Friday, April 10, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
कोरोना वॉरियर्स: अपने मुलाजिमों की मदद करने वाले को इनकम टैक्स में छूट दे सरकार - आम आदमी पार्टीराशन कार्ड के लिए आवेदन करने वालों को कल से स्कूलों में बांटा जाएगा राशन - अरविंद केजरीवालमुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सभी विधायकों से की चर्चा, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग भी मांगा'कोरोना वायरस' पर राजनीति करने की बजाए केजरीवाल सरकार से सबक लें कैप्टन अमरिंदर - भगवंत मानजिनके पास राशन कार्ड नहीं है, वे "ई-डिस्ट्रिक्ट" वेबसाइट पर आवेदन कर दें, सरकार देगी मुफ्त राशन - अरविंद केजरीवाललॉक डाउन में बेसहारा गरीबों के सहारा बने आम आदमी पार्टी के विधायकमुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली छोड़कर जा रहे लोगों से अपील की कि "जो जहां है, वहीं रहे"ਕੋਰੋਨਾ ਵਾਇਰਸ ਨਾਲ 'ਗਰਾਊਂਡ ਜ਼ੀਰੋ' 'ਤੇ ਜੰਗ ਲੜਨ ਵਾਲਿਆਂ ਲਈ ਵਿਸ਼ੇਸ਼ ਐਲਾਨ ਕਰੇ ਕੈਪਟਨ ਸਰਕਾਰ - ਆਪ
National

सोशल मीडिया पर भड़काऊ मैसेज भेजने वाले हो जाएं सावधान, हो सकती है तीन साल तक की जेल

March 18, 2020 12:48 AM

नई दिल्ली: दिल्ली में दंगा भड़काने के लिए सोशल मीडिया पर भड़काउ व दो धर्मों के बीच दुुश्मनी पैदा करने वाले मैसेज भेजने, शेयर और फॉरवर्ड करने वालों पर कार्रवाई के लिए बनाई गई दिल्ली विधानसभा की शांति व सदभाव समिति के पास अब तक 7732शिकायतें आ चुकी हैं। समिति ने प्राप्त शिकायतों में से 2110 की स्क्रीनिंग कर ली है, जिसमें 504मामलों में दो समुदायों के बीच भावनाएं भड़काने वाले कंटेंट पाए गए हैं। साथ ही, समिति ने दो समुदायों के बीच दुश्मनी व भावनाएं भड़काने वाले कंटेंट भेजने वाले दो शिकायतकर्ताओं के बयान भी दर्ज किया है। जिसमें जिन लोगों के खिलाफ शिकायत की गई है, उन पर अपराध बनता पाया गया है। समिति के चेयरमैन राघव चड्ढा ने कहा कि कमिटी शिकायतों की जांच कर दो समुदायों के बीच भावनाएं भड़कानें वालों पर उचित कानूनी कार्रवाई करेगी और उन्हें तीन साल की जेल कराएगी।

दिल्ली विधानसभा की शांति व सदभाव समिति को अब तक मिली 7732 शिकायतें, 2110 की हुई स्क्रीनिंग, जिनमें से 504शिकायतें ऐसी हैं, जिसमें दो समुदायों के बीच भावनाएं भड़काने के पर्याप्त साक्ष्य मौजूद हैं - राघव चड्ढा

दिल्ली विधानसभा में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए शांति एवं सदभाव समिति के चेयरमैन राघव चड्ढा ने कहा कि इस कमिटी का एकमात्र उद्देश्य दिल्ली में शांति, सदभाव और भाईचारा बनाए रखना है और जो भी शरारती तत्व इस शांति व सदभाव को भंग करने का प्रयास करते हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई करेगी। इस कमिटी ने कुछ दिन पहले एक व्हाट्सएप्प नंबर और एक ईमेल आईडी जारी किया था। कमिटी ने जो लोग भावनाएं भड़काने और उत्तेजित करने वाले मैसेज फारवर्ड, शेयर या भेजते हैं, जनता से उनकी जानकारी व्हाट्सएप्प या ई-मेल के जरिए कमिटी को देने के लिए कहा गया था। कमिटी शिकायतों की जांच-पड़ताल कर उचित कानूनी कार्रवाई करेगी। एफआईआर दर्ज कराकर ऐसे लोगों को तीन साल तक की जेल कराएगी।चेयरमैन राघव चड्ढा ने कहा कि मैं पुनः दोहराना चाहता हूं कि आपका किया गया फॉरवर्ड, शेयर या भेजा गया एक गलत मैसेज आपको तीन साल की जेल की सजा दे सकता है। कमिटी द्वारा जारी व्हाट्सएप्प और ईमेल पर लोगों ने बहुत सारी शिकायतें दी हैं। आज तक इस कमिटी को कुल 7732शिकायतें प्राप्त हुई हैं। इसमें 232शिकायतें ईमेल और 7500शिकायतें व्हाट्सएप्प के जरिए आई हैं। अभी तक कमिटी ने कुल 2110शिकायतों की स्क्रीनिंग की है। जिसमें से 504 ऐसी शिकायतें हैं, जिसमें सीधे-सीधे भावना भड़काने वाला कंटेंट(सामग्री) नजर आ रहा है, यानि कि 504शिकायतें ऐसी हैं, जिसमें कमिटी को कार्रवाई करने के लिए पर्याप्त तथ्य मौजूद हैं। कमिटी से आज दो शिकायतकर्ताओं ने भड़काउ कंटेंट भेजा भेज कर शिकायत दर्ज कराई है। उन दोनों को बुलाया गया और उनसे सवाल-जवाब किए गए। दोनों ने कमिटी के सामने शपथ लेने के बाद सच बताते हुए अपना पूरा बयान दर्ज कराया है। दोनों शिकायतकर्ताओं की शिकायतें दर्ज करने के बाद कमिटी ने पाया है कि जिस व्यक्ति की उस शिकायतकर्ता ने शिकायत की है, वह उसके खिलाफ एक अपराधिक मुकदमा पूरी तरह से बनता है। उसके खिलाफ दो समुदायों के बीच दुश्मनी पैदा करने और नफरत फैलाने का मुकदमा आईपीसी की धाराओं के अंर्तगत बनता है। अब हम अपनी अगली सुनवाई में उन दो तथा-कथित अपराधियों को समन करेंगे। उनसे पूछताछ, जांच-पड़ताल और उनके बयान रिकाॅर्ड करेंगे। उनके बयान रिकाॅर्ड करने के बाद अगर कमिटी निष्कर्ष पर पहुंची, तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

