Tuesday, May 26, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
बौखलाए जाखड़ ने ‘आप’ विरुद्ध की टिप्पणी गैर-जिम्मेवारना शरारत - हरपाल सिंह चीमाभाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के लॉकडाउन उल्लंघन पर AAP सांसद संजय सिंह का बयान...लॉकडाउन में ढील के बाद बढ़े मरीज, लेकिन चिंता की बात नहीं, स्थिति नियंत्रण में: अरविंद केजरीवालकोरोना से जंग जीतने के बाद अब प्लाज्मा दान करेंगे आप विधायक विशेष रविमौत पर राजनीति कर रही भाजपा दिल्ली की जनता से माफी मांगे - राघव चड्ढामोगा सेक्स स्कैंडल-3 की सीबीआई से जांच करवाएं सीएम कैप्टन अमरिन्दर - हरपाल सिंह चीमाबिजली की करंट से बिहार की जनता को बचाए, तीन माह का बिल माफ करें सरकार: आपबिजली के बिल माफ करे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की कांग्रेस सरकार: AAP
National

गांवों-कसबों में फूड प्रोसैसिंग यूनिट स्थापित कर पंजाब से 'गद्दारी' का दाग धोए बादल -आप

August 13, 2019 02:45 PM

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के सीनियर व विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा और उप नेता बीबी सरबजीत कौर माणूंके ने पिछले दो दशकों में पंजाब के हजारों छोटे, मध्यम और बड़े औद्योगिक यूनिट अकाली-भाजपा और कांग्रेस की पंजाब विरोधी और व्यापारी -उद्योगपति विरोधी नीतियों के कारण या तो बंद हो गए हैं या फिर अन्य राज्यों में पलायन कर गए हैं। नतीज के तौर पर पंजाब आर्थिक पक्ष से कई दशक पीछे चला गया और यह पतन जारी है। जिस की पुष्टि श्रम विभाग की तरफ से जारी ताजा आंकड़े कर रहे हैं। 'आप' हैडक्वाटर द्वारा जारी बयान में हरपाल सिंह चीमा और बीबी माणूंके ने बताया कि 2007 से 2018 तक सिर्फ लुधियाना जिले में करीब 250 फैक्टरियों को ताले लगे हैं, जिनमें कैप्टन सरकार के पहले 9 महीने में बंद हुई 65 फैक्टरियां शामिल हैं।

धड़ाधड़ बंद हो रहे उद्योगों को लेकर चीमा और माणूंके ने घेरे बादल व कैप्टन 

खेती पर आधारित फूड प्रोसैसिंग उद्योग को ही राज्य की आखिरी उम्मीद बताया 

 'आप' नेताओं ने कहा कि यह नकारात्मिक रुझान सिर्फ लुधियाना जिले का नहीं है, अमृतसर, जालंधर, बटाला, धारीवाल, डेराबसी, मोहाली, राजपुरा, गुरायआ, नंगल, बठिंडा, संगरूर आदि दर्जनों शहरों में भी जारी है। हजारों फैक्टरियां बंद हो या अन्य राज्य में जाने के कारण जहां राज्य की आर्थिकता को बड़ी चोट लगी है, वहीं लाखों की तादाद में बेरोजगारी में बढ़ौतरी हुई है। इस लिए सबसे बड़ी दोषी भाजपा की वाजपेयी सरकार है, जिस ने पड़ोसी पहाड़ी राज्यों को विशेष पैकेज दे कर पंजाब के औद्योगिक ईकाइयों की कमर तोड़ दी है। उस समय वाजपेयी सरकार में औद्योगिक राज्य मंत्री सुखबीर सिंह बादल ने 'कुर्सी' के लिए पंजाब के साथ गद्दारी करते केंद्र सरकार की धक्केशाही के विरुद्ध मंह नहीं खोला, जिसका क्षतिपूर्ति पंजाब आज तक भुगत रहा है।
चीमा और माणूंके ने कहा कि सिर्फ अकाली और भाजपा ही नहीं 2004 से 2014 तक 10 साल केंद्र में राज करने वाली मनमोहन सिंह सरकार ने भी पंजाब के साथ धक्केशाही को जारी रखा। 'आप' नेताओं ने केंद्र सरकार से पहाड़ी राज्यों की तर्ज पर विशेष औद्योगिक पैकेज देने पर जोर दिया, जिस की पहाड़ी राज्यों में मियाद साल 2022 तक बडा दी गई है।चीमा और माणूंके ने बादल परिवार को घेरते कहा कि बतौर केंद्रीय फूड प्रोसैसिंग मंत्री हरसिमरत कौर बादल पंजाब और पंजाबियों के हितों के लिए राज्य में गांव व कसबों तक फूड प्रोसैसिंग यूनिट स्थापित कर 'बादल परिवार' पर लगे 'गद्दारी' के दाग धो सकते हैं। यदि पिछले 5 सालों की तरह इस पारी में भी बादल जोडा पंजाब में नए औद्योगिक यूनिट खास कर फूड प्रोसैसिंग यूनिट नहीं ला सका तो पंजाब उनको कभी भी माफ नहीं करेंगे।
    

 
Have something to say? Post your comment
More National News
प्रवासी मजदूर पैदल यात्रा न करें, सभी के लिए निशुल्क रेलयात्रा की व्यवस्था: मनीष सिसोदिया
बौखलाए जाखड़ ने ‘आप’ विरुद्ध की टिप्पणी गैर-जिम्मेवारना शरारत - हरपाल सिंह चीमा
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के लॉकडाउन उल्लंघन पर AAP सांसद संजय सिंह का बयान...
लॉकडाउन में ढील के बाद बढ़े मरीज, लेकिन चिंता की बात नहीं, स्थिति नियंत्रण में: अरविंद केजरीवाल
कोरोना से जंग जीतने के बाद अब प्लाज्मा दान करेंगे आप विधायक विशेष रवि
मौत पर राजनीति कर रही भाजपा दिल्ली की जनता से माफी मांगे - राघव चड्ढा
बिजली की करंट से बिहार की जनता को बचाए, तीन माह का बिल माफ करें सरकार: आप
बिजली के बिल माफ करे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की कांग्रेस सरकार: AAP
पंचायती राज प्रतिनिधियों को सुरक्षा देने में नाकाम हो रही कैप्टन सरकार: प्रो. बलजिन्दर कौर
हजारों किसानों-मजदूरों को उजाड़ कर लगाए उद्योग बर्दाश्त नहीं: हरपाल सिंह चीमा