Friday, January 24, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
केंद्र की भाजपा सरकार की सहमति से डीडीए ने गरीबों को फ्लैट देने के नाम पर किया घोटाला - संजय सिंहबहस करें कैप्टन, बता देंगे 5 मिनटों में कैसे रद्द होंगे महंगे बिजली समझौते - अमन अरोड़ाभाजपा ने डाला महंगी शिक्षा का बोझ, सीबीएसई स्कूल में 10वीं और 12वीं के फीस बढ़ी - मनीष सिसोदियादिल्ली में पूर्व सैनिकों ने अरविंद केजरीवाल को दिया समर्थन5 साल दिन रात काम करती रही आप सरकार, भाजपा और मीडिया की तंद्रा अब भंग हुईआम आदमी पार्टी का 2020 विधानसभा चुनाव स्लोगन “अच्छे बीते 5 साल, लगे रहो केजरीवाल” लांचभाजपा सांसद विजय गोयल ने किया दिल्ली की जनता का अपमान: संजय सिंहहार की हताशा में भाजपा दिल्ली में गंदी राजनीति पर उतारू, हिंसा की विस्तृत जांच हो, दोषियों को मिले सजा - गोपाल राय
National

दिल्ली में पूर्व सैनिकों ने अरविंद केजरीवाल को दिया समर्थन

December 30, 2019 12:12 AM

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रफी मार्ग स्थित कांस्टीट्यूशन क्लब, दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में शहीद सैनिकों के परिवार व पूर्व सैनिकों को सम्मानित किया और उनसे बातचीत की। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार पूर्व सैनिकों को कभी नहीं भूली। हम शहीद हुए सैनिकों की 'जान' की कीमत नहीं दे सकते, लेकिन उन्हें सम्मान देने की अवश्य कोशिश किए है। हमने सरकार बनाने के तुरंत बाद से ही दिल्ली के रहने वाले शहीद सैनिकों के परिवार को हमारी सरकार ने एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का काम किया। पिछले पांच साल में हमारी सरकार ने कई विभागों में बड़े पैमाने पर पूर्व सैनिकों को भर्ती कर उनकी क्वालिटी का उपयोग किया, इसी वजह से आज दिल्ली में शिक्षा व सुरक्षा व्यवस्थां बेहतर हो पाई है।

हमारी सरकार ने शहीद सैनिकों के परिवार को एक करोड़ की सम्मान राशि व एक सदस्य को नौकरी देने का काम किया: अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पूरे देश को आप लोगों पर गर्व है। आप में से कई लोगों ने बड़ी-बड़ी कुर्बानियां दी है। आप में से कई लोग ऐसे है, जिनके परिवार के सदस्यों ने देश को बचाने के लिए अपनी जान की बाजी लगा दी और शहीद हो गए। हम अपने घरों में अपनी जिंदगी आराम से जीते रहते है। हमें कभी एहसास नहीं होता है कि हमारा सैनिक किस तरह से बार्डर पर अपनी जान की बाजी लगाकर हमारे देश की रक्षा कर रहा है। हम कभी एहसास ही नहीं कर पाते है कि जब हमारा सैनिक बाॅर्डर पर हमारी रक्षा करता है, तो कई हजार किलोमीटर दूर उसका परिवार इंतजार किस तरह से कर रहा होगा। जब उस इंतजार में कई बार पता चलता है कि वह शहीद हो गया और उसका शव घर आता है, तो उस परिवार के उपर क्या गुजरती होगी। हमारे सैनिकों ने जब भी जरूरत पड़ी है, मां भारती के लिए गजब के शौर्य और साहस का परिचय दिया है।

