Wednesday, July 17, 2019
Follow us on
Download Mobile App
National

प्राईवेट स्कूलों की 'लूट' तुरंत बंद करें 'कैप्टन'

March 29, 2019 05:01 PM
> बीबी माणूके ने मुख्य मंत्री और शिक्षा मंत्री को लिखा पत्र 
> सरकारी स्कूलों की दयनीय हालत ने बच्चों का भविष्य अंधेरा में धकेला 
 
आम आदमी पार्टी (आप) की जगरावां से विधायक और विधान सभा में उपनेता बीबी सरबजीत कौर माणूके ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह से राज्य में प्राईवेट स्कूलों की ओर से की जा रही मनमानियों पर नकेल कसने की मांग की है। उन्होंने आरोप लगाया कि पिछली बादल सरकार की तरह कैप्टन अमरिन्दर सिंह की सरकार में भी राज्य के आम और गरीब परिवारों के बच्चों को भी उच्च शिक्षा से वंचित किया जा रहा है, जिस कारण देश का भविष्य कहे जाने वाले बच्चों का भविष्य अंधकारमय हो रहा है।
    'आप' प्रदेश मुख्यालय से जारी बयान में बीबी माणूके ने कहा कि आज सरकारी स्कूलों की इतनी दयनीय हालत है कि जहां स्कूल की इमारत सही है, वहां बच्चों को पढ़ाने के लिए पर्याप्त अध्यापक नहीं हैं। सैंकड़ों स्कूलों में तो एक-एक अध्यापक के जिम्मे सैंकड़ों बच्चों के भविष्य को सुनहरा बनाने की जिम्मेदारी दी गई है, जो संभव नहीं है।
    बीबी माणूके ने कहा कि भला ऐसे हालातों में कौन माता-पिता अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में पढ़ाना चाहेगा। ऐसे में सिर्फ प्राईवेट स्कूल ही आखिरी विकल्प बचता है, किंतु अफसोस की बात यह है कि इन निजी स्कूलों ने शिक्षा का पूर्ण रूप से व्यपारीकरण कर दिया है और कापी-किताबों से ले कर मनमर्जी की फीसों के साथ माता पिता की अंधी लूट कर रहे हैं, ऐसे स्कूलों पर तुरंत कार्रवाई करना सरकार का फर्ज है। 

अपने पत्र के द्वारा बीबी माणूके ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह का ध्यान कुछ नामी निजी स्कूलों की तरफ से माता-पिता को जारी किए फऱमान की तरफ दिलाया है कि प्राईवेट स्कूलों ने फरमान जारी किया है कि हर बच्चा अब स्कूल वैन के द्वारा स्कूल पहुंचे। स्कूलों की तरफ से ऐसा करने का कारण 'सेफ स्कूल वाहन स्कीम' के नियमों की पालना करना बताया है, इतना ही नहीं स्कूल की तरफ से वैन के किराए में भी बढ़ौतरी कर दी गई है।

