Friday, February 21, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह दारू-पैसा बांटते कैमरें में कैद, लोगों ने वीडियो बनाकर किया जारी, 'आप' ने EC में की शिकायतकेंद्र की भाजपा सरकार की सहमति से डीडीए ने गरीबों को फ्लैट देने के नाम पर किया घोटाला - संजय सिंहभाजपा ने डाला महंगी शिक्षा का बोझ, सीबीएसई स्कूल में 10वीं और 12वीं के फीस बढ़ी - मनीष सिसोदियादिल्ली में पूर्व सैनिकों ने अरविंद केजरीवाल को दिया समर्थन5 साल दिन रात काम करती रही आप सरकार, भाजपा और मीडिया की तंद्रा अब भंग हुईआम आदमी पार्टी का 2020 विधानसभा चुनाव स्लोगन “अच्छे बीते 5 साल, लगे रहो केजरीवाल” लांचभाजपा सांसद विजय गोयल ने किया दिल्ली की जनता का अपमान: संजय सिंहहार की हताशा में भाजपा दिल्ली में गंदी राजनीति पर उतारू, हिंसा की विस्तृत जांच हो, दोषियों को मिले सजा - गोपाल राय
National

फ्री नहीं... सब प्री पेड है.

November 17, 2019 10:08 AM
देश विदेश में तेजी से वायरल हो रहे एक वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करने के उपरांत नई दिल्ली में मुफ्त मिल रही बिजली पानी सहित तमाम सुविधाओं पर नई बहस छिड़ गई है। वीडियो में आकाश वर्मा नाम का एक युवक तार्किक ढ़ंग से समझाता है कि दिल्ली में मिल रही बिजली, पानी, महिलाओं के लिए मुफ्त बस यात्रा, तीर्थ यात्रा योजना जैसी तमाम सुविधाएं बिल्कुल भी मुफ्त नहीं हैं  बल्कि प्री पेड हैं। आकाश कहता है कि टैक्स के रूप में जनता पहले ही इन सुविधाओं के लिए सरकार को इसकी कीमत अदा कर चुकी होती है किंतु भ्रष्ट राजनेता अथवा भ्रष्ट सरकारें जनता को गुमराह कर जनता से एक ही सेवा के दाम बार—बार वसूल कर अपना घर भरते हैं। आकाश कहते हैं कि नेताओं ने पिछले 70 सालों में जनता को इतना लूट लिया है कि जनता को लुटने की आदत पढ़ चुकी है। और जब एक ईमानदार सरकार उन्हें उनका वास्तविक हक दे रही है तो पूर्व में जनता को दिल खोलकर लूट चुके नेता फिर से जनता को गुमराह करते हैं कि दिल्ली सरकार को लोगों को यूं मुफ्त की आदत नहीं डालनी चाहिए। आकाश वर्मा ने दिल्ली में दी जा रही फ्री सेवाओं को समझाते हुए कहा कि 

"पहले टेलीफोन बूथ में नंबर डॉयल करने से पूर्व सिक्का डाला जाता था और बात को जारी रखने के लिए बार बार सिक्का डालना पड़ता था फिर जमाना आया प्री पेड मोबाइल फोन का जिसमें एक बार में 50—100 रूपये डलवाएं और बिना किसी रूकावट बात करते रहे, अब अगर मोबाईल फोन में बार बार सिक्का नहीं डालना पड़ रहा है तो इसका मतलब ये नहीं कि ये फ्री है। इसका मतलब है कि ये प्री पेड है

