Friday, August 23, 2019
Follow us on
Download Mobile App
National

'आप' के बिजली आंदोलन का 24 जून को होगा जिला स्तर से अगाज

June 22, 2019 11:10 PM

पानी संकट पर विधान सभा का 2 दिवसीय विशेष सैशन बुलाए सरकार -हरपाल सिंह चीमा
दिल्ली के श्री भगत रविदास जी के मंदिर के बारे में केंद्रीय गृह मंत्री को मिलेगा 'आप' का वफद
बिजली लूट संबंधी कैप्टन-बादलों की लोगों में खोलेंगे पोल -अमन अरोड़ा

चंडीगढ़ आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने शनिवार को महंगे बिजली के मुद्दे पर सरकार के विरुद्ध बिजली आंदोलन शुरू करने की रूप -रेखा बनाई जिसकी जिला स्तर पर सोमवार से शुरुआत की जाएगी।
    कोर समिति के चेयरमैन प्रिंसिपल बुद्धराम, विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा और बिजली आंदोलन के को-आर्डीनेटर अमन अरोड़ा और मीत हेयर (सभी विधायक) के नेतृत्व में हुई राज्य कोर समिति की बैठक दौरान पानियों के संकट पर विधान सभा का 2 दिवसीय विशेष सैशन बुलाने की मांग उठाई। इस के साथ ही भाजपा के कंट्रोल वाली दिल्ली विकास अथॉरिटी (डीडीए) की तरफ से दिल्ली में भक्त श्री रविदास जी के साथ सम्बन्धित पुरातन मंदिर गिराऐ जाने सम्बन्धित लिए गए फैसले का जोरदार विरोध करते हुए इस मुद्दे पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को मैमोरंडम देने का फैसला भी लिया गया, क्योंकि इस संवेदनशील मुद्दे के साथ करोड़ों लोगों की आस्था और देश भर में कानून व्यवस्था भी जुड़ी हुई है। कई घंटे चली इस बैठक के उपरांत मीडिया को संबोधन करते हुए हरपाल सिंह चीमा ने उपरोक्त जानकारी दी। उन्होंने पानी के संकट पर मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ से बुलाई गई सर्व पार्टी बैठक का स्वागत करते हुए इस को देर से लिया गया दरुसत फैसला बताया। साथ ही कहा कि पानियों के मुद्दे पर 2 दिवसीय का विशेष सैशन बुलाना जरूरी है। जिससे सरकार सदन में पानियों संबंधी सुनवाई अधीन मामले, सभी पुराने समझौते, दरियाओं में कम हो रही पानी की मात्रा, प्रदूषित हो रहे कुदरती जल स्रोतों और तेजी के साथ नीचे गिर रहे स्तर समेत हरपक्ष पर सार्थिक विचार-चर्चा हो सके। उन्होंने बताया कि पार्टी के विधायक कुलतार सिंह संधवां माहिरों के साथ मिल कर एक रिपोर्ट तैयार करेंगे। 

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने शनिवार को महंगे बिजली के मुद्दे पर सरकार के विरुद्ध बिजली आंदोलन शुरू करने की रूप -रेखा बनाई जिसकी जिला स्तर पर सोमवार से शुरुआत की जाएगी। कोर समिति के चेयरमैन प्रिंसिपल बुद्धराम, विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा और बिजली आंदोलन के को-आर्डीनेटर अमन अरोड़ा और मीत हेयर (सभी विधायक) के नेतृत्व में हुई राज्य कोर समिति की बैठक दौरान पानियों के संकट पर विधान सभा का 2 दिवसीय विशेष सैशन बुलाने की मांग उठाई।