    उक्त सभी खामियों को देखते हुए आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब की विधान सभा में विरोधी पक्ष की उप नेता बीबी माणूके ने बताया कि इन खामियों के मद्देनजर उन्होंने मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह और शिक्षा मंत्री ओ.पी. सोनी को पत्र लिख कर अपील की है कि प्राईवेट स्कूलों की तरफ से माता-पिता की जा रही बड़े स्तर पर लूट को तुरंत बंद किया जाए।
    अपने पत्र के द्वारा बीबी माणूके ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह का ध्यान कुछ नामी निजी स्कूलों की तरफ से माता-पिता को जारी किए फऱमान की तरफ दिलाया है कि प्राईवेट स्कूलों ने फरमान जारी किया है कि हर बच्चा अब स्कूल वैन के द्वारा स्कूल पहुंचे। स्कूलों की तरफ से ऐसा करने का कारण 'सेफ स्कूल वाहन स्कीम' के नियमों की पालना करना बताया है, इतना ही नहीं स्कूल की तरफ से वैन के किराए में भी बढ़ौतरी कर दी गई है। पहले 500 से 700 रुपए प्रति बच्चा वैन का किराया वसूला जाता था परंतु अब किराए में बढ़ौतरी करके 1200 रुपए प्रति बच्चा कर दिया गया है। वहीं यदि कोई बच्चा स्कूल वैन की बजाए रिक्शे आदि में आता है तो उसे घर वापिस भेज दिया जाता है और स्कूल मैनेजमेंट की तरफ से कहा जाता है कि यदि बच्चा स्कूल वैन में आएगा तो ही बच्चे को स्कूल में आने दिया जायेगा। ऐसे फरमान स्कूल मैनेजमेंट की तरफ से आए दिन जारी किया जाते हैं जिस का सीधा प्रभाव बच्चों के माता-पिता की जेबों पर पड़ता है। यदि माता-पिता इसका विरोध करते हैं तो बच्चे को स्कूल से निकालने की धमकी दी जाती है।
    दूसरी तरफ बीबी माणूके ने शिक्षा मंत्री ओ.पी सोनी को लिखी चिट्ठी में कहा है कि प्राईवेट स्कूलों की तरफ से बच्चों को महंगे मूल्य की किताबें और वर्दियां दे कर ठगा जा रहा है। स्कूल मैनेजमेंट की तरफ से अपने ही नियम बनाऐ जा रहे हैं। जिससे बच्चों और माता-पिता को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। बच्चों को स्कूल में ही महंगे मूल्य की किताबें-कापियां और वर्दियां खरीदने के लिए मजबूर किया जाता है। यदि कोई बाहर से किताबें-कापियां खरीद लेता है तो उसे स्वीकार नहीं किया जाता है और स्कूल से ही खरीदने के लिए दबाव डाला जाता है। बीबी माणूंके ने शिक्षा मंत्री को कहा कि वह ऐसा स्कूलों पर तुरंत बनती कार्यवाही करें जिससे बच्चों के माता पिता की हो रही शरेआम लूट को रोका जा सके।
    बीबी माणूंके ने कहा कि यदि कोई बच्चा स्कूल से 1-2 मिनट लेट होता है तो उसे अंदर नहीं जाने दिया जाता। बठिंडा में बीते कुछ दिनों पहले एक विद्यार्थी दसवीं की परीक्षा में पहुंचने से कुछ मिनट लेट हो गया, जिस कारण उसे परीक्षा में नहीं बैठने दिया गया और वह विद्यार्थी अपने उस पेपर में गैर हाजिर रहा। इसी तरह के एक ओर मामले में एक बच्चे को अनुशासन के नाम पर सब कुछ होते हुए भी पेपर देने के लिए आधा घंटा लेट कर दिया गया। बीबी माणूंके ने कहा कि बच्चों की इस मानसिक परेशानी का हरजाना कौन भरेगा। उन्होंने कहा कि पंजाब की मौजूदा सरकार प्राईवेट स्कूलों के माफिया के समक्ष घुटने के बल बैठती नजर आ रही है। क्या सरकार का फर्ज नहीं बनता कि इन बच्चों को अपना समझ कर इन का शोषण रोका जा सके।
    बीबी सरबजीत कौर माणूंके ने चेतावनी भरे लहजे में कांग्रेस सरकार को कहा कि यदि समय रहते उक्त समस्या का हल तुरंत न किया गया तो बच्चों के माता-पिता को साथ लेकर प्राईवेट स्कूलों और कैप्टन के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ संघर्ष की योजना तैयार की जाएगी।
 
Have something to say? Post your comment
More National News
बोल रहे है 'आप' विधायक के काम
'आप' के बिजली आंदोलन का 24 जून को होगा जिला स्तर से अगाज
AAP के 10 दिनों के जनमत संग्रह में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा की योजना के पक्ष में 90.8% लोग: गोपाल राय
नगर निगम चुनाव में AAP को हराने के लिए बीजेपी-कांग्रेस ने किया गठबंधन
शीला दीक्षित का शासन होता तो बिजली में ही लुट जाती 'दिल्ली'
दलित विद्यार्थियों का भविष्य तबाह करने पर तुले कैप्टन और मोदी की सरकारें -हरपाल सिंह चीमा
बढ़ौतरी की गई बिजली दरों को कम करने की चेतावनी के साथ 'आप' ने बिजली आंदोलन-2 शुरु करने का किया ऐलान
दिल्ली बोली : ऐसा सिर्फ अरविंद ही सोच और कर सकते हैं
देवली विधानसभा के लोगों को चार महीने में मिलने लगेगा सोनिया विहार का पानी : अरविंद केजरीवाल
सत्ता पाने के लिए नीचता की सारी हदें पार कर के गौतम गंभीर देश की संसद में जाना चाहते हैं लानत है ऐसे व्यक्ति पर :मनीष सिसोदिया