Friday, April 26, 2019
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
'हम सातों सीटें छोड़ देते, अगर कांग्रेस जीतने की स्तिथि में होती'आप' द्वारा राज्य स्तरीय संगठनात्मक ढांचे का किया विस्तार25 अप्रैल को आम आदमी पार्टी जारी करेगी दिल्ली के लिए अपना घोषणापत्र : गोपाल रायदिल्ली में आम आदमी पार्टी के 6 लोकसभा प्रत्याशियों ने भरा अपना-अपना चुनावी नामांकन पत्र2107 की तरह फिर से 'फ्रेंडली मैच' खेलने लगे कैप्टन-बादल -भगवंत मानराज्यसभा सांसद संजय सिंह के नेतृत्व में दक्षिणी दिल्ली में राघव चड्ढा की नामांकन रैलीआम आदमी पार्टी ने हरियाणा के लिए अपने 3 लोकसभा प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कीगेहूं की खरीद के लिए नमी की शर्तों में ढील दे सरकार-हरपाल सिंह चीमा
National

70,000 करोड़ रुपए की लूट है बिजली कंपनियों के साथ किए इकरारनामे -आप

February 12, 2019 09:01 PM

70,000 करोड़ रुपए की लूट है बिजली कंपनियों के साथ किए इकरारनामे -आप
अमन अरोड़ा ने बादलों की ओर से किए बिजली समझौतों की खोली पोल
कैप्टन बादलों द्वारा किए समझौते को तुरंत करें रद्द -हरपाल चीमा

चंडीगढ़, आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने आज कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार से बादल सरकार के समय तीन प्राईवेट बिजली कंपनियों के साथ किए बेहद लम्बे इकरारनामों को तुरंत रद्द कर पंजाब के लोगों को बेहद महंगी बिजली दरों से राहत दिलाने की मांग उठाई है।
    आज यहां पंजाब विधान सभा की प्रैस गैलरी में मीडिया को हरपाल सिंह चीमा के नेतृत्व में संबोधन करते हुए पार्टी के सीनियर विधायक अमन अरोड़ा ने कहा कि बादलों की ओर से तीनों ही निजी बिजली कंपनियों के साथ किए गए समझौते राज्य के लोगों की जेबों पर 70 हजार करोड़ रुपए का सीधा डाका है। यही कारण है कि पंजाब आज देश के सब से महंगी बिजली देने वाले राज्य में शुमार है, जबकि पंजाब खुद भी बिजली पैदा करता है। दूसरी तरफ दिल्ली की केजरीवाल सरकार आज देश भर में सबसे सस्ती बिजली देने वाला राज्य है, जबकि दिल्ली सरकार खुद एक भी यूनिट पैदा नहीं करती। सारी की सारी बिजली निजी कंपनियों से खरीदती है। अमन अरोड़ा ने बताया कि दिल्ली सरकार 200 यूनिट तक 2 रुपए की प्रति यूनिट सब्सिडी दे कर खप्तकार को 1 रुपए प्रति यूनिट और 400 यूनिट तक 2.25 पैसों की सब्सिडी दे कर सवा दो रुपए प्रति यूनिट बिजली दे रही है।
    दूसरी तरफ पंजाब सरकार दलितों-गरीबों को भी इतनी सस्ती बिजली नहीं दे रही, जिस का कारण अपने सरकारी थर्मल प्लांटों को बंद करके निजी थर्मल प्लाटों के साथ महंगे इकरारनामे हैं। 

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने आज कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार से बादल सरकार के समय तीन प्राईवेट बिजली कंपनियों के साथ किए बेहद लम्बे इकरारनामों को तुरंत रद्द कर पंजाब के लोगों को बेहद महंगी बिजली दरों से राहत दिलाने की मांग उठाई है।