शिकायत करने वाले दो शिकायतकर्ताओं के बयान दर्ज कराए गए, अगली सुनवाई में आरोपियों को शमन किया जाएगा, कमिटी हर नफरत फैलाने वाले कंटेंट को अंजाम तक पहुचाएगी और एफआईआर दर्ज कराएगी - राघव चड्ढा

राघव चड्ढा ने बताया कि इसी के साथ, कमिटी ने एक और अहम फैसला लिया है कि जितनी भी गंभीर प्रकृति की शिकायतें है, जिसमें आईपीसी की धाराओं के तहत एक मुकदमा बनता है और उचित कार्रवाई बनती हैं, उन सभी मामलों में यह कमिटी शिकायतकर्ता और आरोपी, दोनों को अपने सामने उपस्थिति होने का आदेश जारी करेगी। पूरी जांच पड़ताल करने के बाद कानूनी कार्रवाई करेगी। मैं बताना चाहूंगा कि हर वह शिकायत, जिसमें एक आपराधिक मुकदमा बनता है, उसे अंत तक पहुंचाना इस कमिटी का दायित्व है। हम यह सुनिश्ति करेंगे कि यह कमिटी भावनाएं भड़काने वाले, साम्प्रदायिक सदभाव बिगाड़ने वाले, इस देश को हिन्दू-मुस्लिम के बीच बांट कर लोगों के बीच दरार डालने का काम करने वाले हर व्यक्ति को तीन साल की कैद कराए। कुछ दिनों में ही इस कमिटी के पास करीब सात हजार से अधिक शिकायतें आ चुकी हैं और हमारा यह मानना है कि आगे अभी और शिकायतें आएंगी। यह कमिटी कुछ वकीलों और आईटी विशेषज्ञ को मदद करने के लिए अपने पास रखेगी और सोशल मीडिया पर चल रही खबरों की सत्यता की पूरी जांच पड़ताल करने वाले बहुत सारे वेबसाइट व पोर्टल भी हैं, हम उन्हें भी अपने साथ जोड़ कर इस मुहिम को आगे बढ़ाएंगे। जो भी व्यक्ति हमें शिकायत दे रहा है और उसकी शिकायत पर एफआईआर दर्ज हो रही है, उस व्यक्ति को यह कमिटी दस हज़ार रुपये का पुरस्कार भी देगी। इसी के साथ-साथ यह कमिटी आने वाले दिनों में कई सारे शिकायतकर्ताओं और अपराधियों को अपने सामने बुला कर शपथ दिलाने के बाद उनका वीडियो कैमरे पर बयान दर्ज करेगी।

 
Have something to say? Post your comment
More National News
दिल्ली में 5-टी प्लान को अमल में लाकर जीतेंगे कोरोनावायरस से जंग - अरविंद केजरीवाल
दिल्ली सरकार ने माध्यमिक कक्षाओं के बच्चों के शिक्षण कार्य के लिए खान अकादमी के साथ किया करार, स्कूलों में ऑनलाइन कक्षाएं शुरू
सांसद संजय सिंह ने की अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के बयान की निंदा, बोले - 'ट्रंप की धमकी मोदी जी को नहीं, 135करोड़ भारतीयों को है'
राशन कार्ड के लिए आवेदन करने वालों को कल से स्कूलों में बांटा जाएगा राशन - अरविंद केजरीवाल
बेलगाम हुए शराब और केबल माफिया पर क्यों नहीं लगाम कस रही कैप्टन सरकार - हरपाल सिंह चीमा
थालियां बजाने और मोमबत्तियां जलाने जैसे जुमलों की बजाए लोगों की मुश्किलों के हल के लिए गंभीर हो सरकार - कुलतार संधवां
गुरुद्वारा मजनूं का टीला पर एफआईआर दर्ज करने में केजरीवाल सरकार का रत्तीभर भी सम्बन्ध नहीं - भगवंत मान
कोरोना से लड़ने के लिए वित्तीय सहायता न देकर दिल्ली के साथ राजनीति कर रही केंद्र सरकार - मनीष सिसोदिया
दिल्ली सरकार की कोशिश कोरोना न फैले, इससे मौतें न हो, मैं खुद एक-एक मरीज पर नजर रख रहा हूँ- अरविंद केजरीवाल
कोरोना ग्रस्त मृतकों के सुरक्षित और सम्मानजनक अंतिम संस्कार के लिए ऑर्डिनेंस जारी करे कैप्टन अमरिंदर सरकार - आप