हमने शहीद के घर जाकर दी सम्मान राशि: अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि पिछले पांच साल में हमने दिल्ली के लिए बहुत सारे काम किए। दिल्ली के स्कूल अच्छे कर दिए, दिल्ली के अस्पताल अच्छे कर दिए, बिजली-पानी व महिलाओं के लिए यातायात मुफ्त कर दी, सीसीटीवी कैमरे लग रहे है, सड़कें बन रही है, पानी और सीवर की पाइप लाइनें बिछाई जा रही है। दिल्ली के अंदर पिछले पांच साल में अदभुत और ऐतिहासिक स्तर के काम हुआ है। जब हम यह सारे काम कर रहे थे, तब भी हमारे पूर्व सैनिक हमारे दिल में रहते थे, हम उनको कभी नहीं भूले। कई बार जब फौजी शहीद हो जाते है। कुछ व्यवस्था की कमियां ऐसी रही कि उनके जाने के बाद उनके परिवार की देखभाल करने वाला कोई नहीं बचता है, मैंने ऐसे कई परिवारों को रोते-बिखरते हुए देखा है, जो पैसे के अभाव में परिवारों के पास कुछ भी नहीं बचता है। एक सैनिक के लिए देश के लिए शहीद होना बड़े गौरव की बात है, लेकिन उसके बाद उसके परिवार की देखभाल करना समाज का काम है और अगर समाज उसमें कमी करे, तो परिवार को दुख होता है।
हमने सरकार में आते ही 22 फरवरी 2014 का योजना लागू किए कि अब दिल्ली के रहने वाला कोई भी सैनिक बार्डर पर शहीद होता है, तो उसे सम्मान के रूप में उसके परिवार को एक करोड़ की सहायता राशि और परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी देंगे। हमने सिर्फ ऐलान ही नहीं किया, बल्कि पिछले पांच साल में जितने भी केस आए, सभी को सम्मान राशि दी। मैं सचिवालय के आडिटोरियम में बुलाकर भी यह राशि दे सकता था, लेकिन असली गौरव तब होता है, जब उसके मोहल्ले में स्वयं मुख्यमंत्री जाकर लोगों के बीच में उन्हें सम्मानित करे। इसलिए मैं हर व्यक्ति के मोहल्ले में जाकर सम्मान राशि देकर आया।

पूर्व सैनिकों की वजह से सुधरी शिक्षा व सुरक्षा व्यवस्था: अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एक फौजी करीब 40वर्ष की उम्र में सेवानिवृत्त हो जाता है। सैनिक अनुशासित होते है, उनमें बहुत जज्बा होता है और देश के प्रति बहुत इमानदार होते है। इस क्वालिटी को हमने अभी तक इस्तेमाल नहीं किया है। इसलिए हमारी सरकार ने पिछले पांच साल में कई स्थानों पर पूर्व सैनिकों को भर्ती किया। स्कूलों में प्रधानाचार्य पर शिक्षा और प्रशासनिक कार्य जिम्मेदारी होती थी। हमने प्रधानाचार्य के काम को बांट दिया। हमने सभी स्कूलों में एक स्टेट मैनेजर नियुक्त किया, जो प्रशासनिक कार्य देखेगा और प्रधानाचार्य शिक्षा कार्य देखेगा। सभी स्टेट मैनेजर के पदों पर हमने पूर्व सैनिकों को भर्ती किया। आज शिक्षा, सफाई और सुरक्षा व्यवस्था अच्छा पूर्व सैनिकों ने किया है। ऑड-ईवन योजना की सफलता में भी पूर्व सैनिकों की बड़ी मेहनत शामिल है। हमने टांसपोर्ट विभाग के इनफोर्समेंट बिंग में काफी पूर्व सैनिकों को भर्ती किया, बसों में हमने 13हजार मार्शल की भर्ती किया, हमने राज्य सैनिक बोर्ड और केंद्र सरकार को लिखा। जितने भी आवेदन आया, उन सभी लोगों को हमने नौकरी दे दी। हम चाहते है कि सरकार पूर्व सैनिकों के साथ मिलकर काम करें। हमें देश की थल, वायु और जल सेना पर बेहद गर्व है। अगर पूर्व सैनिकों और शहीद हुए परिवारों को आशीर्वाद हमारे साथ है, तो इस दुनिया की कोई ताकत हमें हरा नहीं सकती है।

इन पूर्व व शहीद सैनिकों को किया गया सम्मानित...