 अमन अरोड़ा ने बताया कि बंद किए गए बठिंडा थर्मल प्लांट पर तुरंत पहले नवीनीकरण के नाम पर 737 करोड़ खर्च किए गए हैं और अगले 12-13 साल बठिंडा थर्मल प्लांट ने 4.76 पैसे प्रति यूनिट बिजली पैदा करते रहना था, जबकि प्राईवेट जीबीके थर्मल प्लांट से बादलों ने 5.60 रुपए प्रति यूनिट का इकरारनामा किया।
    अमन अरोड़ा ने परचेज ऐगरीमैंटस की कापियां दिखाते हुए बताया कि इकरारनामे इतने ज़्यादा लोक और पंजाब विरोधी हैं कि यदि पंजाब सरकार एक यूनिट भी इन थर्मल प्लांटों से नहीं खरीदेगी तो भी हर महीने मंथली फिक्स चारजिज देने पड़ते हैं, जो तलवंडी साबो थर्मल प्लांट के साथ 1.20 रुपए, राजपुरा के साथ 1.53 रुपए और गोइन्दवाल थर्मल प्लांट के साथ 1.93 रुपए निर्धारित हैं।
    दूसरी तरफ पंजाब सरकार ने ही गुजरात के शासन थर्मल प्लांट के साथ प्रति यूनिट 17 पैसों का एग्रीमेंट किया हुआ है। अमन अरोड़ा ने तुलनात्मिक अध्ययन के द्वारा बताया कि शासन थर्मल प्लांट और पंजाब के तीनों ही थर्मल प्लांटों के साथ किए इकरारनामे के अंतर्गत प्रति साल 2800 करोड़ रुपए का फालतू बोझ बिजली खप्तकारों पर पड़ रहा है जो 25 सालों के समझौते के साथ 70 हज़ार करोड़ रुपए की सीधी लूट है।
    हरपाल सिंह चीमा और अमन अरोड़ा ने कहा कि इस लूट में बिजली कंपनियों के साथ बादल हिस्सेदार हैं। कैप्टन अमरिन्दर सिंह, सुनील जाखड़ समेत सभी कांग्रेसी चुनाव से पहले बादलों के इन बहु-अरबी बिजली इकरारनामे को रद्द करके नए सिरे से करने के दावे करते थे परंतु 2 साल दौरान कुछ नहीं किया। अमन अरोड़ा ने जाखड़ को चुनौती दी कि वह स्पष्ट करें कि निजी बिजली कंपनियों से नाजायज तौर पर जाते 2800 करोड़ वार्षिक में कितना हिस्सा कैप्टन अमरिन्दर सिंह, उनको (जाखड़) और कांग्रेस हाईकमान को जाता है।
    अमन अरोड़ा ने कहा कि यदि कैप्टन ने यह बिजली इकरारनामे रद्द न किए तो आम आदमी पार्टी पंजाब के सताए लोगों को साथ लेकर कांग्रेस सरकार की नाक में दम कर देंगे।
    इस मौके उनके साथ प्रिंसिपल बुद्धराम, बीबी सरबजीत कौर माणूंके, कुलतार सिंह संधवां, जै किशन रौड़ी, मनजीत सिंह बिलासपुर, अमरजीत सिंह सन्दोआ, मीत हेयर, रुपिन्दर कौर रूबी (सभी विधायक) प्रवक्ता नील गर्ग और स्टेट मीडिया इंचार्ज मनजीत सिंह सिद्धू मौजूद थे।
  
 

Have something to say? Post your comment
More National News
'हम सातों सीटें छोड़ देते, अगर कांग्रेस जीतने की स्तिथि में होती
'आप' द्वारा राज्य स्तरीय संगठनात्मक ढांचे का किया विस्तार
25 अप्रैल को आम आदमी पार्टी जारी करेगी दिल्ली के लिए अपना घोषणापत्र : गोपाल राय
दिल्ली में आम आदमी पार्टी के 6 लोकसभा प्रत्याशियों ने भरा अपना-अपना चुनावी नामांकन पत्र
2107 की तरह फिर से 'फ्रेंडली मैच' खेलने लगे कैप्टन-बादल -भगवंत मान
राज्यसभा सांसद संजय सिंह के नेतृत्व में दक्षिणी दिल्ली में राघव चड्ढा की नामांकन रैली
आम आदमी पार्टी ने हरियाणा के लिए अपने 3 लोकसभा प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की
गेहूं की खरीद के लिए नमी की शर्तों में ढील दे सरकार-हरपाल सिंह चीमा
पंजाबी यूनिवर्सिटी के टीचिंग स्टाफ को चुनाव ड्यूटी पर लगाना गलत-हरपाल सिंह चीमा
प्राकृतिक आपदा से बर्बाद हुई फसलों के लिए जिलों में मांग पत्र सौंपेगी आप- संधवां