Saturday, February 22, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह दारू-पैसा बांटते कैमरें में कैद, लोगों ने वीडियो बनाकर किया जारी, 'आप' ने EC में की शिकायतकेंद्र की भाजपा सरकार की सहमति से डीडीए ने गरीबों को फ्लैट देने के नाम पर किया घोटाला - संजय सिंहभाजपा ने डाला महंगी शिक्षा का बोझ, सीबीएसई स्कूल में 10वीं और 12वीं के फीस बढ़ी - मनीष सिसोदियादिल्ली में पूर्व सैनिकों ने अरविंद केजरीवाल को दिया समर्थन5 साल दिन रात काम करती रही आप सरकार, भाजपा और मीडिया की तंद्रा अब भंग हुईआम आदमी पार्टी का 2020 विधानसभा चुनाव स्लोगन “अच्छे बीते 5 साल, लगे रहो केजरीवाल” लांचभाजपा सांसद विजय गोयल ने किया दिल्ली की जनता का अपमान: संजय सिंहहार की हताशा में भाजपा दिल्ली में गंदी राजनीति पर उतारू, हिंसा की विस्तृत जांच हो, दोषियों को मिले सजा - गोपाल राय
National

प्रदूषित पानी के मुद्दे पर 'आप' व समाज सेवी संगठनों के वफद ने राज्यपाल को दिया मांग पत्र

September 12, 2019 12:26 PM

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने दरियाई पानियों में बढ़ रहे प्रदूषण पर गंभीर चिंता जाहिर की है। दरियाई पानियों के दिन प्रति दिन जहरीला होने से लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ती जा रही है।
    नरोआ पंजाब मंच के नेतृत्व में 'आप' पंजाब के किसान विंग के प्रधान और कोटकपूरा से विधायक कुलतार सिंह संधवां के नेतृत्व में दरियाई पानियों के प्रदूषित पानी में सुधार लाने के लिए पंजाब और राजस्थान की प्रतिनिधित्व वाले एक संयुक्त वफद जिन में नदियों के पानियों की गुणवत्ता के प्रति काम करने वाले 50 से अधिक एन.जी.ओज का संयुक्त मोर्चा भी शामिल था ने बुद्धवार को पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर को एक मांग पत्र सौंपा। मांग पत्र देने मौके नरोआ पंजाब मंच के कनवीनर गुरप्रीत सिंह चन्दबाजा, सचिव बलतेज सिंह पन्नू, महेश पैडीवाल, रमजान अली और परीख शामिल थे।
    वफद ने मांग पत्र में राज्यपाल को सतलुज और ब्यास दरियाओं के पानी सम्बन्धित सीधे तौर पर पंजाब (राज्य) के सैंकड़ों शहरों, कसबों और गांवों को अमृतसर (पंजाब) के हरीके पत्तन से नहरी प्रणाली के द्वारा सप्लाई किए जाने के बारे में बताया। इसके साथ यह भी जानकारी दी गई कि लोग पीने वाले पानी की जरूरत को पूरा करने के लिए इन दरियाओं पर ही निर्भर हैं।

वफद ने नदियों के पानी को बचाने के लिए पशु डेयरियों को तुरंत शहर से बाहर तबदील करने की मांग की।


    वफद ने कहा कि नैशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने राज्य सरकारों को दरियाई पानियों की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए एक ठोस योजना तैयार करने और समय पर योजना को लागू करने के निर्देश दिए थे परंतु राज्य में पानी की बेहतरी के लिए कोई भी पुख्ता कदम नहीं उठाए गए।
    इसके इलावा वफद ने कहा कि नगर निगम, लुधियाना के अधीन पड़ती डेयरियों में पशुओं की एक लाख से ज़्यादा की संख्या है, जिसके कारण काफी समस्या पैदा हो रही है। वफद ने नदियों के पानी को बचाने के लिए पशु डेयरियों को तुरंत शहर से बाहर तबदील करने की मांग की।
    उन्होंने बताया कि वफद पहले ही केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंदर सिंह शेखावत, पंजाब प्रदूषण बोर्ड के आधिकारियों और हिमाचल प्रदेश के मुख्य मंत्री जय राम ठाकुर को मिल चुका है और राज्य सरकारें इस सम्बन्ध में कुछ नहीं कर रही जिस कारण प्रदूषण बढ़ता ही जा रहा है। 

Have something to say? Post your comment
More National News
कैप्टन सरकार ने महाशिवरात्रि पर नहीं दी शुभ-कामनाएं, अमन अरोड़ा ने पंजाब मुख्यमंत्री को लिखी चिट्ठी
‘आप’ ने महंगी बिजली पर अपनाया सख्त रुख, अल्टीमेटम दिया कि बजट सत्र में बिजली समझौते रद्द न किए तो 16मार्च को मोती महल की बत्ती करेंगे गुल
पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने एयर क्वालिटी माॅनिटरिंग सेंटर का किया दौरा और हवा में पीएम के बढ़ने और घटने की वजह जानने की कोशिश की
दिल्ली का प्रदूषण कम करने के लिए एक्शन मूड में केजरीवाल सरकार, अगले पांच साल में एक तिहाई प्रदूषण कम करने का रखा लक्ष्य हरपाल चीमा की मांग पर मुख्यमंत्री ने दिया भरोसा, अनवर मसीह ड्रग केस में मजीठिया की भूमिका की जांच करवाएगी सरकार दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने मोहल्ला क्लीनिक के संचालन की समीक्षा की  उपभोक्ता फोर्मों के स्टाफ को क्यों ज्वाइन नहीं करवा रही सरकार? - हरपाल चीमा मास्टर बलदेव सिंह ने उठाया चुप-चाप सरकारी स्कूल बंद करने का मुद्दा
'काम की राजनीति' के सहारे राष्ट्र निर्माण के अभियान में जुटी आम आदमी पार्टी - भगवंत मान
दिल्ली जीत से उत्साहित ‘आप’ ने पंजाब में कांग्रेस, अकाली और पेप को दिया झटका