बिजली आंदोलन सम्बन्धित विस्तार में जानकारी देते हुए अमन अरोड़ा ने बताया कि पंजाब देश के सब से महंगी बिजली बेचने वाले राज्य में शुमार है। जिस की जड़ पिछली बादल सरकार की तरफ से सरकारी थर्मल प्लांट बंद करके 3 प्राईवेट थर्मल कंपनियों के साथ महंगे बिजली खरीद समझौते (पीपीएज) हैं। इन लोग विरोधी समझौतों के कारण जहां प्रति यूनिट बिजली बुनियादी दर ही महंगी है, वहां प्रति साल 2800 करोड़ बेवज़्हा इन कंपनियों को लुटाया जा रहा है, जो 25 सालों में 70 हज़ार करोड़ बनता है। इस लिए कैप्टन सरकार को यह मंहगे समझौते तुरंत रद्द करने चाहिएं, क्योंकि चुनाव से पहले यह वायदा कांग्रेस ने राज्य के लोगों के साथ लिखित रूप में किया था।
    अमन अरोड़ा ने दोष लगाया कि जिस तरह कैप्टन अमरिन्दर सिंह इन समझौतों को रद्द करने के बारे में चुप्पी साधे हुए हैं, उससे लगता है कि बादलों की तरह कैप्टन ने भी इन बिजली कंपनियों के साथ हिस्सेदारी डाली हुई है, जिस की कीमत पंजाब का हर अमीर -गऱीब बिजली खप्तकार चुका रहा है।
    अमन अरोड़ा ने बताया कि उन्होंने विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा के नेतृत्व में इस मुद्दे पर मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को मिलने का समय मांगा है।
    अमन अरोड़ा के अनुसार आम आदमी पार्टी महंगी बिजली के मुद्दे पर राज्य स्तरीय बिजली आंदोलन के द्वारा पंजाब के हर गली -मुहल्ले में जाएगी और लोगों को लूट और इसके पीछे बादल-कैप्टन की हिस्सेदारियों के बारे में बताएगी। उन्होंने बताया कि इस बारे में पार्टी विधायकों की जिला मुताबिक ड्यूटियां बांटी जा चुकी है, जो सोमवार से जिलों में उतर जाएंगे। 
    अमन अरोड़ा ने कहा कि कैप्टन की तरह नवजोत सिंह सिद्धू के एजंडे पर भी पंजाब और पंजाब के लोग नहीं हैं, यदि होते तो वह बिजली मंत्री का पद संभाल कर लुटेरा बिजली समझौते रद्द करते और लोगों को राहत देते।
    कोर समिति बैठक में विधायक कुलतार सिंह संधवां, प्रो. बलजिन्दर कौर, रुपिन्दर कौर रूबी, जै किशन सिंह रोड़ी, कुलवंत सिंह पंडोरी, समिति मैंबर सुखविन्दर सुखी, गैरी बडि़ंग, हरचन्द सिंह बर्सट, नवदीप सिंह संघा, जस्टिस जोरा सिंह, नरिन्दर सिंह शेरगिल, नील गर्ग और स्टेट मीडिया इंचार्ज मनजीत सिंह सिद्धू मौजूद थे।

Have something to say? Post your comment
More National News
मारूथल के मंडराते खतरे तले पंजाब में बाढ़ का तांडव बार-बार होती तबाही रोकने के लिए स्थाई तौर पर लागू हो ठोस जल नीति - हरपाल सिंह चीमा
खट्टर 2014 का घोषणापत्र जनता को पढ़कर सुनाए एक लाख इनाम पाए –जयहिंद
सी.बी.एस.ई. फीसों में की भारी बढ़ौतरी तुरंत वापस ले मोदी सरकार -‘आप’
सरकारी मुलाजिमों-पैनशनरों के बार -बार पीठ में छूरा न घोंपे कैप्टन सरकार -हरपाल सिंह चीमा
रिश्ता तय नहीं हुआ और दहेज की लिस्ट पहले ही जारी कर दी- जयहिन्द
हुड्डा पार्टी नही बनायेंगे समर्थकों को मीठी गोली खिलाएंगे–जयहिन्द
20 घंटों की बारिश से खुल जाती है कैप्टन-बादलों के 20 वर्षों के विकास की पोल -भगवंत मान
मुख्यमंत्री ने यमुना फ्लडप्लेंस के निवासियों से सरकार के टेंट्स में शिफ्ट होने की अपील की
दिल्ली की सभी बसों में 29 अक्टूबर से महिलाओं का सफर फ्री 
आम आदमी पार्टी सभी जिलों में फूकेंगी मुख्यमंत्री खट्टर का पुतला! शहीद मंगल पांडये पर दिए गलत बयान पर माफ़ी मांगने के लिए दिया था 24 घंटे का समय – जयहिन्द