29नवंबर 2019 को वकीलों की 13 सदस्यीय कमिटी बनाई गई थी। कमिटी ने 12दिसंबर 2019 को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अपनी रिपोर्ट सौंपी थी। कमिटी ने अपनी रिपोर्ट में चार प्रमुख प्रस्ताव दिए थे। पहला, दिल्ली में पंजिकृत प्रत्येक वकील को बीमा कंपनी के माध्यम से 10लाख रुपये का ग्रुप लाइफ इंश्योरेंस प्रदान किया जाए। दूसरा, पंजीकृत वकील, उसकी पत्नी व 25वर्ष से कम उम्र के दो बच्चों को ₹5लाख का मेडी-क्लेम दिया जाए। तीसरा, सभी जिला न्यायालयों में ई-लाइब्रेरी स्थापित किया जाए, जिसमें 10कंप्यूटर लगाए जाएं, ताकि ऑनलाइन कानून संबंधित जानकारी आदि प्राप्त कर सकें। चौथा, सभी कोर्ट में महिला वकीलों के लिए क्रेच की सुविधा प्रदान की जाए। दिल्ली कैबिनेट ने 18दिसंबर 2019 को वकीलों की कमिटी से प्राप्त सभी प्रस्तावों को स्वीकार करते हुए मंजूरी दे दी थी। मंत्री परिषद ने निजी सचिव(विधि) को टेंडर प्रक्रिया शुरू करने करने के लिए निर्देशित किया। इसके साथ ही निजी सचिव (विधि) को साॅफ्टवेयर विकसित करने के बाद लाभ प्राप्त करने वाले वकीलों के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित करने की प्रक्रिया भी शुरू करने के भी निर्देश दिए गए। इसके अलावा, मंत्री परिषद ने यह भी निर्देशित किया कि इस योजना का लाभ सिर्फ उन्हीं वकीलों को मिलेगा, जो दिल्ली में प्रैक्टिस कर रहे हैं, दिल्ली बार काउंसिल के तहत पंजीकृत हैं और जिनका नाम दिल्ली के मतदाता सूची में शामिल है।

वकीलों व परिवार को ग्रुप मेडी-क्लेम और वकीलों को लाईफ इंश्योरेंस कवरेज

विधि मंत्रालय से अधिसूचना जारी होने के बाद अब मुख्यमंत्री वकील वेलफेयर स्कीम के तहत दिल्ली में प्रैक्टिस करने वाले वकीलों, उनकी पत्नी, 25वर्ष से कम उम्र को 5लाख रुपये का ग्रुप मेडी-क्लेम का लाभ मिल सकेगा। यह सुविधा एक बीमा कंपनी के माध्यम से समूह चिकित्सा कवरेज प्रदान की जाएगी। साथ ही वकील को 10लाख का लाइफ इंश्योरेंस कवरेज भी दिया जाएगा।

दिल्ली के न्यायालयों में ई-लाइब्रेरी की सुविधा

दिल्ली में छह जिला अदालते हैं। समिति ने सभी में ई-लाइब्रेरी स्थापित करने की सिफारिश की थी। अब जिला न्यायालयों में प्रैक्टिस करने वाले अधिवक्ताओं को अपने मामलों और तर्कों को तैयार करने के लिए आवश्यक अधिनियमों, नियमों और केस कानूनों के कानूनी अनुसंधान करने में गंभीर समस्या का सामना करना नहीं पड़ेगा। अब सभी 10न्यायालयों, तीस हजारी कोर्ट, पटियाला हाउस कोर्ट, कड़कड़डूमा कोर्ट, साकेत कोर्ट, द्वारका कोर्ट और रोहिणी कोर्ट में 10कंप्यूटरों के साथ ई-जर्नल, वेब संस्करणों समेत अन्य सुविधाओं से युक्त ई-लाइब्रेरी स्थापित की जाएगी। जिसमें एससीसी ऑनलाइन, दिल्ली लॉ टाइम्स आदि के साथ-साथ हैवी ड्यूटी प्रिंटर शामिल हैं।

अधिवक्ताओं और कर्मचारियों के लिए क्रेच सुविधा

दिल्ली की अदालतों में कार्यरत महिला अधिवक्ताओं और महिला कर्मचारियों की समस्याओं के मद्देनजर समिति ने सभी छह जिला अदालतों में मुफ्त में क्रेच चलाने की सिफारिश की थी। अधिसूचना जारी होने के बाद अब सभी अदालतों में क्रेच की व्यवस्था की जा सकेगी। क्रेच चलाने के लिए एलआईसी को सीएसआर के तहत इससे जोड़ने का प्रस्ताव भी है।

फरवरी 2019 में वकीलों ने की थी मुख्यमंत्री से वेलफेयर स्कीम की मांग

दरअसल, 12 फरवरी 2019 को देशभर के वकीलों ने चिकित्सा सुविधा व पेंशन योजना को लेकर अदालतों में हड़ताल रखी थी। उसी दिन वकीलों के एक प्रतिनिधि मंडल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात कर अपनी मांगे रखी थीं। मुख्यमंत्री ने मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया था, इसके बाद दिल्ली सरकार की बजट में वकील वेलफेयर के लिए 50करोड़ का प्रावधान किया गया।

 
Have something to say? Post your comment
More National News
हर मामले पर एसआईटी, परंतु नतीजा जीरो का जीरो - हरपाल सिंह चीमा
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वॉरियर डॉ. जोगिंदर के परिजनों को दी एक करोड़ की सहायता राशि
भगवानदास नगर पार्क में अत्याधुनिक झूले का निर्माण आप सबके आशीर्वाद से संभव हो पाया: विधायक शिवचरण गोयल बिहार सरकार जल्द दिल्ली मॉडल को अपनाए: डॉ शशिकांत जहरीली शराब: AAP ने पंजाब के सभी 117 विधानसभा क्षेत्रों में किया विरोध
कोटा स्टोन की सीढ़ियों के निर्माण से कर्मपुरा वासियों को मिलेगा आराम: विधायक शिवचरण गोयल
AAP सरकार के फैसले को खारिज करके BJP ने दिल्ली के 20लाख लोगों को धोखा दिया- राघव चड्ढा
50वर्ष से अधिक उम्र वाले कर्मचारियों के सेवानिवृत्त और समीक्षा वाले कानून वापस ले सरकार: डॉ शशिकांत
CYSS ने यूजीसी की प्रस्तावित ऑनलाइन/ऑफ़लाइन परीक्षा के विरोध में की राष्ट्रव्यापी भूख हड़ताल
बिहार के गोपालगंज में पुल नहीं, भरोसा टूटा है; दोषियों को सजा दें सरकार: AAP