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विमला राणा पत्नी शहीद लांस नायक इंदर सिंह राणा, सांता देवी पत्नी शहीद सुबेदार ओमचंद शर्मा, गंगा देवी पत्नी शहीद लांस नायक उम्मेद सिंह नेगी, पूनम देवी पत्नी शहीद रायफल मैन रविंद्र कुमार, मुन्नी देवी पत्नी शहीद हवलदार पूरन सिंह, मनोरमा देवी पत्नी शहीद लांस नायक श्याम सिंह, वीणा देवी पत्नी शहीद लांच नायक रमेश चंद्र, कविता देवी पत्नी शहीद रायफलमैन सूरजमल शौर्य चक्र, नीलम देवी पत्नी शहीद सिपाही विजय सिंह, श्री चौहान माता शहीद अरविंद चौहान, धनवती पत्नी शहीद हवलदार जगदीश सिंह, पिन्की ध्यानी पत्नी शहीद रायफल मैन अनसुइया ध्यानी, शांति देवी पत्नी शहीद सरदार सिंह अशोक चक्र, बसंती देवी पत्नी शहीद नायक पुष्कर सिंह, कैप्टन जय सिंह वीर चक्र, सजनी पत्नी शहीद किस्तूरा राम सेना मेडल, तन कुमार शहीद नायक राम सिंह, सुमन पत्नी शहीद सिपाही दिनेष सिंह, रेखा भंडारी पत्नी सहीद नायक मंगत सिंह भंण्डारी, सुनीता नेगी पत्नी शहीद नायक अर्जुन सिंह, उर्मिला घिल्डियाल पत्नी शहीद मेजर केके घिल्डियाल सेना मेडल, सपना राय शहीद कैप्टन सुमित राय की मां वीर चक्र, मेजर अशोक शर्मा, हवालदार विष्णु, सुबेदार कैलाश नाथ पंघाल, सुरेंद्र शर्मा पिता शहीद सिपाही सचिन शर्मा, समीर सिंह पुत्र शहीद सतवीर सिंह, नायब सुबेदार कुलवीर सिंह, हवलदार सिंघारा सिंह, ऑनरेरी फलाइटरेट सिब्बु यादव, लांस नायक सतवीर सिंह, धर्म सिंह श्यौरान, सुबेदार एचएस भल, सुशीला देवी पत्नी शहीद बिजेंद्र सिंह, मूर्ति देवी पत्नी शहीद हलवदार सुरेंद्र, कश्मीरी देवी पत्नी शहीद बलवंत सिंह, चंदो पत्नी शहीद ग्रेनेडियर हरी सिंह, किताब कौर पत्नी शहीद हवलदार सतपाल सिंह, नरेश देवी पत्नी शहीद जसवीर, सुरेश बाला पत्नी शहीद जगदीष, कृष्णा देवी पत्नी शहीद फतेह सिंह, शकुंतला देवी पत्नी शहीद रामकुमार, नायब सुबेदार इंद्रवीर सिंह, सुबेदार मेजर सोभन सिंह, वारंट अफसर चंद्रिका दूबे और घोषाल को सम्मानित किया।

Have something to say? Post your comment
More National News
मनीष सिसोदिया का अमित शाह को निमंत्रण : पटपड़गंज में रोड शो कर लें, "मैं नया स्कूल दिखा दूंगा"
निर्भया के दोषियों को फांसी में विलंब के लिए सीधे तौर पर भाजपा जिम्मेदार - संजय सिंह
दो दिन के लिए दिल्ली पुलिस देकर देखें, हम दिलाएंगे निर्भया के दोषियों को फांसी - मनीष सिसोदिया
चुनाव की वजह से रुकना नहीं चाहिए दिल्ली का विकास, आम बजट में दिल्ली के लिए खूब घोषणाएं करे केंद्र सरकार - अरविंद केजरीवाल
भाजपा को वोट देना मतलब 'आप' सरकार की ओर से शुरू की गई मुफ्त योजनाओं को खत्म करना - मनीष सिसोदिया
केंद्र की भाजपा सरकार की सहमति से डीडीए ने गरीबों को फ्लैट देने के नाम पर किया घोटाला - संजय सिंह
दो हजार कार्यकर्ता संभालेंगे दिल्ली चुनाव का मोर्चा, तीसरी बार बनेगी “आप” की सरकार: नवीन जयहिन्द
सब्सिडी का लाभ ले रहे लोगों को बिकाऊ कहना दिल्ली का अपमान, चुनाव में जनता देगी जवाब: मनीष सिसोदिया
बहस करें कैप्टन, बता देंगे 5 मिनटों में कैसे रद्द होंगे महंगे बिजली समझौते - अमन अरोड़ा
फर्जी रजिस्ट्री देकर भाजपा ने दिल्ली के 40लाख लोगों को दिया धोखा - मनीष सिसोदिया