 "पहले टेलीफोन बूथ में नंबर डॉयल करने से पूर्व सिक्का डाला जाता था और बात को जारी रखने के लिए बार बार सिक्का डालना पड़ता था फिर जमाना आया प्री पेड मोबाइल फोन का जिसमें एक बार में 50—100 रूपये डलवाएं और बिना किसी रूकावट बात करते रहे, अब अगर मोबाईल फोन में बार बार सिक्का नहीं डालना पड़ रहा है तो इसका मतलब ये नहीं कि ये फ्री है। इसका मतलब है कि ये प्री पेड है जिसके पैसे आपने पहले ही मोबाईल कंपनी को दे दिए हैं। उसी तरह से दिल्ली सरकार की सुविधाएं हैं जिनका पैसा आपने पहले ही टैक्स के रूप में सरकार को दे दिया है । और सिर्फ इन्कम टैक्स ही नहीं बल्कि आप जब दुकान से बिस्किट, चाकलेट या कोई भी अन्य सामना खरीदते हैं तो उस पर आप सरकार को टैक्स देते हैं। चॉकलेट खरीदने वाले छोटे बच्चे से लेकर दवाई खरीदने वाले बुजुर्ग हर कोई सरकार को टैक्स देता है  और यही टैक्स का पैसा घूम कर सरकार द्वारा सुविधाओं के रूप में आप तक पहुंचाया जाता है। अब आप सोच रहे हैं कि सरकारें तो पहले भी थी, टैक्स तो पहले भी थे तब ये सुविधाएं क्यों नहीं मिल पाती थी? तो इसका जवाब है कि पहले जनता के टैक्स का लगभग 85 फीसदी पैस भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाता था और जनता तक केवल 15 फीसदी की सुविधाएं ही पहुंच पाती थी किंतु अब अरविंद केजरीवाल की सरकार ने इस 85 प्रतिशत भ्रष्टाचार पर रोक लगाई और जनता के टैक्स का 100 फीसदी पैसा जनता को दी जाने वाली सुविधाओं में लगने लगा। इसीलिए अब दिल्ली सरकार तमाम सुविधाएं जनता को नि:शुल्क दे पा रही है। 
बाकी पार्टियों के लोग दिल्ली सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं का विरोध इसलिए करते है क्योंकि दूसरे राज्यो में इन पार्टियों की सरकारें है और अगर दिल्ली में अरविंद केजरीवाल ने जनता को 100 फ़ीसदी टैक्स की सुविधाएं दे दी तो इन्हे भी अपने राज्यो की जनता को ये सुविधाएं देनी पड़ेंगी और भ्रष्टाचार पर रोक लगानी पड़ेगी जो के इन पार्टियों की कमाई का साधन है।
तो अब कोई भी अगर दिल्ली सरकार की सुविधाओं को मुफ्त कहे तो उससे कहिएगा के फ्री कुछ नहीं मिलता , सब प्रे पेड है।"
 

 

Have something to say? Post your comment
More National News
पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने एयर क्वालिटी माॅनिटरिंग सेंटर का किया दौरा और हवा में पीएम के बढ़ने और घटने की वजह जानने की कोशिश की
दिल्ली का प्रदूषण कम करने के लिए एक्शन मूड में केजरीवाल सरकार, अगले पांच साल में एक तिहाई प्रदूषण कम करने का रखा लक्ष्य हरपाल चीमा की मांग पर मुख्यमंत्री ने दिया भरोसा, अनवर मसीह ड्रग केस में मजीठिया की भूमिका की जांच करवाएगी सरकार दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने मोहल्ला क्लीनिक के संचालन की समीक्षा की  उपभोक्ता फोर्मों के स्टाफ को क्यों ज्वाइन नहीं करवा रही सरकार? - हरपाल चीमा मास्टर बलदेव सिंह ने उठाया चुप-चाप सरकारी स्कूल बंद करने का मुद्दा
'काम की राजनीति' के सहारे राष्ट्र निर्माण के अभियान में जुटी आम आदमी पार्टी - भगवंत मान
दिल्ली जीत से उत्साहित ‘आप’ ने पंजाब में कांग्रेस, अकाली और पेप को दिया झटका
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से की मुलाकात, दिल्ली के विकास के लिए मिलकर करेंगे काम
पंजाब : माफियाराज पर नकेल डालने के लिए ‘आप’ विधायकों ने शराब निगम बनाने की मांग की